Media: समाज मे मीडिया की भूमिका

Kumar Abhinav, Media, Role of Media in Society,

media

कुमार अभिनव

media: मीडिया सूचना, प्रकृति, विचारों का आधार है, और यह विश्वास का एक साझा आकार देता है। इस तरह, यह समाज की अगली पीढ़ी के लिए एक खाका है। उपदेश की शक्ति से मीडिया को दुनिया की सबसे प्रभावशाली ताकत बनाता है।

media
Kumar Abhinav

इसका उपयोग आश्चर्यजनक चीजें करने या भयानक बुराइयों को लाने के लिए किया जा सकता है। सरकार के चौथे स्तंभ के रूप में प्रस्तुत, मीडिया भी दोनों देशों के संबंधों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अगर किसी को किसी भी देश में सरकार के कार्यों पर सवाल उठाने का अधिकार है, चाहे वह विपक्ष हो या मीडिया। मीडिया क्या है? यह सरकार और लोगों के मुद्दों को सरकार तक पहुंचाने के लिए सरकार के विचारों को व्यक्त करने का एक माध्यम है।

समाज में मीडिया की जरूरत :-

मीडिया संस्कृति को प्रभावित करता है। यह समाज की सोच को आकार दे सकता है। मीडिया द्वारा दी गई जानकारी सरकार को सामाजिक मुद्दों को हल करने के लिए उचित कार्रवाई करने में मदद करती है।

एक लोकतांत्रिक समाज में जहां अधिकारियों का चुनाव किया जाता है और जनता की राय के आधार पर कानून बनाए जाते हैं, मीडिया (media) सार्वजनिक नीति पर सबसे महत्वपूर्ण प्रभावों में से एक है। सरकारें अपने मामलों को नियंत्रित करने के लिए मीडिया का उपयोग करती हैं। व्यवसाय अपने उत्पादों को बेचने के लिए मीडिया का उपयोग करते हैं।

प्रसिद्धि और भाग्य पाने के लिए नियमित लोग मीडिया उपयोग। मीडिया लोगों को सत्ताधारी सरकार की गलतियों, त्रुटियों और भ्रष्टाचार को समझने में मदद करता है। विपक्षी दलों को इतनी जानकारी नहीं मिल सकती है, लेकिन कभी-कभी विपक्षी दलों को भी मीडिया के माध्यम से जानकारी मिल रही है।

यह सभी साधनों के उपयोग के माध्यम से, गुलामी के उन्मूलन से लेकर हिटलर के उत्थान तक प्राप्त किया गया था। संक्षेप में, हेड़ा मीडिया (media) महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें किसी व्यक्ति को प्रभावित करने की क्षमता है। इसीलिए मीडिया लोकतंत्र को मजबूत करने में मदद करता है।

मीडिया का महत्व

जानकारी इक_ा करने के लिए मीडिया महत्वपूर्ण है। मीडिया महत्वपूर्ण है क्योंकि यह हमें कुछ अस्तित्व की भावना देता है। हमारे जीवन को आसान और सरल बनाने के लिए मीडिया का उपयोग किया जाना चाहिए। यह सब इस बात पर निर्भर करता है कि हम मीडिया द्वारा हमें दी गई जानकारी का उपयोग और प्रसंस्करण कैसे करते हैं।

जिसका अर्थ है कि यह हम ही हैं जो यह तय करते हैं कि मीडिया धन्य है या नहीं। मीडिया के महत्व को समझा जा सकता है क्योंकि इसने समाज में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।यह नहीं भूलना चाहिए कि मीडिया ने भी इस कोविद -19 महामारी में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

समाज में मुद्दों के खिलाफ आवाज उठाता है

मीडिया (media) बार-बार समाज में चल रही हिंसा, हत्याओं आदि पर ध्यान आकर्षित कर रहा है। उदाहरण के लिए, मुंबईमें हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत मामला में मीडिया ने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और यह बार-बार सरकार और सुरक्षा एजेंसियों का ध्यान आकर्षित कर रहा है। मीडिया सामाजिक मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ाने में भी रचनात्मक भूमिका निभाता है।

सामाजिक मुद्दों जैसे भेदभाव आदि के कई उदाहरण हैं, जो आजकल मीडिया द्वारा उठाए जा रहे हैं। जब मीडिया ऐसे मुद्दों को प्रस्तुत करता है और उसका खुलासा करता है, तो जनता जागरूक हो जाती है और समस्याओं को हल करने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाते हैं। मीडिया आम जनता की आवाज को संबंधित अधिकारियों तक पहुंचाने में भी मदद करता है।

विभिन्न घटनाओं के लिए सच्ची तस्वीरें और लाइव टेलीकास्ट प्रदान करता है

कोविद -19 महामारी के दौरान, कोई भीड़ नहीं है और कोई व्यक्तिगत बैठक नहीं है। मीडिया को अब इस महामारी के दौरान सरकार के कार्यों पर रिपोर्ट करने के लिए एकमात्र उपकरण के रूप में देखा जा सकता है। अब होने वाली कोई भी प्रत्यक्ष घटना कहीं भी देखी जा सकती है।

उदाहरण के लिए, एक प्रधानमंत्री द्वारा संबोधित राष्ट्र के नाम पर, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों या किसी अन्य घटना का लाइव कवरेज, मीडिया हमें लगभग सभी महत्वपूर्ण घटनाओं के लिए लाइव या रिकॉर्ड किए गए टेलीकास्ट प्रदान करके सही तस्वीर प्राप्त करने में मदद करता है।

राजनीति में मीडिया

विज्ञान और प्रौद्योगिकी के युग में, शायद ही कोई ऐसी जगह है जहाँ मीडिया नहीं पहुँचा है। राजनीति में आज मीडिया के महत्व को नकारा नहीं जा सकता है। समाचार अब एक स्थान से दूसरे स्थान पर एक सेकंड में फैलता है। फेसबुक और ट्विटर जैसे प्लेटफॉर्म पर सोशल मीडिया पर राजनीतिक अभियान चलते हैं।

कोविद -19 महामारी के दौरान भी, कई राजनेतऔ और प्रचारकों ने फेसबुक और ट्विटर के माध्यम से घर पर अपने विचार साझा किए हैं। किसी पार्टी या संबद्ध समूह के समर्थक अपने नेताओं के साथ अपने राजनीतिक पदों को साझा करके एकजुटता दिखाते हैं।यह दर्शाता है कि मीडिया राजनीति में कितना शक्तिशाली है, इसका उपयोग बहुत अच्छे कारणों से किया जा सकता है।

भले ही लोगों को गलत जानकारी दी जाए, इसका दुरुपयोग होता है। हम जिस समाज में रहते हैं, उसमें बहुत नुकसान और समस्याएं हो सकती हैं। सोशल मीडिया को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि कुछ स्रोत इसे सार्वजनिक करने से पहले उनकी खबरों को सत्यापित करते हैं। जिससे चीजें कम समस्याग्रस्त हो जाती हैं।

विभिन्न समाचार स्रोत मंच से खुद को साबित कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, ट्विटर और फेसबुक के पास एक निश्चित प्रमाणीकरण आइकन है, जो इस बात की पुष्टि करता है कि सूचना के स्रोत की नकल नहीं की गई है। यह सूचना के प्रवाह को कम अनिश्चित बनाता है।

निष्कर्ष

मीडिया (media) की मूल्यवान संपत्ति लोगों तक सही खबर पहुँचाना है। 21 वीं सदी में मीडिया का तेजी से विकास हुआ है। इंटरनेट की उम्र ने दुनिया को तूफान से घेर लिया है। सूचना आज दुनिया में एक विशाल समुद्र है, लेकिन हमें गलत सूचना में डूबने के लिए पर्याप्त सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

हमें वही साबित करना होगा जो हम मीडिया में देखते और सुनते हैं। मीडिया मनुष्यों के लिए एक आशीर्वाद है क्योंकि यह हमारे व्यक्तिगत जीवन और हमारे जीवन के कई अन्य क्षेत्रों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

(लेखक राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एन.आई.टी), रायपुर के पूर्व छात्र हैं। लेखक भारतके प्रख्यात हस्तियों द्वारा सम्मानित भी किया गया है। लेखकका लेख नेपालका राष्ट्रिय पत्रिकामा मे भी प्रकाशित होता है। यह लेखक के अपने विचार है।)

Loading...

BUY & SELL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *