Commonwealth Games 2022 : भारत का पहला पदक, संकेत ने जीता सिल्वर, PM ने दी बधाई

Commonwealth Games 2022 : भारत का पहला पदक, संकेत ने जीता सिल्वर, PM ने दी बधाई

Commonwealth Games 2022: India's first medal, Sanket won silver, PM congratulated

Commonwealth Games 2022

नई दिल्ली/नवप्रदेश। Commonwealth Games 2022 : कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय दल का पहला मेडल आ चुका है। भारत के लिए वेटलिफ्टर संकेत सरगर ने 55 किलो भार वर्ग में सिल्वर मेडल जीता है।

इसी के साथ संकेत इस साल कॉमनवेल्थ खेलों (Commonwealth Games 2022) में भारत की ओर से कोई भी मेडल जीतने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं। संकेत गोल्ड जीतने के भी बेहद करीब थे, लेकिन अंत में वो थोड़ा सा पिछड़ गए और स्वर्ण पदक मलेशिया के बिन कसदन मोहम्मद अनीक ने जीता।

PM ने दी बधाई

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने इस उपलब्धि पर भारत को बधाई दी और भविष्य के सभी प्रयासों के लिए शुभकामनाएं दीं। साथ ही उन्होंने संकेत सरगर के असाधारण प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि अपना प्रतिष्ठित रजत पदक हासिल करना भारत के लिए राष्ट्रमंडल खेलों में शानदार शुरुआत है।

संकेत ने खोला भारत का खाता

संकेत महादेव सरगर ने क्लीन एंड जर्क में 135 किग्रा सफलतापूर्वक उठाया। इसी के साथ उनका कुल भार 248 किग्रा रहा। उन्होंने अपने दूसरे क्लीन एंड जर्क प्रयास में खुद को चोटिल भी कर लिया था। उन्होंने अपने तीसरे प्रयास में 139 किग्रा उठाने की कोशिश की, लेकिन वो असफल रहे। उनकी कैटेगरी का गोल्ड मलेशिया के बिन कसदन मोहम्मद अनीक ने जीता। वहीं श्रीलंका के दिलंका इसुरु कुमारा योदागे ने कांस्य पदक जीता।

सिर्फ एक किलो से रह गए पीछे

महाराष्ट्र के सांगली जिले के 21 वर्ष के सागर स्वर्ण पदक की ओर बढ रहे थे लेकिन क्लीन एंड जर्क में दो प्रयास नाकाम रहने से वह एक किलो से चूक गए। उन्होंने 248 किलो (113 और 135 किलो) वजन उठाकर रजत पदक जीता। मलेशिया के मोहम्मद अनीक ने कुल 249 किलो वजन उठाकर क्लीन एंड जर्क में खेलों का नया रिकॉर्ड बनाकर स्वर्ण पदक हासिल किया। उन्होंने स्नैच में 107 और क्लीन एंड जर्क में 142 किलो वजन उठाया।  

स्नैच में चल रहे थे सबसे आगे

सागर स्नैच में शीर्ष पर (Commonwealth Games 2022) रहे थे लेकिन क्लीन एंड जर्क में एक ही प्रयास कामयाब रहा जिसमें उन्होंने 135 किलो वजन उठाया। इसके बाद चोट के कारण वह दूसरे और तीसरे प्रयास में 139 किलो नहीं उठा सके। पिछली बार भारत ने भारोत्तोलन में पांच स्वर्ण समेत 9 पदक जीते थे। शाम को पी गुरूराजा (61 किलो), ओलंपिक रजत पदक विजेता मीराबाई चानू (49 किलो) और एस बिंदियारानी देवी (55 किलो) भी पदक की दौड़ में होंगे।

JOIN OUR WHATS APP GROUP

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update