कोरोना को लेकर बनाया भय व आतंक का माहौल, इससे बेहतर ढंग से निपटा जा सकता था : डॉ. महंत

vidhansabha speaker dr charandas mahant, patrakar dirgh salahkar samiti, meeting, corona, navpradesh,

vidhansabha speaker dr charandas mahant addressing meeting of patrakar dirgha salahkar samiti

विधानसभा की पत्रकार दीर्घा की सलाहकार समिति की बैठक को किया संबोधित

रायपुर/नवप्रदेश। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत (vidhansabha speaker dr charandas mahant) ने बुधवार को विधानसभा की पत्रकार दीर्घा की सलाहकार समिति (patrakar dirgha salahkar samiti) की बैठक (meeting) को संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि मीडिया लोकतंत्र का सबसे मजबूत स्तंभ है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत (vidhansabha speaker dr charandas mahant) ने आगे कहा कि कोरोना (corona) को लेकर पिछले पांच-छह माह में भय और आतंक का माहौल बनाया गया, जबकि इससे बेहतर ढंग से निपटा जा सकता था।

समिति (patrkar dirgha salahkar samiti baithak) की बैठक (meeting) में डॉ. महंत ने कहा कि हमने विधानसभा का सत्र बुलाया है। चूंकि विधानसभा जनप्रतिनिधियों द्वारा जनता की आवाज को उठाने का मंच है, इसलिए सत्र को रोका नहीं जा सकता।

उन्होंने कहा कि सभी सदस्यों का कोरोना (corona) टेस्ट कराया जा रहा है। सदन में सदस्यों के लिए बैठक व्यवस्था भी ऐसी की गई है कि दो सदस्यों के बीच कांच का पार्टेशन बनाया गया है। विधानसभा परिसर में आम नागरिकों को प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है। विधानसभा अध्यक्ष ने यह भी कहा कि कोरोना संक्रमण आगे बढ़ भी गया तो सत्र आहूत किया जाएगा। बैठक में विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी तथा विधानसभा के प्रमख सचिव चंद्रशेखर गंगराड़े भी मौजूद थे।

संक्रमण से बचाव के लिए सदन में हो रही ये व्यवस्था

  • बैठक में मीडिया प्रतिनिधियों को बताया गया कि सोशल डिस्टंसिंग सुनिश्चित करने के लिए सदन में उपलब्ध बैठक क्षमता में वृद्धि करते हुए 11 अतिरिक्त कुर्सियां लगाई गई हैं। और प्रत्येक सदस्य के बीच ग्लास का पार्टिशन किया जा रहा है।
  • मंत्री, संसदीय सचिव व सदस्यों तथा शास के जिन अधिकारियों को सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराए गए हैं, उन सुरक्षाकर्मियों का भी विधानसभा परिसर में प्रवेश वर्जित होगा।
  • विधानसभा परिसर में आम नागरिकों का प्रवेश वर्जित होगा।
  • विधानसभा सचिवालय के केवल वे ही अधिकारी/कर्मचारी सत्रावधि में कार्यालय आएंगे, जिनका सत्र से संबंधित अथवा सचिवालय के प्रतिदिन के कार्य से कार्यालयय आना आवश्यक है।
  • प्रिंट मीडिया को पत्रकार दीर्घा का प्रवेश पत्र नहीं देने की बात कही गई है, लेकिन विधानसभा की कार्यवाही को मीडिया के माध्यम से जनता तक पहुंचाने के लिए मीडिया के प्रतिनिधियों से सुझाव मंगाए गए हैं।
  • हर दिन सभा की बैठक प्रारंभ होने के पूर्व प्रतिदिन फ्यूमिगेशन व सेनिटाइजेशन किया जाएगा।
  • बैठक प्रारंभ होने से पूर्व प्रतिदिन सभी सदस्यों का टेंप्रेचर एवं ऑक्सीजन लेवल मापा जाएगा।
  • मुख्य सभा भवन एवं मुख्य समिति कक्ष में एंटी बैक्टेरियल सरफेस कोटिंग कराई जा रही है, ताकि संक्रमण की आशंका न रहे।
  • केंद्र व राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी समस्त निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराया जाएगा।
  • इस बार विधानसभा परिसर में तैनात किए जाने वाले पुलिस बल की रुकने की व्यवस्था विधानसभा परिसर में ही की गई है, ताकि वे अन्य लोगों के संपर्क में न आए।

शहीद जवानों के साथ ही इन दिवंगत नेताओं को दी जाएगी श्रद्धांजलि

  • अजीत प्रमोद कुमार जोगी, प्रथम सीएम, छग शासन एवं सदस्य छग विधानसभा
  • डीपी धृतलहरे, पूर्व मंत्री
  • बलिहार सिंह, पूर्व मंत्री अविभाजित मप्र
  • रजनीगंधा देवी, पूर्व सांसद
  • भारत- चीन सीमा पर हुई हिंसक झड़प में शहीद जवान

579 प्रश्रों की सूचना, अनुपूरक बजट भी होगा पेश

इस सत्र के लिए कुल 579 प्रश्रों की सूचनाएं प्राप्त हुई हैं। इनमें 304 तारांकित व 275 अतारांकित प्रश्र हैं। अभी तक 4 स्थगन, 98 ध्यानाकर्षण, 3 अशासकीय संकल्प एवं 7 शून्यकाल की सूचनाएं प्राप्त हुई हैं। सत्र में अनुपूरक बजट भी पेश किया जाएगा। किसी विधेयक की सूचना प्राप्त नहीं हुई है।

Loading...

BUY & SELL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *