Tokyo Olympics Countdown : भारतीय खिलाडियों ने शुरू किया अभ्यास,जीत दर्ज करने का है जूनून…

Tokyo Olympics Countdown: Indian players start practice, have a passion to win…

Tokyo Olympics Countdown

नई दिल्ली। Tokyo Olympics Countdown : टोक्यो ओलंपिक के आगाज में महज चार दिन ही शेष रह गए हैं। टोक्यो में हिस्सा लेने भारत के कई खिलाडी पहुँच भी चुके हैं और कई खिलाडी पहुँचने वाले हैं। जो खिलाडी टोक्यो पहुंचे हैं उन्होंने अपना अभ्यास भी शुरू कर दिया है,ताकि अपने-अपने खेल में जीत का परचम लहरा सके।

जिमनास्ट प्रणती में दिखा जीत का जज्बा

जिमनास्ट प्रणती नायक ने ओलंपिक (Tokyo Olympics Countdown) को देखते हुए टोक्यो में अभ्यास शुरू कर दिया है। भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने ट्विटर पर तस्वीर पोस्ट की जिसमें प्रणती ट्रेनिंग करती दिखाई दे रही हैं। दूसरे फोटो में वह अपने कोच लखन मनोहर शर्मा के साथ खड़ी हैं।प्रणती ने ओलंपिक में आर्टिस्टिक जिमनास्टिक इवेंट में प्रवेश किया है। 26 वर्षीय एथलीट ने मई में एशियन कोटा के जरिए दूसरे रिजर्व के तौर पर टोक्यो का टिकट प्राप्त किया था।

कोरोना के कारण चीन में 29 मई से एक जून तक होने वाले नौंवें सीनियर एशियाई चैंपियनशिप के रद्द होने के बाद यह डेवलप्मेंट हुआ।टोक्यो रवाना होने से पहले प्रणती ने नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में अभ्यास किया था।ओलंपिक में महिला आर्टिस्टिक जिमनास्टिक इवेंट 25 जुलाई से तीन अगस्त तक होगा।

निडर होकर मैदान में उतरूंगा : मनप्रीत

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा है कि सीनियरों ने उनको निडर होकर खेलने का मनोबल दिया है। ओलंपिक (Tokyo Olympics Countdown) में हिस्सा लेने के लिए टोक्यो पहुंचे मनप्रीत ने कहा, “जब मैं पहली बार टीम इंडिया में आया तो इगनेसी तिर्की, तुषार खांडकेर, शिवेंद्र सिंह, सरदार सिंह, गुरबज सिंह, सरवनजीत सिंह और संदीप सिंह जैसे खिलाड़ी थे।” उन्होंने कहा, “इन सभी खिलाड़ियों ने बिना डर के खेलने का मनोबल मुझे दिया। अगर शुरूआत में मुझे कोई गलती होती तो भी ये लोग मेरा समर्थन करते और प्रेरित करते थे। मेरे जैसे युवाओं के लिए उस समय राष्ट्रीय टीम में अच्छा माहौल था।”

अपनी कप्तानी को लेकर मनप्रीत ने कहा, “मैंने अपने से पहले के अनुभवी खिलाड़ियों और टीम के कप्तानों से काफी कुछ सीखा है। इस टीम में हमारी संस्कृति है जहां सीनियर और जूनियर खिलाड़ियों में कोई अंतर नहीं है।”

मनप्रीत 2014 एशिया खेल, 2011 और 2018 एशिया चैंपियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट में विजेता टीम तथा 2015 और 2017 एफआईएच वर्ल्ड लीग में कांस्य पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा थे। मनप्रीत को पहली बार 2017 में सीनियर टीम का हिस्सा बनाया गया और उनके नेतृत्व में टीम ने एफआईएच वर्ल्ड रैंकिंग में ऊंचा स्थान प्राप्त किया।

ओलंपिक में भारत के पदक जीतने पर खुशी मिलेगी : शाइनी विल्सन

ओलंपिक (Tokyo Olympics Countdown) में चार बार शामिल हो चुकीं और ओलंपिक में 800 मीटर के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली भारत की पहली महिला एथलीट शाइनी विल्सन ने कहा कि अगर भारत टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने में सफल रहता है तो उन्हें काफी खुशी होगी। विल्सन ने कहा है कि टोक्यो में भारतीय एथलेटिक्स टीम के पदक जीतने की उम्मीद ज्यादा है। उन्होंने कहा कि वह टीम को अपनी शुभकामनाएं देती हैं।

विल्सन ने कहा, “मुझे पूरी उम्मीद है, विशेषकर भालाफेंक और ऊंची कूद में भारत के पदक जीतने की काफी उम्मीद है। हमें खुशी होगी अगर भारत पदक जीतने में सफल रहा।”उन्होंने कहा, “अगर आप मुझसे पूछें कि किससे मुझे ज्यादा खुशी मिली तो मैं कहूंती कि जो हमें पीटी ऊषा और एमडी वलसाम्मा ने समर्थन दिया उससे मैं बहुत खुश हुई।” विल्सन ने कहा, “हमने यह दिखाया कि अगर समर्थन मिले तो केरल की कोई भी महिला एथलेटिक्स में ऊंचाई हासिल कर सकती है। हमें यह देखकर खुशी होती है कि केरल की कई युवा लड़कियां एथलेटिक्स में शामिल हो रही हैं।”

विल्सन 14 वर्षो तक 800 मीटर में राष्ट्रीय चैंपियन रही हैं और उन्होंने 75 से ज्यादा बार अंतरराष्ट्री टूर्नामेंटों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। उन्हें 1985 में अर्जुन अवॉर्ड तथा 1998 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *