छत्तीसगढ़ में भी अब दोहरी लड़ाई, क्योंकि शुरू हो चुकी... अगले तीन दिन...

छत्तीसगढ़ में भी अब दोहरी लड़ाई, क्योंकि शुरू हो चुकी… अगले तीन दिन…

navtapa, chhattisgarh, navtapa, heatwave, navpradesh,

रायपुर/नवप्रदेश। नवतपा (navtapa) सोमवार 25 मई से शुरू हो रहा है। इस साल भी यही होने जा रहा है। राज्य (chhattisgarh) के कुछ संभागों में नवतपा (navtapa) शुरू होने से पहले ही यानी रविवार को लू की स्थिति बन गई है और मौसम विभाग की मानें तो अगले तीन दिन तक लू प्रदेश में लू (heatwave) चल सकती है।

ऐसे में लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव की जद्दोजहद के बीच अब लू से बचने के भी उपाय करने होंगे। यानी दोहरी लड़ाई लडऩी होगी।

रायपुर मौसम केंद्र के वैज्ञानिक एचपी चंद्रा के मुताबिक, अगले तीन दिन तक प्रदेश (chhattisgarh) के रायपुर, दुर्ग व बिलासपुर संभाग के कुछ-कुछ स्थानों पर लू (heatwave) चल सकती है।

उन्होंने बताया कि रविवार को शनिवार को रायपुर का अधिकतम तापमान 44 डिग्री क्रास कर 44.5 डिग्री पहुंच गया जबकि रविवार को इसमें 0.5 डिग्री का इजाफा हो गया। रविवार को रायपुर का अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। रविवार से प्रदेश में लू की स्थिति भी बनने लगी है, जो अगले तीन दिन तक जारी रह सकती है।

ऐसे करें बचाव

  • 11 बजे के बाद घर से बेहद जरूरी होने पर ही बाहर निकले।
  • चेहरे व शरीर को पूरी तरह ढंककर ही बाहर निकले।
  • ज्यादा देर तक धूप में खड़े न रहें।
  • पानी ज्यादा से ज्यादा पीयें।
  • जल्दी पचने वाला हल्का डाइट ही लें।
  • हां, और कोरोना से बचाव के लिए मास्क तो पहने ही।

दोहरी मार इसलिए

हर वर्ष गर्मी के सीजन मेंं लोग दोपहर को बाहर निकलने पर राहत पाने के लिए नींबू शिकंजी, आम पना, लस्सी आदि पीते थे। आम लोगों को ये पेय पदार्थ सड़क किनारे आसानी से उपलब्ध हो जाया करते थे। रेहड़ी वालों के पास से इन्हें खरीदने पर पैसा भी ज्यादा नहीं लगता था। लेकिन इस बार ऐसा नहीं है। एमआईसी सदस्य कल्लू सतनाम सिंह पनाग ने नवप्रदेश से बातचीत में कहा कि उनकी जानकारी में रेहड़ी वाले सिर्फ फल व सब्जी ही बेच सकते हैं, जिन्हें अत्यावश्यक सेवा में शामिल किया गया है। रेहड़ी वालों को अन्य खाद्य या पेय पदार्थ बेचने की अनुमति फिलहाल नहीं है। जिला प्रशासन के सूत्रों की भी मानें तो ऐसे रेहड़ी वालों को पेय व खाद्य पदार्थ बेचने देने की अनुमति फिलहाल नहीं है।

एक कारण यह भी

कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर लॉकडाउन के बीच बाजारों को दिन में ही कुछ घंटे के लिए खोले जाने की अनुमति है, ऐसे में यदि खरीदारी करनी है तो लोगों को दिन में ही घर से बाहर निकलना होगा। शाम को बाजार बंद हो जाने से खरीदारी नहीं कर सकते।

रेहड़ी पटरी वालों के विषय में कलेक्टर साहब से बात करके ही कुछ बता पाऊंगा।
-एजाज ढेबर, मेयर, रायपुर (नवप्रदेश के इस सवाल पर कि क्या गर्मी से राहत संबंधी पेय बेचने वाले रेहड़ी वालों को दुकान लगाने की अनुमति है? और यदि नहीं है तो क्या अनुमति दी जाएगी?)

JOIN OUR WHATS APP GROUP

डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed