Lata Mangeshkar Birthday : इसलिए नहीं की स्वर कोकिला ने शादी, सिर्फ एक दिन…, जानें जीवन से जुड़ीं खास बातें

lata mangeskar birth day, 91st birthday of lata mangeshkar, facts related to lata didi, navpradesh,

lata mangeshkar birthday

Lata Mangeshkar Birthday पर खास

मुंबई। स्वर कोकिला लता मंगेश्कर (lata mangeskar birthday) का आज 91वां जन्मदिन (91st birthday of lata mangeshkar)  है। पिछले सात दशक से लता मंगेश्कर lata mangeshkar birthday) ने अपनी मधुर आवाज से लोगों को दिलों पर राज किया  है। लेकिन उनके जीवन से जुड़े कुछ ऐसे भी तथ्य (facts related to lata didi) हैं जिनके बारे में कम ही लोग जानते हैं। इनमें एक तथ्य उनके शादी न करने से भी जुड़ा है। आज उनके 91वें जन्मदिन (91st birthday of lata mangeshkar) पर आइए जानते हैं लता दीदी के जीवन से जुड़े उन तथ्यों (facts related to lata didi) के बारे में।

विवाह नहीं करने को लेकर ये कहा था लता दीदी ने

लता मंगेश्कर (lata mangeshkar birthday) का जन्म मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में एक मध्यम वर्गीय मराठी परिवार में हुआ। पिता के निधन के बाद घर की सारी जिम्मेदारियां लता मंगेशकर पर आ गईं थीं। एक साक्षात्कार में लता मंगेशकर ने कहा था- ‘घर के सभी सदस्यों की जिम्मेदारी मुझ पर थी। ऐसे में कई बार शादी का ख्याल आता भी तो उस पर अमल नहीं कर सकती थी। बेहद कम उम्र में ही मैं काम करने लगी थी। सोचा कि पहले सभी छोटे भाई बहनों को सैटल कर दूं। फिर बहन की शादी हो गई। बच्चे हो गए। तो उन्हें संभालने की जिम्मेदारी आ गई। इस तरह से वक्त निकलता चला गया और मैंने शादी नहीं की।’ स्वर कोकिला लता दीदी को अपने करियर में मान-सम्मान बहुत मिला। उन्हें भारत रत्न और दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।

1942 में गाया पहला गाना

लता दीदी ने साल 1942 में ‘किटी हसाल’ के लिए अपना पहला गाना गाया, लेकिन उनके पिता दीनानाथ मंगेश्कर को लता का फिल्मों के लिए गाना पसंद नहीं आया और उन्होंने उस फिल्म से लता के गाए गीत को हटवा दिया था। हालांकि, इसी साल लता को ‘पहली मंगलगौर’ में अभिनय करने का मौका मिला। लता की पहली कमाई 25 रुपये थी जो उन्हें एक स्टेज पर गाने से मिली थी। जब वह 13 साल की थीं तभी दिल का दौरा पड़ने से उनके पिता की मौत हो गई थी। लता मंगेशकर ने 36 भाषाओं में 50 हजार से ज्यादा गीत गाए हैं।

किशोर कुमार  से ट्रेन में हुई थी अनबन

किशोर कुमार के साथ लता मंगेश्कर (lata mangeshkar birthday) की अनबन का वाकया काफी दिलचस्प है। इस घटना के बारे में बताते हुए लता ने बताया था कि ‘बॉम्बे टॉकीज’ की फिल्म ‘जिद्दी’ के गाने की रिकॉर्डिंग पर जाने के लिए वह लोकल ट्रेन से सफर कर रही थीं। उस समय उन्होंने देखा कि एक शख्स भी उसी ट्रेन में सफर कर रहा है। स्टूडियो जाने के लिए जब उन्होंने तांगा लिया तो देखा कि वह शख्स भी तांगा लेकर उसी ओर जा रहा है। जब वह बॉम्बे टॉकीज पहुंचीं तो उन्होंने देखा कि वह शख्स भी बॉम्बे टॉकीज पहुंचा हुआ है। बाद में उन्हें पता चला कि वह शख्स किशोर कुमार हैं। बाद में ‘जिद्धी’ में लता ने किशोर कुमार के साथ ‘ये कौन आया रे करके सोलह सिंगार’ गाना गाया था।

एक दिन में 12 मिर्च तक खा लेती हैं दीदी

कम लोग ही जानते होंगे कि लता मंगेश्कर (lat mangeshkar birthday) का असली नाम हेमा हरिदकर है। बता दें कि उन्होंने अपनी पहली कार 8000 रुपये में खरीदी थी। स्पाइसी खाने की शौकीन लता एक दिन में तकरीबन 12 मिर्चे तक खा लेती हैं। उनका मानना है कि मिर्च खाने से गले की मिठास बढ़ती है। लता को किक्रेट देखने का भी काफी शौक रहा है। लार्डस में उनकी एक सीट हमेशा रिजर्व रहती है।

सिर्फ एक दिन के लिए गईं स्कूल

लता मंगेश्कर महज एक दिन के लिए स्कूल गई थीं। इसकी वजह यह रही कि जब वह पहले दिन अपनी छोटी बहन आशा भोंसले को स्कूल लेकर गई तो टीचर ने आशा को यह कहकर स्कूल से निकाल दिया कि उन्हें भी स्कूल की फीस देनी होगी। इस वाकए के बाद लता ने निश्चय किया कि वह कभी स्कूल नहीं जाएंगी। इसके बाद उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा घर में ही रहकर अपने नौकर से प्राप्त की। हालांकि, बाद में उन्हें न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी सहित छह विश्वविधालयों से मानक उपाधि से नवाजा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *