Indian Constitution : ये कैसी अभिव्यक्ति की आजादी - Navpradesh

Indian Constitution : ये कैसी अभिव्यक्ति की आजादी

Indian Constitution: What kind of freedom of expression is this

Indian Constitution

Indian Constitution : भारतीय संविधान में लोगों को अभिव्यक्ति की आजादी मुहैया कराई है लेकिन देखा जा रहा है कि अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर अश्लीलता परोसने से भी बॉलीवुड संकोच नहीं कर रहा है। बॉलीवुड की फिल्में पहले ही हिंसा और अश्लीलता परोसती रही हैेलेकिन अब हिन्दी फिल्मों के नायक और नायिकाएं अभिव्यक्ति के आजादी के नाम पर नंगा नाच करने लगे है।

फिल्मी हिरोईनों के कपड़े लगातार घटते जा रहे है। वहीं अब एक चर्चित अभिनेता रणवीर सिंह ने तो न्यूड फोटो शेसन कराकर बेशरमी की सारी हदें ही पार कर दी है। यह वहीं रणवीर सिंह है जो अजीबोगरीब कपड़े पहनने के कारण चर्चा में बने रहते थे और अब उन्होने सस्ती लोकप्रीयता हासिल करने के लिए न्यूड फोटो शेसन करा डाला और ऐसी तमाम वाहियात तस्वीरे सोशल मीडिया (Indian Constitution) पर वायरल कर दी।

इसे लेकर अब बवाल खड़ा हो गया है। जहां लोग रणवीर सिंह की इस घटिया हरकत की कड़ी आलोचना कर रहे है वहीं उनकी पत्नी दिपीका पादुकोण और फिल्म अभिनेत्री आलिया भट्ट सहिंत कई फिल्म कलाकारों ने उनकी ऐसी वाहियात फोटो की जमकर तारीफ की है। बहरहाल अब कुछ संगठनों ने रणवीर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और उनके विरूद्ध थानों में एफआईआर दर्ज कराई गई है। यदि उसपर पुलिस कार्यवाही करती है और मामला कोर्ट में पहुंचता है तो रणवीर सिंह को पांच साल तक की सजा हो सकती है। देखना होगा कि अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर नंगाई करने वाले इस अभिनेता के खिलाफ कानून क्या कार्यवाही करता है।

रही बात ऐसे कलाकार को सबक सिखाने की तो यह काम फिल्मों के दर्र्शक ही बेहतर ढंग से कर सकते है। रणवीर सिंह जैसे कलाकारों की फिल्मों का बॉयकाट किया जाए तभी ऐसे लोगों का दिमाग ठिकाने लगेगा। बॉलीवुड में हाल के कुछ वर्षो में जिस तरह से हिंसा और अश्लीलता को बढ़ावा दिया है उसका दुष्प्रभाव समाज पर पडऩे लगा है।

यही वजह है कि अब ऐसे फिल्मकारों का विरोध होने लगा है और उनकी फिल्मों के बहिष्कार के लिए सोशल मीडिया पर अभियान चलने लगा है जिसके चलते ऐसे कई नामीगिरामी कलाकारों की फिल्में फ्लॉप भी होने लगी है। रणवीर के खिलाफ भी सोशल मीडिया पर उनकी फिल्मों के बॉयकाट का अभियान चल पड़ा है जो सही कदम है। वास्तव में ऐसे लोगों का बहिष्कार (Indian Constitution) किया जाना चाहिए जो अपनी ओछी हरकतों से समाज में गंदगी फैलाने का काम कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 LIVE Update