Dr. Mansukh Mandaviya : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने आयुर्विज्ञान में राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड (एनबीईएमएस) की ओर से आयोजित साइक्लोथॉन में लिया हिस्सा - Navpradesh

Dr. Mansukh Mandaviya : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने आयुर्विज्ञान में राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड (एनबीईएमएस) की ओर से आयोजित साइक्लोथॉन में लिया हिस्सा

नई दिल्ली, नवप्रदेश। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने आज नई दिल्ली में आयुर्विज्ञान में राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड (एनबीईएमएस) की ओर से आयोजित साइक्लोथॉन में हिस्सा लिया।

इसकी विषयवस्तु “पृथ्वी बचाओ, जीवन बचाओ” थी। यह साइकिल रैली निर्माण भवन से शुरू हुई और कर्तव्य पथ से गुजरी। साइकिलिंग करने वाले कई उत्साही लोगों ने

सर्दी की सुबह आयोजित इस साइक्लोथॉन में हिस्सा लिया। इसका उद्देश्य शारीरिक गतिविधियों के माध्यम से लोगों में स्वास्थ्य संबंधी गतिविधियों को प्रोत्साहित करना था।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने इस संबंध में एक ट्वीट किया है। इसमें एक 5 वर्षीय बच्ची को साइकिल चलाते हुए देखा जा सकता है।

इस साइक्लोथॉन का नेतृत्व डॉ. मनसुख मांडविया ने किया। साइकिल चलाने को लेकर उनके उत्साह के लिए उन्हें “ग्रीन एमपी (सांसद)” के रूप में भी जाना जाता है। केंद्रीय मंत्री ने लोगों से स्वास्थ्य और फिटनेस को बढ़ावा देने के लिए साइकिल का उपयोग करने का अनुरोध किया।

उन्होंने आज इस ठंड की सुबह आयोजित जागरूकता रैली में शामिल होने वाले सभी प्रतिभागियों के उत्साह की सराहना की। उन्होंने कहा, “चूंकि साइकिल प्रदूषण रहित वाहन है, इसलिए यह पर्यावरण के मुद्दों के समाधान में काफी हद तक सहायता कर सकती है। कई विकसित देश बड़े पैमाने पर साइकिल का इस्तेमाल कर रहे हैं।

दूसरी ओर, भारत में इसे गरीबों की गाड़ी के रूप में जाना जाता है, इसे अमीरों की गाड़ी में बदलना हमारा उद्देश्य होना चाहिए। इसे ‘फैशन’ से ‘जुनून’ बनाने की जरूरत है। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया, “आइए, हम हरित पृथ्वी और स्वस्थ पृथ्वी के लिए साइकिल को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं।”

केंद्रीय मंत्री ने साइकिल चलाने और शारीरिक गतिविधियों के महत्व को रेखांकित किया। डॉ. मांडविया ने कहा, “हमें शारीरिक और मानसिक लाभों के लिए

अपने जीवन में व्यायाम को शामिल करने की जरूरत है। शारीरिक गतिविधियों को कई गैर-संक्रमणकारी और जीवनशैली से संबंधित रोगों से बचाव के लिए जाना जाता है।”

उन्होंने एनबीईएमएस को उनके “गो-ग्रीन” अभियान और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और पर्यावरण संरक्षण की दिशा में सक्रिय भूमिका के लिए बधाई दी।

इस कार्यक्रम में डॉ. मांडविया के साथ एनबीईएमएस के अध्यक्ष डॉ. अभिजात सेठ और इसके अन्य शासी निकाय के सदस्य उपस्थित थे। वहीं, साइक्लोथॉन में एनबीईएमएस के अधिकारियों और कर्मचारियों ने भी हिस्सा लिया।


JOIN OUR WHATS APP GROUP

डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 LIVE Update