CG Vidhansabha Winter Session : शिक्षकों की रुकी भर्ती प्रक्रिया पर लाल हुआ विपक्ष, किया वॉकआउट, मंत्री टेकाम बोले- भर्ती...

CG Vidhansabha Winter Session : शिक्षकों की रुकी भर्ती प्रक्रिया पर लाल हुआ विपक्ष, किया वॉकआउट, मंत्री टेकाम बोले- भर्ती…

On the first day of the winter session of the Vidhan Sabha, the tributes paid to the departed

CG Assembly Session

CG Vidhansabha Winter Session : शिक्षामंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम के जवाब से नाराज असंतुष्ट विपक्ष नेे सरकार पर भर्ती रोकने का आरोप लगाते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया

रायपुर/नवप्रदेश। CG Vidhansabha Winter Session : सोमवार को विधानसभा में विपक्ष ने विद्या मितान, अतिथि शिक्षकों के मानदेय, शिक्षकों की नियुक्ति, पढ़ई तुंहर द्वार व बेराजगारी के मुद्दे पर जमकर घेरा। प्रश्नकाल में अतिथि शिक्षकों के मानदेय तथा शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर शिक्षामंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम के जवाब से नाराज असंतुष्ट विपक्ष नेे सरकार पर भर्ती रोकने का आरोप लगाते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया।

जिस पर विपक्ष ने सरकार पर भर्ती रोकने का आरोप लगाते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया। हंगाम इतना बढ़ा कि कार्यवाही एक बार 5 मिनट तक के लिए स्थगित भी करनी पड़ी। प्रश्रकाल में भाजपा के अजय चंद्राकर ने विधानसभा (cg vidhansabha winter session) में विद्यामितान तथा अतिथि शिक्षकों के मुद्दे पर प्रश्न किया। जवाब में स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि अभी कोई विद्या मितान नहीं है। उन्होंने कहा कि विद्या मितानों की नियुक्ति तक अतिथि शिक्षकों की व्यवस्था की गई है।

चंद्राकर के इस सवाल पर कि कितने अतिथि शिक्षकों नियुक्ति की गई है ओर कितने दिनों से उन्हें वेतन नहीं मिला है। टेकाम ने कहा कि अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति शासन स्तर पर नहीं की गई है। शाला विकास तथा शाला प्रबंधन समितियों के माध्यम से इनकी नियुक्ति की जानी थी और मानदेय भी इन समितियों द्वारा भी तय किया जाना था। वर्तमान में कुल 2220 अतिथि शिक्षक पदस्थ हैं। लेकिन लॉकडाउन से स्कूल बंद होने के कारण अभी उन्हें कोई सुविधा नहीं दी जा रही है।

विलंब हुआ है पर भर्ती होकर रहेगी : टेकाम

भाजपा के चंद्राकर केे सवाल के जवाब में टेकाम ने बताया कि 14580 नियमित शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया जारी है। इनमें व्याख्याता के 3177, शिक्षकों के 5441, सहायक शिक्षकों के 4000, शिक्षक अंग्रेजी माध्यम 456, सहायक शिक्षक 306 तथा सहायक शिक्षक विज्ञान के 1200 पद हैं। वहीं शिवरतन शर्मा के सवाल के जवाब में कहा कि इन पदों के लिए 9 मार्च 2019 को विज्ञापन जारी किया गया। अक्टूबर 2019 में इसके लिए आयोजित परीक्षा के परिणाम जारी किए गए। लेकिन बीच में कोविड 19 आगया। अब सत्यापन की प्रक्रिया जारी है। प्रक्रिया धीमी जरूर हुई है, लेकिन भर्ती होकर रहेगी।

ऐसे हुआ विपक्ष का बहिर्गमन :

चंद्राकर व शिवरतन शर्मा के बाद नेता प्रतिपक्ष ने शिक्षकों की नियुक्ति की तारीख जाननी चाही। इसके जवाब में मंत्री टेकाम ने जो जवाब दिया। उस पर विपक्ष भड़क गया और उचित उत्तर नहीं दिए जाने की बात कही। और हंगामा करते हुए वॉक आउट कर दिया।

पढ़ई तुंहर द्वार पर भी घेरा विपक्ष ने

विपक्ष की ओर से राज्य में 44 हजार नियुक्तियों के विज्ञापन जारी होने के बावजूद नियुक्तियां न होने से उत्पन्न बेरोजगारी के मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव लाया गया, लेकिन सभापति ने इसे अस्वीकार कर दिया। विपक्ष ने पढ़ई तुंहर द्वार के मामले पर भी सरकार को घेरा। सरकार की ओर से दिए गए जवाब में बताया गया कि इसके जरिए सिर्फ 5 फीसदी बच्चों की पढ़ाई का रिकॉर्ड है। जिससे विपक्ष ने सरकार की इस योजना पर भी सवाल उठाए।



JOIN OUR WHATS APP GROUP

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 LIVE Update