CG Alcohol home delivery: जाम छलकाने एक लाख लोगों ने किया एप डाउनलोड, पहले ही दिन सर्वर फेल, मदिराप्रेमियों में….

CG Alcohol home delivery, A million people downloaded the app to spill the jam, the server failed on the very first day, in the madcap lovers,

CG Alcohol home delivery


CG Alcohol home delivery: रायपुर सहित प्रदेश के सभी जिलों में मदिराप्रेमियों में दिखता रहा उत्साह

रायपुर/नवप्रदेश। CG Alcohol home delivery: छत्तीसगढ़ में सोमवार से शराब की ऑनलाइन बुकिंग और होम डिलीवरी शुरू हो गई है। शराब की दुकानें ग्राहकों के लिए बंद रखी गई हैं, सिर्फ एप के जरिए ही बुकिंग लेकर डिलीवरी के आदेश हैं। सोमवार सुबह 9 बजे से लोगों ने सरकार की तरफ से जारी सीएसएमसीएल ऑनलाइन एप पर शराब के लिए ऑर्डर करना शुरू कर दिया। करीब 2 घंटे के भीतर इतने ऑर्डर आए कि एप ही क्रैश हो गया।

एप का सर्वर (CG Alcohol home delivery) अचानक हुए अधिक संख्या में डाउनलोड और ऑर्डर बुकिंग को एक साथ झेल न सका। हालांकि विभाग की टेक्निकल टीम ने खामियों को दूर करने का दावा किया है, लेकिन दोपहर 1 बजे तक लोग ऑर्डर करने के लिए जूझते रहे। एक अनुमान के मुताबिक सिर्फ रायपुर शहर में सुबह 2 घंटे के भीतर 50 हजार से ज्यादा ऑर्डर प्लेस हुए। सोमवार दोपहर 1 बजे तक शराब के एप का हाल यही रहा।

हालाकि दोपहर तक वेबसाइट की तकनीकी खामियों को दूर कर लिया गया। उसके बाद ऑर्डर का काम सुचारू रूप से चलता रहा। शाम 5 बजे तक रायपुर में करीब 500 लोगों को होम डिलवरी के माध्यम से शराब परोसा गया।

एप को एक लाख लोगों ने किया डाउनलोड :

आबकारी विभाग (CG Alcohol home delivery) के अफसर अरविंद पटले के मुताबिक सुबह एप का सर्वर स्लो हुआ था, इसे ठीक कर लिया गया है। गूगल के प्ले स्टोर से शराब को ऑनलाइन ऑर्डर करने के लिए करीब 1 लाख लोगों ने एप डाउनलोड किया है। दुकानों का संचालन कर रही प्राइवेट एजेंसी के लोग ही घरों में शराब पहुंचाने का काम कर रहे हैं। शराब डिलीवर करने के लिए अलग से डिलीवरी ब्वॉय नहीं रखे गए हैं। दुकानें बंद हैं तो वहीं के स्टाफ इस काम में लगाए हैं।

8 अप्रैल से बंद हैं शराब की दुकानें

कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए पूरे प्रदेश में शराब की दुकानों को 8 अप्रैल से ही बंद किया गया है. जिसकी वजह से शराब के ठेकेदारों को घाटा हो रहा है. यही कारण है कि सरकार की तरफ से शराब के ऑनलाइन डिलीवरी की व्यवस्था की गई है.

पिछले लॉकडाउन में भी की गई थी ऑनलाइन डिलीवरी :

कोरोना संक्रमण की पहली लहर यानि कि 2020 में भी छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन लगाया गया था. जिसकी वजह से यहां पर पिछले वर्ष भी सरकार की तरफ से ऑनलाइन शराब डिलीवरी की व्यवस्था की गई थी।

होम डिलीवरी पर गरमाई है प्रदेश की सियासत :

शराब की होम डिलिवरी कराने को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है, ‘कोरोना संकट में यह देश की पहली सरकार है जो शराब की होम डिलीवरी करेगी. आपके घर राशन, दवाई और वैक्सीन पहुंचे या नहीं लेकिन यह शराब जरूर पहुंचाएंगे. सोचिए! अस्पतालों में मरीज दम तोड़ रहे हैं लेकिन इस सरकार को बस शराबियों की चिंता है।

ऐसे हो रही बुकिंग

आबकारी विभाग के मुताबिक, शराब की डिलीवरी के लिए सुबह 9 बजे से रात 8 बजे तक का वक्त तय किया गया है। पिछले बार की ही तरह इस बार भी सीएसएमसीएल ऑनलाईन नाम के ऐप से शराब बुक की जा सकेगी। इसके लिए ग्राहकों को अपना मोबाइल नंबर, आधार कार्ड, पूरा पता देना होगा।

ऑनलाइन ऑर्डर करने के दौरान शराब का नाम और उसका रेट ऐप पर दिखेगा। शराब की दुकान से 15 किलोमीटर के रेंज के भीतर शराब मंगाई जा सकेगी। इसके लिए 118 रुपए तक डिलीवरी चार्ज देना होगा। पेमेंट भी ऑनलाइन होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *