Transgender Select in Bastar Fighters : अब थर्ड जेंडर से होगा नक्सलियों का मुकाबला...जानें कैसे

Transgender Select in Bastar Fighters : अब थर्ड जेंडर से होगा नक्सलियों का मुकाबला…जानें कैसे

Transgender Selected in Bastar Fighters: Now Naxalites will compete with third gender... know how

Transgender Select in Bastar Fighters

रायपुर/नवप्रदेश। Transgender Select in Bastar Fighters : छत्तीसगढ़ पुलिस में पहले से ही ट्रांसजेंडर सेवा दे रहे हैं, अब वे नक्सलियों का सामना करने के लिए तैयार हैं। दरअसल, बस्तर फाइटर्स में 9 ट्रांसजेंडर समेत 2100 कांस्टेबलों का चयन किया गया है। पुलिस ने पहली बार नक्सल क्षेत्र बस्तर रेंज में ट्रांसजेंडर की भर्ती की है। पुलिस का मानना है कि यह लोग आदिवासी बाहुल क्षेत्र में पुलिस व्यवस्था में नया आयाम जोड़ेंगे। बस्तर फाइटर्स में चयन होने से ट्रांसजेंडरों में खुशी का माहौल है।

बस्तर रेंज के आईजी सुंदरराज पी ने बताया कि तृतीय लिंग समुदाय के चयनित 9 लोगों में आठ कांकेर और एक बस्तर जिले से है। बस्तर फाइटर्स बनने टांसजेंडर ने कड़ी मेहनत, लगन, पुलिस की बौद्धिक और फिजिकल परीक्षा पास की है। पुलिस भर्ती में शामिल ट्रांसजेंडर ने यह संदेश दिया है कि उन्हें अपने हुनर दिखाने का मौका मिले तो वे स्त्री-पुरुष से कंधा से कंधा मिलाकर चल सकते हैं और वे भी सम्मानपूर्ण जीवन के हकदार हैं। तीसरे लिंग के प्रतिभागियों में कांकेर जिले से दिव्या, दामिनी, संध्या, सानू, रानी हिमांशी, रिया, सीमा जबकि जगदलपुर की बरखा (Transgender Select in Bastar Fighters) शामिल हैं।

9 पद थर्ड जेंडर के लिए थे आरक्षित

ट्रांसजेंडरों के अधिकारों के लिए समर्पित कार्यकर्ता विद्या राजपूत बताती है कि बस्तर संभाग के 7 जिलों बस्तर, कांकेर, दंतेवाड़ा, सुकमा, बीजापुर, नारायणपुर व कोंडागांव में बस्तर फाइटर्स बनने 300-300 पद मंजूर किए गए हैं। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार बस्तर फाइटर्स में थर्ड जेंडर समुदाय के लिए 2100 में से नौ पद आरक्षित किए गए थे। थर्ड जेंडर समुदाय के लोग भर्ती में सफल हो पाएं, इसलिए समाज कल्याण व पुलिस विभाग ने उन्हें प्रशिक्षण भी दिलाया था। भर्ती प्रक्रिया में शारीरिक नापजोख, दस्तावेज परीक्षण, लिखित परीक्षा व साक्षात्कार के बाद अंतिम चयन सूची जारी की गई। चयनित ट्रांसजेंडरों ने सीएम भूपेश बघेल, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, बस्तर आईजी, सामाजिक कार्यकर्ता लक्ष्मी सहारे कांकेर और सोशल ए्टिविस्ट रीखा परिया जगदलपुर का आभार भी जताया।

रायपुर रेंज से 13 तृतीय लिंग बने पुलिस आरक्षक

पिछले साल सितंबर में राज्य में पहली बार पुलिस विभाग में थर्ड जेंडर को (Transgender Select in Bastar Fighters) कांस्टेबल के तौर पर चुना गया था। रायपुर रेंज से 13 थर्ड जेंडर का चयन किया गया है, जिसमें से अकेले रायपुर से आठ और धमतरी से एक ट्रांसजेंडर का चयन किया गया है।


JOIN OUR WHATS APP GROUP

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update