Terrorists in Kashmir : राजौरी का बदला बालाकोट में लिया - Navpradesh

Terrorists in Kashmir : राजौरी का बदला बालाकोट में लिया

Terrorists in Kashmir: Revenge of Rajouri in Balakot

Terrorists in Kashmir

Terrorists in Kashmir : कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ भारतीय सेना ने जो आपरेशन ऑल आउट अभियान चला रखा है। उससे तिलमिलाकर वहां जो मुठ्ठी भर आतंकवादी बच गए है वे अब निर्दोष लोगों को निशाना बना रहे हैं। टारगेट किलिंग के तहत नए साल के पहले दिन आतंकवादियों ने राजौरी के डोंगरी गांव में हिन्दू परिवारों को निशाना बनाया जिसमें सात लोगों की मौत हो गई थी। आतंकवादियों ने पहले दिन तो गोलिया बरसाई और दूसरे दिन वहीं बम विस्फोट कर दिया था। जिससे राजौरी में दहशत का माहौल बन गया था।

इस घटना को गंभीरता से लेते हुए भारतीय सेना (Terrorists in Kashmir) और सुरक्षा बल के जवानों ने राजौरी में तो सुरक्षा बढ़ा ही दी और आतंकवादियों के खिलाफ अपना सर्च अभियान और तेज कर दिया। नतीजतन इस घटना में शामिल दो आतंकवादियों को बालाकोट में मार गिराया गया। इस तरह भारतीय सेना ने राजौरी का बदला बालाकोट में ले लिया। आतंकवादी राजौरी क्षेत्र में निर्दोष हिन्दुओं को फिर निशाना ना बना पाए इसके लिए वहां के हिन्दुओं को अब हथियारों के लाइसेंस दिए जा रहे है और उन्हें प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। अब वहां के हिन्दु हाथों में हथियार लेकर खुद ही गांव की चौकसी कर रहे हैं और सेना के सर्च अभियान में सहयोग भी दे रहे हैं।

इससे वहां के लोगों में जो असुरक्षा की भावना कर गई दूर हो गई है। भारतीय सेना आतंकवादियों के खिलाफ अपना अभियान तेज कर रही है। यह अच्छी बात है लेकिन इसके साथ ही अब आतंकवादियों के हिमायतियों के खिलाफ भी इसी तरह की कड़ी कार्रवाई करने की सख्त जरूरत है। अब तक कश्मीर घाटी में हिंसा की जितनी भी घटनाएं हुई है उसे देखते हुए यह स्पष्ट हो नजर आ रहा है कि इन आतंकवादियों को स्थानीय लोगों की मदद मिलती है।

गौरतलब है कि कश्मीर घाटी में भले ही सरकार ने अलगावादी ताकतों की कमर तोड़ दी है फिर भी वे आतंकवादियों से मिले हुए है और उनकी हर संभव सहायता करते है। इसी वजह से आतंकवादी रह-रह कर वहां अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे है और चुन-चुन कर हिन्दुओं को निशाना बना रहे हैं। उम्मीद की जानी चाहिए कि इसे सरकार गंभीरता से लेगी और देश में छिपे उन आस्तीन के सांपों का भी फन कुचलने के लिए कारगर कदम उठाएगी। जब तक ऐसा नहीं किया जाएगा। तब तक वहां सक्रिय आतंकवादी इसी तरह हिंसा की होली (Terrorists in Kashmir) खेलते रहेंगे और कश्मीर घाटी में दहशत फैलाने की कोशिश से बाज नहीं आएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 LIVE Update