Stomach Worms:पेट में कीड़े, भारीपन और जलन

Stomach Worms,

पेट में कीड़ों:Stomach Worms का उपचार

 नारंगी के सूखे छिलके और वायविडंग दोनों समभाग में लेकर कूट-पीसकर तीन ग्राम चूर्ण के गर्म पानी के साथ प्रतिदिन एक बार, तीन दिन तक देने से कीड़े मर जाएंगे।

उन मरे हुए कीड़ों को निकालने के लिए चौथे दिन एरण्डी का तेल पिलाएं।

छाछ में वायविडंग चूर्ण मिलाकर पिलाने से छोटे बच्चों के पेट के कीड़े मर जाते है या निकल जाते हैं।

आपके घर का कोई सदस्य पेट के कीड़ों से त्रस्त है और बार-बार इलाज कराने पर भी कीड़ों से मुक्ति नहीं मिल पा रही है, तो आप उसे दिन में तीन-चार बार छाछ पिलाएं।

छाछ में भुना हुआ जीरा, थोड़ा नमक और पिसी हुई काली मिर्च डाल सकते हैं।

आप देखेंगे कि एक सप्ताह के भीतर ही आंतड़ियों में छाये पड़े कीड़े बाहर निकल आएंगे।

 सोंठ और बायविडंग के चूर्ण को शहद के साथ सेवन करने से पेट के कीड़े (Stomach Worms) खत्म हो जाते हैं।

पेट में भारीपन

पेट में भारीपन का उपचार

बैंगन को अंगारों पर सेंककर उसमें सब्जीखार मिलाकर पेट पर बांधने से पेट के भारीपन का शमन होता है।

चने की क्षार 5 से 10 बूंद दो-तीन बार दो-दो घंटे पर लेने से पेट का भारीपन मिटता है।

पेट की जलन

पेट की जलन का उपचार

अजवाइन को तवे पर भूनकर उसमें समभाग सेंधा नमक मिलाकर चूर्ण बना लें, तीन ग्राम की मात्रा में यह चूर्ण गर्म पानीके साथ लेने से पेट की जलन मिटती है।

– धनिया और जीरा 10-10 ग्राम लेकर उन्हें अधकुटा कर लीजिए और उसे 250 मिली. पानी में रात को भिगोकर रख दीजिए, सुबह उसे मसल-छानकर तथा उसमें शक्कर डालकर चार-छः दिन तक पीने से पेट की जलन शान्त होती है।

– अजवाइन और नमक पीसकर उसकी फंकी लेने से पेट की जलन का शमन होता है।

– धनिया और शक्कर का शर्बत बनाकर पीने से भी पेट की जलन दूर हो जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *