School Reopening : बच्चो के माता-पिता स्कूल खोले जाने के पक्ष में , सर्वे में पाया गया ....

School Reopening : बच्चो के माता-पिता स्कूल खोले जाने के पक्ष में , सर्वे में पाया गया ….

School Reopening

School Reopening

रायपुर/ नवप्रदेश | देश भर में बीते 2 से अधिक वर्षों से सभी स्कूल और कॉलेज बंद है | (School Reopening) कोरोना महामारी के चलते देश के सभी राज्यों में कोरोना संक्रमण के खतरे से बच्चों को बचाने के लिए राज्य सरकारों द्वारा स्कूल कॉलेजे सहित सभी अन्य शैक्षणिक संस्थानों को बंद किये जाने के निर्देश दिए गए थे |

जिसके बाद से शिक्षा संबंधित सभी कार्य ऑनलाइन मोड के मध्यम से संचालित किया जा रहा था |

बीते दो वर्षों से स्कूल एवं कॉलेजों के सभी परीक्षाएं भी ऑनलाइन माध्यम से घर बैठे लिखने की पद्धति का चयन कर किया गया था | हलाकि कोरोना महामारी के पहले चरण के संक्रमण के खतरे को कम देखते हुए पुनः केवल कोचिंग संस्थानों को खोलने की अनुमति दी गई थी |


सभी को कोरोना संक्रमण के खतरे से बचाव के लिए बनाए गए सभी नियमों एवं आदेशों को पालन करने को कहा गया था |

कोरोना काल के शुरुवाती दौर में रोकी गई सभी परीक्षाओं को घर बैठकर लिखने की पद्धति एवं बचे हुए पाठ्यक्रम की पढाई पूरी करवाने के लिए ऑनलाइन कक्षाओं का आयोजन किया गया था |

परीक्षाओं को ऑनलाइन घर बैठे करवाने के पद्धति के बाद से अगले सत्र की पढाई भी संस्थानों द्वारा ऑनलाइन माध्यम से करने के आदेश राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा दिए गए थे |

बीते कई महीनो से चल रहे ऑनलाइन पढाई के चलते कई पकार की परेशानियों का सामना भी करना पड रहा है परिजनों के साथ ही साथ बच्चों को भी | ऑनलाइन पढाई के कारण बच्चों का अनेक प्रकार से मानशिक एवं शारीरिक दिक्कतों को सामना करते पाया गया है |

छत्तीसगढ़ में भी पिछले साल से स्कूल एवं कॉलेज बंद हैं | अब जब कोरोना की वैक्सीन निकल गई है और संक्रमण का दर भी कम होता नज़र आरहा है | तो साथ ही साथ अब स्कूल एवं कॉलेज खोले जाने की मांग भी तेज़ हो गई है |

स्कूल खोलने की मांग को बढ़ावा देते हुए प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन द्वारा एक सर्वे भी किया गया | सर्वे में छत्तीसगढ़ के 12 जिलों के 2000 के लगभग परिजनों ने स्कूलों को शुरू किये जाने से संबंधित अपनी राय पेश की है |

सर्वे में पाया गया की कक्षा 6वीं से लेकर 12वीं तक के बच्चों के परिजनों ने कहा की स्कूलों को खोल दिया जाना चाहिए | मौजूदा समय में अभी भी ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन जारी है | परिजनों का मानना है की ऑनलाइन पढाई के मुकाबले कक्षाओं में शिक्षकों के सामने बैठ कर पढ़ना ज्यादा असरदार और फायदेमंद है |

सर्वे को पूर्ण कर सरकार को दिया जाएगा रिपोर्ट

प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के राजीव गुप्ता का कहना है की सर्वे में कुल 22 जिलों के परिजनों को शामिल किया जा रहा है | अब तक 12 जिलों के सर्वे रिपोर्ट मिल चुके है | बाकी 10 जिलों के सर्वे का रिपोर्ट मिल जाने के बाद एसोसिएशन द्वारा इस सम्पूर्ण रिपोर्ट का सारांश बना कर सरकार को सौपा जाएगा |

प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन का यह सुव्रे गूगल फॉर्म के माध्यम से किया जा रहा है | इस सुव्रे फॉर्म में परिजनों से पूछा जा रहा है की क्या अब वो अपने बच्चो को स्कूल भेजने को तैयार है |

मिली जानकारी के मुताबित यह सर्वे 15 जुलाई एक पूर्ण हो जाना चाहिए और सभी 11 जिलों की रिपोर्ट बन जानी चाहिए | सर्वे के पूर्ण हो जाने के बाद इसका प्रतिवेदन बना कर शिक्षा मंत्री को दिया जाएगा और सर्वे में मिले आकड़ों पर जोर देते हुए स्कूल खोलने की मांग की जाएगी |

क्या है School Reopening को लेकर शिक्षा विभाग की आगे की योजना ?

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार शिक्षा विभाग भी स्कूल खोले जाने की तैयारी में है | हलाकि अब तक इस विचार पर अब तक पूर्ण सहमति नहीं मिली है |

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और शिक्षा मंत्री द्वारा स्कूल खोलने के विचार की बात पर हरी झंडी मिलने पर आगे की कार्यवाही की जाएगी |
यह भी बताया जा रहा है की जुलाई के दूसरे सप्ताह के बाद बरहवीं बोर्ड के परिणाम घोषित करने की तैयारी चल रही है |

आगे चलकर अगर कोरोना संक्रमण के आकड़ों में कमी आती है तो स्कूल खोले जा सकते है | परन्तु फिलहाल इसपर अभी किसी भी प्रकार की जानकारी साफ़ नहीं है | देश के कई राज्यों ने धीरे धीरे स्कूल खोलने की तैयारीआं चालु कर दी है |

JOIN OUR WHATS APP GROUP

डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed