Rajnandgaon News : गढ़बो नवा राजनांदगांव के विजन के साथ मेयर ने पेश किया बजट

Rajnandgaon News : गढ़बो नवा राजनांदगांव के विजन के साथ मेयर ने पेश किया बजट

Rajnandgaon News : With the vision of Garhbo Nava Rajnandgaon, the mayor presented the budget

Rajnandgaon News

राजनांदगांव/नवप्रदेश। Rajnandgaon News : महापौर हेमा देशमुख ने गुरुवार को अपने कार्यकाल का तीसरा बजट प्रस्तुत किया। 25 लाख के घाटे वाले बजट में प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी योजनाओं के संग गढ़बो नवा राजनांदगांव की परिकल्पना को लेकर महापौर श्रीमती देशमुख ने विकास के लिए नई घोषणाएं की। बजट प्रस्तुत करने के दौरान जैसे ही महापौर सदन में पहुंची, भाजपा पार्षदों ने टैंकरमुक्त शहर करने के पुराने वादे को लेकर हंगामा शुरू कर दिया।

गोबर से निर्मित ब्रीफकेस को लेकर सदन में चर्चा करने से पूर्व महापौर को विपक्षी पार्षदों ने घेरने की कोशिश की। इस दौरान महापौर पर पुराने बजट में किए गए वादों को अधूरा छोडऩे पर भाजपा पार्षदों ने शोरगुल किया। महापौर को घेरने की कोशिश में लगे पार्षदों को जवाब देने के लिए कांग्रेस पार्षदों ने भी हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच काफी नोक-झोंक हुई।

विपक्षी पार्षदों पर महापौर हेमा देशमुख ने सवाल खड़े किए। महापौर ने कहा कि दो साल की अवधि में अमृत मिशन योजना से शहर की प्यास बुझाने का वादा पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने किया था। कोरोनाकाल के बीच अब मिशन का कार्य समाप्ति की ओर है। महापौर का दावा है कि सिर्फ शहर में 70 स्थानों में टैंकर से पानी की आपूर्ति की जा रही है।

Rajnandgaon News : With the vision of Garhbo Nava Rajnandgaon, the mayor presented the budget

पेयजल को लेकर भिड़े भाजपा-कांग्रेस के पार्षद

निगम के बजट के दौरान भाजपा पार्षदों का सत्तारूढ़ दल के साथ विवाद सदन के बाहर आ गया। सदन में मुद्दों को लेकर दोनों पक्षों के बीच धक्का-मुक्की की नौबत आई। आपसी तनातनी के चलते कांग्रेस और भाजपा पार्षद एक-दूसरे को घेरने अमादा रहे। सदन में पेयजल समस्या को लेकर भाजपा पर दोष मढ़ते कांग्रेस पार्षदों ने आरोप लगाया कि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के कार्यकाल में अमृत मिशन योजना की शुरूआत हुई थी।

इसके लिए पूर्ववर्ती भाजपा सरकार जिम्मेदार है। इस बात को सुनकर विपक्षी पार्षद एकजुट हो गए और नारेबाजी करने लगे। जवाब में कांग्रेस पार्षदों ने भी रमन सिंह समेत अन्य नेताओं के खिलाफ नारेबाजी की। इधर बहसबाजी के बीच मामला शांत नहीं हुआ और मुद्दों से भटकने का आरोप लगाते भाजपा पार्षदों ने सदन का बहिष्कार कर दिया और मुख्य द्वार पर धरने पर बैठ गए।

प्लास्टिक की बाल्टी लेकर धरना प्रदर्शन करते हुए भाजपा पार्षदों ने आरोप लगाया कि पेयजल समस्या को दूर करने महापौर नाकाम रही है। राजनांदगांव शहर पानी के लिए तरस रहा है। नियमित पानी की आपूर्ति नहीं होने के लिए विपक्षी पार्षदों ने महापौर को घेरते कहा कि एक अरब 4 करोड़ रुए का बजट पेश कर शहर को सिर्फ झूठे सपने दिखाए जा रहे हैं। पूर्व के बजट के लिए राज्य सरकार ने सिर्फ 10 करोड़ रुपए दिए थे ऐसे में नए बजट सिर्फ छलावा है।

इस बजट में नहीं लगाया कोई भी नया कर

महापौर हेमा देशमुख ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का स्वप्न गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ है। महापौर ने कहा कि नगर पालिक निगम, राजनांदगांव (Rajnandgaon News) का वर्ष 2021-22 का पुनरीक्षित बजट एवं वित्तीय वर्ष 2022-2023 का वार्षिक आय-व्यय की स्वीकृति हेतु सदन के समक्ष प्रस्तुत कर रहे हैं। इस निर्वाचित परिषद का यह तृतीय बजट है इसलिये हमने इस बजट में कोई भी नया कर प्रस्तावित नहीं किया है। हमारा यह प्रयास होगा कि उपलब्ध संसाधनो का अधिकतम उपयोग करते हुए शहर का सर्वागीण विकास करना एवं नागरिकों को मूलभूत सुविधाए उपलब्ध करा सकें।

सदन में रखा आय-व्यय का हिसाब

वर्ष 2021-2022 के बजट प्रावधानों के विरूद्ध पुनरीक्षित आय 361 करोड़ 52 लाख 34 हजार रूपये तथा पुनरीक्षित व्यय 383 करोड़ 29 लाख 63 हजार रूपये है। बजट अनुमान अंतर्गत कुल अनुमानित आय 472 करोड़ 18 लाख 21 हजार रूपये तथा व्यय 503 करोड़ 11 लाख 46 हजार रूपये था। जबकि वर्ष 2021-22 में प्रारंभिक अवशेष 30 करोड़ 47 लाख 99 हजार रूपये था। वित्तीय वर्ष 2022-2023 के बजट प्रावधान मे प्रस्तावित आय 434 करोड़ 22 लाख 35 हजार रूपये तथा व्यय 466 करोड़ 05 लाख 51 हजार रूपये है। वर्ष 2022-23 का अनुमानित प्रारंभिक अवशेष राशि 31 करोड़ 57 लाख 55 हजार रूपये की संभावना है, इसे मिलाकर कुल आय 465 करोड़ 79 लाख 90 हजार होता है। इस प्रकार घाटे का बजट 25 लाख 61 हजार रूपये प्रस्तावित है।

बजट के प्रमुख बिंदु

महापौर ने कहा कि हमने इस बजट में ‘गढ़बो नवा राजनांदगांव’ की आधारशिला रखी है।
नंदई में थोक बाजार का निर्माण : नगर पालिक निगम राजनांदगांव सीमांतर्गत नंदई खसरा नं. 144/1 की रकबा 4.144 हेक्टेयर भूमि में शासन के निर्धारित दर राशि रू. 1.00 प्रति वर्गफुट पर भूमि प्राप्त किया जाकर थोक बाजार निर्माण किये जाने 1000.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
नगर पालिक निगम के स्वयं का मुक्तिधाम निर्माण : शहर की बढ़ती जनसंख्या को देखते हुये नगर निगम द्वारा शव दाह गृह निर्माण किया जाना प्रस्तावित हैै। जिसके लिये 47 लाख रूपये का प्रावधान रखा है।
गौरव पथ पर चौपाटी निर्माण : शहरवासियों के मनोरंजन हेतु गौरव पथ पर चौपाटी का निर्माण किये जाने 25 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
वार्डों में सामुदायिक भवनों का निर्माण : विभिन्न वार्डों में सामाजिक, सार्वजनिक गतिविधियों के संचालन हेतु वार्ड में सामुदायिक भवनों के निर्माण के लिये 300 लाख रूपये प्रवाधान रखा गया है।
फुटकर व्यवसायियों के लिये गुमटी निर्माण : रोड के किनारे व्यवसाय करने वाले फुटकर व्यवसायियों के लिये फ्लाई ओव्हर के नीचे चलित गुमटी का निर्माण किये जाने 50 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
गंगा आरती घाट एवं मेला एप्रोच रोड निर्माण : शिवनाथ नदी तट में गंगा आरती घाट एवं मोहारा मेला तक जनमानस की सुविधा के लिये एप्रोच रोड एवं अन्य विकास कार्य कराये जाने एक करोड़ का प्रावधान रखा गया है।
नगर निगम कार्यालय एवं परिसर का जीर्णोद्धार : नगर पालिक निर्माण मे स्थित टाउन हाल कार्यालय एवं परिसर का जीर्णोद्धार कार्य कराये जाने 2 करोड़ का प्रावधान रखा गया है।
15वें वित्त आयोग से पीसीसी रोड, नाली एवं अन्य विकास कार्य : 15वें वित्त आयोग अंतर्गत पेन्ड्री वार्ड के मेडिकल कालेज से पेंड्री मुक्तिधाम तक पीसीसी रोड, नाली एंव अन्य विकास कार्य कराये जाने 199.80 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
तालाबों का सौदर्यीकरण, उद्यानों का विकास, उन्मुक्त खेल मैदान निर्माण एवं मुक्तिधाम उन्नयन कार्य : तालाबों के सौदर्यीकरण, उद्यान विकास एवं उन्मुक्त खेल मैदान निर्माण एवं मुक्तिधाम उन्नयन कार्य किये जाने 578.42 लाख का प्रावधान रखा गया है।
शहर के विभिन्न स्थानों में बड़े नाला-नाली निर्माण : नगर के 51 वार्डो में घर से निकलने वाले निस्तारी पानी के निकासी हेतु बड़े नाला-नाली निर्माण कराये जाने 300.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
प्रमुख चौक-चौराहों का सौदर्यीकरण : शहर के प्रमुख चोक-चौराहों के सौदर्यीकरण, रोड डिवाईडर, साईन बोर्ड एवं रोड सौदर्यीकरण कार्य किये जाने 519.61 लाख का प्रावधान रखा गया है।
शहर के विभिन्न स्थानों पर डामरीकरण कार्य : शहर में सुगम यातायात व्यवस्था उपलब्ध करने की दृष्टि से विभिन्न वार्डो के सड़कों में डामरीकरण कार्य किये जाने 1139.39 लाख का प्रावधान रखा गया है।
ओपन कांजी हाऊस का निर्माण : नगर के विभिन्न स्थानों में विचरण करने वाले पशुओं के लिये प्रमुख स्थानों पर ओपन कांजी हाऊस का निर्माण किये जाने 75.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है। जहां पशुओं के लिये चारा पानी, रख रखाव आदि की समुचित व्यवस्था की जावेगी।
निगम सीमा क्षेत्रांतर्गत विभिन्न स्थानों में स्थायी शौचालय : राज्य शासन की योजना के तहत शहर को शौच मुक्त रखने के लिये निगम सीमाक्षेत्रांतर्गत विभिन्न स्थानों में स्थायी शौचालय निर्माण किये जाने 100.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
शहर में वृहद वृक्षारोपण : नगर को प्रदुषण मुक्त व हरा भरा रखने के उद्देश्य से शहर के रिक्त भूमि पर वृहद वृक्षारोपण किये जाने 50.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
छत्तीसगढ़ी पारंपरिक गीत एवं नृत्य : छत्तीसगढ़ी पारंपरिक गीत एवं नृत्य को प्रोत्साहन तथा लोक कलाकारों के सम्मान हेतु सांस्कृतिक आयोजन कराये जाने 25.00 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
महापौर पारंपरिक खेल महोत्सव एवं साहित्य सम्मान : विलुप्त होती छत्तीसगढ़ी पारंपरिक खेलों को प्रोत्साहित करने के लिये खेल प्रतियोगिता का आयोजन एवं क्षेत्र के साहित्य जगत के विशिष्ट प्रतिभाओं के सम्मान के लिये 25 लाख का प्रावधान रखा गया है।
स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं महापुरूषों की प्रतिमा की स्थापना : भारत को स्वतंत्र करने में अपनी सहभागिता देने वाले शहर के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियो एवं महापुरूषो की प्रतिमा निर्माण एवं स्थापना किये जाने 125.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
आंगनबाड़ी, मितानीन व स्वच्छता दीदी का सम्मान : नगर की मितानीनों, आंगनबाडी कार्यकार्ताओं, सहायिकाओ एवं स्वच्छता दीदी का महिला दिवस पर सम्मान किये जाने 10 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
प्रतियोगी परीक्षा हेतु ऑनलाईन नि:शुल्क प्रशिक्षण एवं निगम ग्रंथालयों का हाईटेक निर्माण : शहर के युवक-युवतियों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिये ऑनलाईन नि:शुल्क प्रशिक्षण एवं प्रतियोगी छात्र-छात्राओं के बढ़ती संख्या को देखते हुये निगम के ग्रंथालय को हाईटेक निर्माण करने ३ करोड़ का प्रावधान रखा गया है।
निर्धन छात्राओं को नि:शुल्क शिक्षा : नगर निगम सीमाक्षेत्र में स्थित कन्या शालाओं के छात्राओं को, जो शुल्क नहीं दे सकते उन्हें 9वी से नि:शुल्क शिक्षा देने 5.00 लाख रूपये का प्रवाधान रखा गया है।
नगर निगम कर्मचारियों के लिये सस्ते भूखण्ड उपलब्ध कराना : राजनांदगांव नगर निगम में कार्यरत कर्मचारियों के सपने हमर निगम हमर आवास को साकार करने, निगम सीमा क्षेत्रांतर्गत सस्ते मूल्य पर भूखण्ड उपलब्ध कराने 50.00 लाख का प्रावधान रखा गया है।
निगम कर्मचारी कल्याण : निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों से जुडे, जो भी लंबित विषय है उन्हें समय सीमा तय कर निराकृत किया जायेगा।
मुख्यमंत्री पालिका बाजार योजनांतर्गत व्यवसायिक परिसर निर्माण : निगम के आय में वृद्धि के श्रोत की दृष्टि से पुराने बस स्टैण्ड मे मुख्यमंत्री पालिका बाजार योजनांतर्गत व्यवसायिक परिसर निर्माण कार्य किये जाने 2360.28 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
पुत्री शाला में बहुमंजिला व्यवसायिक परिसर का निर्माण : मानव मंदिर चौक के पास स्थित वार्ड नं. 25 में पुत्री शाला के रिक्त स्थान पर सर्वसुविधा युक्त बहुमंजिला व्यवसायिक परिसर निर्माण किये जाने 894.32 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
आयुर्वेदिक औषधालय में व्यवसायिक परिसर निर्माण : गुडाखू लाईन स्थित पुराना आयुर्वेदिक औषधालय में बहुमंजिला आधुनिक व्यवसायिक परिसर निर्माण (पीपीपी पद्धति से) किये जाने 1139.72 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
मांगलिक भवन निर्माण : शहर में होने वाले मांगलिक कार्य एवं सांस्कृतिक आयोजन हेतु डॉ.बी.आर आंबेडकर सर्वसमाज मांगलिक भवन निर्माण के लिये 278.67 लाख रूपये का प्रावधान रखा गया है।
हाईटेक मल्टीलेबल पार्किंग निर्माण : शहर के मध्य यातायात के दबाव को कम कर यातायात सुविधा की दृष्टि से म्युनिस्पल स्कूल स्थित पार्किंग को हाईटेक मल्टीलेबल पार्किंग निर्माण के लिये ५ करोड़ का प्रावधान (Rajnandgaon News) रखा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update