President Election Updates : राष्ट्रपति चुनाव की हुई घोषणा, 18 जुलाई को वोटिंग; 21 को नतीजे -

President Election Updates : राष्ट्रपति चुनाव की हुई घोषणा, 18 जुलाई को वोटिंग; 21 को नतीजे

Presidential Election: Presidential election defeated by NDA's bets

President Election

नई दिल्ली। President Election Updates : देश में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव जल्द होने जा रहे हैं। चुनावों के लिए 18 जुलाई की तारीख निर्धारित की गई है। वहीं चुनाव के मतों की गणना 21 जुलाई को होगी। गुरुवार दोपहर चुनाव आयोग ने प्रेस कांफ्रेंस कर चुनाव की तारीखों का ऐलान किया है। मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को पूरा हो रहा है।

आपको बता दें कि भारत के राष्ट्रपति का चुनाव (President Election Updates) अनुच्छेद 55 के अनुसार आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के एकल संक्रमणीय मत पद्धति के द्वारा होता है। राष्ट्रपति को भारत के संसद के दोनो सदनों (लोकसभा और राज्यसभा) के अलावा राज्य की विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्यों पांच साल के लिए चुनते हैं।

जुलाई को समाप्त होगा राष्ट्रपति का कार्यकाल

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए 18 जुलाई को मतदान होगा। मतगणना 21 जुलाई को की जाएगी। साथ ही उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त होगा।

राम नाथ कोविंद राष्ट्रपति पद से पहले बिहार के रह चुके हैं राज्यपालअपने राष्ट्रपति पद से पहले, राम नाथ कोविंद ने 2015 से 2017 तक बिहार के 26 वें राज्यपाल और 1994 से 2006 तक राज्यसभा के सदस्य के रूप में कार्य किया।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद भारत के 14वें राष्ट्रपतिभारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद 25 जुलाई, 2017 से भारत के 14वें और वर्तमान राष्ट्रपति के रूप में सेवा दे रहे हैं। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं और उत्तर प्रदेश के पहले व्यक्ति भी हैं जिन्होंने राष्ट्रपति के रूप में सेवा दी है।

भारत के राष्ट्रपति का कैसे होता है चुनाव ?भारत के राष्ट्रपति का चुनाव निर्वाचक मंडल के सदस्यों द्वारा किया जाता है, जिसमें भारत की संसद के लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों के निर्वाचित सदस्य होते हैं शामिल।

राष्ट्रपति का चुनाव (President Election Updates) मौजूदा कार्यकाल के खत्म होने से पहले कराया जाना जरूरीभारतीय संविधान के अनुच्छेद 62 के अनुसार, अगले राष्ट्रपति का चुनाव मौजूदा कार्यकाल के खत्म होने से पहले कराया जाना जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update