Petition File : बड़ी कार्रवाई के मूड में कांग्रेस, इन दोनों की विधायकी पर लटकी तलवार

Petition File : बड़ी कार्रवाई के मूड में कांग्रेस, इन दोनों की विधायकी पर लटकी तलवार

Petition File: Congress in the mood for big action, sword hanging on the legislature of both of them

Petition File

पणजी/नवप्रदेश। Petition File : गोवा में कांग्रेस के कुल 11 विधायक हैं। इनमें से माइकल लोबो, दिगंबर कामत, केदार नायक, राजेश फलदेसाई और दिलियालह लोबो से संपर्क नहीं हो सका। इसके बाद पार्टी में दलबदल की अफवाहें तेज हो गई थीं। लिहाजा इसे देखते हुए पार्टी अब बड़ी कार्रवाई के मूड में आ गई है।

माइकल लोबो को नेता प्रतिपक्ष के पद से पहले ही हटा चुकी

कांग्रेस ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने पर दो विधायकों के खिलाफ विधानसभा अध्यक्ष के पास पिटिशन फाइल की है। यह दोनों गोवा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता माइकल लोबो और दिगंबर कामत (Petition File) हैं।

गौरतलब है माइकल लोबो को पार्टी पहले ही नेता प्रतिपक्ष के पद से हटा चुकी है और दिगंबर कामत के ऊपर भी एक्शन लिया गया है। इस बीच कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया है कि भाजपा उनके विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा के पास राष्ट्रपति चुनाव में पर्याप्त वोट नहीं है, इसलिए वह ऐसा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा पहले भी कर्नाटक और मध्य प्रदेश में ऐसा कर चुकी है। 

दो वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ विधानसभा में पिटीशन

इस बीच गोवा विधानसभा में स्पीकर रमेश तेवाडकर के सामने विधायकों को अयोग्य ठहराने संबंधी पिटीशन दाखिल की जा चुकी है। राज्य कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अमित पटकर ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हम अपने दो वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ डिसक्वॉलीफिकेशन पेटीशन दाखिल करने जा रहे हैं। अमित पटकर ने कहा कि इस बारे में सुप्रीम कोर्ट का भी एक निर्णय है, जिसमें कहा गया है कि पार्टी के खिलाफ किसी गतिविधि में शामिल होने पर सदस्यों की सदस्यता खत्म की जा सकती है। 

मुकुल वासनिक पहुंचे हैं गोवा

गौरतलब है कि गोवा में कांग्रेस के कुल 11 विधायक हैं। इनमें से माइकल लोबो, दिगंबर कामत, केदार नायक, राजेश फलदेसाई और दिलियालह लोबो से संपर्क नहीं हो पा रहा था। इसके बाद पार्टी में दलबदल की अफवाहें तेज हो गई थीं। कांग्रेस के गोवा प्रभारी दिनेश गुंडू राव ने कहा कि लोबो और कामत पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल हैं। यह लोग भाजपा के साथ मिलने की साजिश रच रहे थे। वहीं देर रात (Petition File) यह जानकारी भी सामने आई कि हालात को देखते हुए सोनिया गांधी ने सांसद मुकुल वासनिक को यहां भेजा था।


JOIN OUR WHATS APP GROUP

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update