Pakistan Love : फिर जागा सिद्धू का पाक प्रेम…

Pakistan Love: Again awakened Sidhu's Pakistani love...

Pakistan Love

राजेश माहेश्वरी। Pakistan Love : नवजोत सिंह सिद्धू का पाकिस्तान प्रेम और इमरान खान से रिश्ता एक बार फिर पूरी दुनिया ने देख-सुन लिया। जब वह इमरान के शपथग्रहण समारोह में गए थे तब भी उन्होंने इमरान इनका दिलदार और शान कहकर इमरान को खुश किया था या चापलूसी की थी, पता नहीं। अब श्री करतारपुर गुरुद्वारा में पहुंचते ही सिद्धू फिर इमरान मेरा बड़ा भाई कहकर अपनी खुशी जाहिर करने लगे। नवजोत सिंह सिद्धू भूल गये कि जो हमारे देश का दुश्मन है, वह इनका बड़ा भाई कैसे हो सकता है। अफसोस यह कि कांग्रेस नेतृत्व भी इस पर खामोश है। कांग्रेस लीडरशिप को तय करना पड़ेगा कि सिद्धू कांग्रेस में रहने के योग्य हैं या नहीं।

करतारपुर में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को बड़ा भाई बताने पर भाजपा ने नवजोत सिंह सिद्धू और कांग्रेस पर हमला बोला। बीजेपी की तरफ से सिद्धू के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा गया है कि, कांग्रेस को स्पष्ट करना चाहिए, कि उनके एक नेता हिंदुत्व की तूलना आईएसआईएस और बोको हरम से करते हैं, जबकि दूसरे नेता इमरान खान को ‘भाई जान’ मानते हैं, लिहाजा देश की सबसे पुरानी पार्टी को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

वहीं बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने भी सिद्धू का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि राहुल गांधी के प्रिय नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को बड़ा भाई बताया। पिछली बार उन्होंने पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल बाजवा को गले लगाया था। क्या अब भी यह कोई आश्चर्य की बात है कि गांधी परिवार ने अमरिंदर सिंह की बजाय पाकिस्यानी प्रेमी (Pakistan Love) सिद्धू को चुना।

नवंबर 2019 में सिद्धू पाकिस्तान गए तो फिर कुछ ऐसा बोल आए जो भारत की सियासत में बवंडर उठाने के लिए काफी था। वह गए तो थे करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन में लेकिन बवाल के सुतली बम में चिंगारी लगा के चले आए। उनके इस दौरे ने एक नये विववाद को जन्म दिया। सिद्धू ने लोगों को संबोधित करते हुए पाकिस्तान की तारीफ की। इतना ही नही, उन्होंने इमरान खान को अपना दोस्त भी बताया।

करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा था कि विभाजन के बाद यह पहली बार है कि सीमाएं सीमाएं समाप्त कर दी गई हैं। मेरे दोस्त इमरान खान के योगदान को कोई नकार नहीं सकता। अपनी कविता वाले अंदाज में उन्होंने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान की जमकर तारीफ की और उन्हें इतिहास बनाने वाला बताया था।

असल में सिद्धू के लिए यह पहला मौका नहीं है जब वह पाक पर इतना मोहित हुए हैं। इसके पहले भी वह इस तरह की बयान बाजी कर विवादों में घिर चुके हैं। यह मामला अक्टूबर 2018 का है। तब सिद्धू पाकिस्तान यात्रा से लौटे थे। इसके बाद वह कसौली में चल रहे एक साहित्य सम्मेलन में शिरकत करने पहुंचे थे। यहां उन्होंने पाकिस्तान की यात्रा को अच्छा बताते हुए कहा था कि आप पाक में कहीं भी यात्रा कर लो, न तो वहां लोग बदलते हैं, न भाषा और न ही खाना बदलता है। इसके बजाय आप दक्षिण भारत चले जाएं तो वहां भाषा से लेकर खान-पान सब बदल जाता है। उनका यह बयान नागवार गुजरा था।

इसके पहले अगस्त 2018 में वह पाकिस्तान के नव निर्वाचित प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे थे। इस समारोह में जाना तो एक बारगी ठीक था, लेकिन कांग्रेस नेता यहां एक खास कारनामा कर बैठे। उन्होंने पाक के आर्मी चीफ जनरल बाजवा को गले लगाया था। उनका ऐसा करना देश भर में सियासी बवाल लाने के लिए काफी था। उस दौरान पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर ने भी सिद्धू का विरोध किया था। कैप्टन अमरिंदर ने तब बयान दिया था कि हर रोज हमारे जवान शहीद हो रहे हैं। मैं उनके (सिद्धू के) सेना प्रमुख जनरल बाजवा को गले लगाने के खिलाफ हूं।

सच यह है कि उन्हें समझना चाहिए था कि हर रोज हमारे जवान मारे जा रहे हैं। कुछ महीने पहले मेरी रेजिमेंट के एक मेजर और दो जवान शहीद हुए थे। भाजपा ने नवजोत सिंह सिद्धूू के पाक सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने पर तीखा हमला बोलते हुए कहा था कि कांग्रेस भारत में पाकिस्तान डेस्क बना रही है। उसने कांग्रेस पर अपने नेताओं के जरिये पाकिस्तान को ऑक्सीजन देने का आरोप भी लगाया था।

कांग्रेस के अंदर सिद्धू के बयान पर दो फाड़ हो गया, जब कांग्रेस के दिग्गज नेता मनीष तिवारी ने साफ तौर पर सिद्धू के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ष्किसी के बड़े भाईष् हो सकते हैं, लेकिन भारत के लिए इमरान खान ‘बिल्ली का पंजा’ हैं। मनीष तिवारी ने इमरान खान के लिए ‘केट्स पॉउ’ शब्द का इस्तेमाल किया है, जिससे उनका मतलब ‘डीप स्टेट’ के लिए अप्रिय और खतरनाक कार्य करना है।

कांग्रेस नेता ने इमरान खान को वो शख्स बताया, जिसके पीछे से कुख्यात इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) और सेना भारत के खिलाफ हिंसक घटनाओं को अंजाम देती है, जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों तक ड्रोन, हथियारों को पहुंचाती है और पंजाब में नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए इमरान खान का इस्तेमाल करती है।

पिछले दिनों पंजाब कांग्रेस में मची घमासान के बीच पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू पर गंभीर आरोप लगाये थे। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि वह उन्हें सीएम बनाए जाने का विरोध करेंगे। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि सिद्धू का पाकिस्तान, उसके प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना चीफ कमर जावेद बाजवा से रिश्ते हैं। सिद्धू को पंजाब के लिए डिजास्टर बताते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देश की सुरक्षा का मामला है। सिद्धू ने पाकिस्तान की तारीफ (Pakistan Love) करके ये साबित कर दिया है कि कैप्टन अमरिंदर जो कुछ कह रहे थे वो शत प्रतिशत सही था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 LIVE Update