Numerology : अंक शास्त्र से जानिए यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध के पीछे की कहानी, बताएंगे अंक ज्योतिष पंकज महेश्वरी… - Navpradesh

Numerology : अंक शास्त्र से जानिए यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध के पीछे की कहानी, बताएंगे अंक ज्योतिष पंकज महेश्वरी…

Numerology,

रायपुर, नवप्रदेश। रूस और यूक्रेन के युद्ध यद्यपि अभी प्रराम्भ (Numerology) हुआ है लेकिन इस युद्ध की जड़े का उदय 1991 मै रूस के विघटन के साथ ही हो गया था।

जब रूस का विघटन हुआ उस समय जो पीड़ा रूस ने सही थी यह उसका प्रति (Numerology) शोध है।31 वर्ष बाद यह प्रतिक्रिया हुई है।अंक (Numerology) 31 का जोड़ भी 4 आता है।

रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन का जन्म 7 अक्टूबर जो हुआ था अंक 7 रहस्यवाद के संदर्भ रखता है विद्याओं से संदर्भ रखता है और रहस्यवाद की कलाओं में निपुण बनाता है यह जासूस (Numerology) भी बनाता है तांत्रिक भी बनाता है और प्रबल शत्रुहंता भी बनाता (Numerology) हैl

आज जब रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का अंक सात बन रहा और वर्तमान समय में जिनका अंक 13बन रहा है। ओर russia का अंक भी 7 बनता है अंक 13 अर्थात नर मुंडो की माला धारण किया हुआ एक युवक जोकि समाजवाद की स्थापना करना चाह रहा है संतुलन करना चाह रहा जिसके एक हाथ में तराजू और एक हाथ में तलवार है और जो न्याय कर रहा जो फसलें उग गयी (Numerology) है

ज्यादा बड़ी हो गई है उनकी कटाई कर रहा है और उन्हें एक समान कर रहा है। समानता स्थापित कर रहा है अब यह दायित्व रूस निर्वहन करेगा विश्व पटल परइसका नेतृत्व व्लादिमीर पुतिन कर रहा है और इसके पीछे सूर्य का प्रकाश भी हो रहा है इंद्र धनुष भी बन रहा है

भविष्य सुखद होगा अर्थात इसके बाद जो परिवर्तन होगा विश्व की व्यवस्था पर वह सुखद होगा समानता पर आधारित होगा नर मुंडो की माला धारण करने सेतात्पर्य है कि भीषण संघर्ष होगा लोगों की आहुतियां इसमें ली जाएंगी तभी तो समानता स्थापित होगी और साथ ही साथ तराजू से तात्पर्य विश्व की जो व्यवस्था एक तरफा चल रही है

व्यवस्था अब समानता के सिद्धांत पर चलेगी ना कि दादागिरी परयदि आप इस तथ्य को समझेंगे तो विश्व की जो व्यवस्था पूंजी पति राष्ट्र के हाथ में चली गई है व्यवस्था अब पुन अब समाजवाद की ओर जा रही है।विश्व का काला चाणक्य अमेरिका जिसकी जन्मतिथि 4 अगस्त है अमेरिका अंक 4 का जातक है अर्थात राहु प्रधान देश है और

यह सम्पूर्ण विश्व पर राज करता है लेकिन अगर यह पूंजी पति का पक्ष लेता है तो उसका विनाश भी कर देता है।यह संपूर्ण विश्व का कालसर्प योग है वह अमेरिका है क्योंकि यह जुलाई माह में होने के कारण केतु से भी दृष्ट है अर्थात अंक 7 भी वहां पर है जब राहु और केतु के बीच में कोई चीज फस जाती है तो कालसर्प योग का उदय होता है और साथ ही साथ में इसमें अंक 8 का भी समावेश है अमेरिका की जो नीतियां रही है वह सदैव छत में युद्ध करता रहा है और जहां उसके लाभ की बात होती है वहां पर वह कार्यवाही करता है

चाहे सोवियत का विघटन हो या इराक पर हमला सब जगह उसकी कुटनीतियां दिखाई देती है इतना ही नहीं अमेरिका ने यूक्रेन को पहले से ही 600 Stinger missile जिसकी कीमत एक मिसाइल लगभग 7000000 है मुफ्त में ही यूक्रेन को दी है।

यूक्रेन का अंक यदि आप जोड़ेंगे तो वह अंक 22पर पर आता है यदि उनके संदर्भ में इन परिस्थितियों को देखा जाए तो यूक्रेन पर जो हमला हुआ है उसकी जड़े रूस और अमेरिका के मध्य तनाव के कारण है पश्चिमी राष्ट्र के विस्तार वादी नीतियों का प्रतिरोध हो रहा है अंक 2 2 बार ओर इस साल 2022 का अंक 2 3 बार कुल मिलकर 5 बार अंक 2 बन रहा है।

2 का अंक कुल मिलाकर 5 बार अंक यूक्रेन में आ रहा और यूक्रेन का अंक 22 यह कहता है कि सामने वाला व्यक्ति बहुत गलतफहमी में जी रहा है वह एक भोला भाला युवक है और जिससे आने वाले खतरों का आभास नहीं है उन्हें अपनी मस्ती में चला जा रहा है

और उसे ऐसा लग रहा है प्रतीत हो रहा है की समय अनुकूल है सब कुछ उसके मन के अनुसार चल रहा है लेकिन वह दूसरों की गलती का बोझा धो रहा है अर्थात उसे जिसका दंड मिल रहा है वह उसका स्वयं का नहीं है अर्थात दूसरों की गलतियां हैं भुगतान उसे करना पड़ रहा है सामने एक गहरी खाई है लेकिन उसे वह गहरी खाई दिखाई नहीं दे रही है और वह मदमस्त चला जा रहा है

युद्ध से पहले जो स्थितियां थी उसमें यूक्रेन के राष्ट्रपति ख्वाब देखे तो वह एक भोला भाला युवक है जो कि पश्चिमी राष्ट्र के बहकावे में आ गया रसिया की चेतावनी का उसके ऊपर कोई असर नहीं पड़ा उसके प्रभाव से अनभिज्ञ रहा और साथ ही साथ राहु अंक 4 और अंक 6 जब मिलते हैं तो काला जादू होता है अर्थात सब तरफ कालीख छा जाती है

ऐसा कुछ होता है कि सामने वाला व्यक्ति अंक चार वाला व्यक्ति संकट में आ जाता है अंक चार के प्रभाव से यह वही राष्ट्र है जिसकी पास उसके स्वयं के परमाणु हथियार थे लेकिन पश्चिमी राष्ट्र के कहने पर इसने 1999 में परमाणु हथियार को समाप्त कर दिया ।

और जिसके कारण से यूक्रेन की यह दुर्दशा हुई अगर वह पश्चिमी राष्ट्रों की परमाणु हथियारों के समाप्त करने की बहकावे में ना आता है तो आज यह दिन उसे ना देखना पड़ता लेकिन उसके दोनों ही कार्य जोश में दूसरों के कहने पर किए थे निरर्थक साबित हुए और उसे उसका भुगतान करना पड़ा क्योंकि अंक 4 अर्थात 22दूसरों की गलतियों का बोझा ढोता है

अतः यूक्रेन भी अंक 22से संबंधित राष्ट्र है और इसने जो अपने परमाणु हथियारों को पश्चिमी राष्ट्रों के कहने पर समाप्त किया और वर्तमान समय में उनके आग्रह पर विश्वास किया कि जब रूस आएगा हमला करने तब उसे बचाएंगे।लेकिन वास्तविकता से सभी परिचित है

जब हमला हुआ तो किसी ने भी सहयोग नही किया महत्वपूर्ण यह है रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन अब किसी के रोके रोकने वाले नहीं हैं एक नई सुबह वह विश्व पर लेकर आएंगे यह तय बात है नर मुंड माला धारण करना सहज कार्य नहीं है

इसे धारण करना हेतु कम से कम 15 वर्ष प्रतीक्षा करनी पड़ती उसके बाद जाकर व्यक्ति इस स्थिति मे आता है बहुत कठिनाई ओर संघर्ष सहन करना पड़ता है अत्याचार को भी सहन करना पड़ता है तबजाकर यह सक्रिय होता है।यह नाभि किय हथियारों से भी सम्बंद रखता है।

अब यह बात तय हैंकि विस्तार वाद ओर पूंजी वाद की नीतियों का विरोध होगा और रूस एक नई अलख जगायेगा क्योंकि नया सवेरा होने को है रूस जल्द ही पुनः अपना वर्चस्व विश्व पर स्थापित करेगा अब यह बात तय हैंकि विस्तार वाद ओर पूंजी वाद की नीतियों का विरोध होगा और रूस एक नई अलख जगायेगा क्योंकि नया सवेरा होने को है

रूस जल्द ही पुनः अपना वर्चस्व विश्व पर स्थापित करेगा रूस का अंक 16 बनता है जॉनकी ध्वस्त मीनार का सूचक होता है आदमी आगे तो बढ़ता है लेकिन अचानक बिजली गिरती है सब कुछ प्लानिंग धरि की धरी रह जाती है

मै रूस एक समृद्ध राष्ट्र था अचानक उसके विघटन हुआ उसकी शक्ति कमजोर हुई।अब यह उसका प्रति शोध है अगर रूस russia अपने नाम मै केवल एक a जोड़ ले तो उसे कोई भेद नही सकता मेरे मत से russiaa इस प्रकार लिखे तो उसका विघटन कभी नही होगा वह अजेय रहेगा।

यह मेरे निजी मंतव्य है जो मे इस परिदृश्यों मै महसूस करता हूक्योंकि शास्त्रो मै कहा गया है वीर भोग्याम वसुंधरा पुतिन अब इस मार्ग पर चल रहे है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update