BREAKING: महाराष्ट्र में अगले माह नई सरकार, फुल टर्म सीएम बनेंगे ये नेता -

BREAKING: महाराष्ट्र में अगले माह नई सरकार, फुल टर्म सीएम बनेंगे ये नेता

maharashtra, shivsena, congress, ncp, form government, navpradesh,

maharashtra political scenerio

मुंबई/रायपुर/नवप्रदेश। महाराष्ट्र (maharashtra) में शिवसेना (shivsena), कांग्रेस व एनसीपी (congress, ncp) के साथ मिलकर ही सरकार बनाएगी (form government) । अगले माह ही यह सरकार बनने के आसार हैं। मुख्यमंत्री भी पूरे पांच वर्षों के लिए शिवसेना का ही होगा।

यहीं नहीं कांग्रेस व एनसीपी का साफ रुख है कि शिवसेना (shivsena) पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे को पूरे पांच साल के लिए महाराष्ट्र (Maharashtra) का मुख्यमंत्री बनाया जाए। कांग्रेस-एनसीपी के बीच शिवसेना के साथ सरकार बनाने को लेकर कवायद चल रही है और संभव है कि दिसंबर के पहले सप्ताह में शिवसेना के नेतृत्व वाली नई सरकार का गठन (form new government) हो जाए। ऐसी खबर एक अंग्रेजी अखबार ने सूत्रों के हवाले से प्रकाशित की है।

होंगे दो उपमुख्यमंत्री

इसके मुतािबक सूत्रों ने कहा है कि सबकुछ प्लान के मुताबिक हुआ तो कांग्रेस व एनसीपी का इस बात को लेकर स्पष्ट मत है कि उद्धव ठाकरे ही पांच साल के लिए सीएम होंगे। कांग्रेस, एनसीपी (congress, ncp) का रुख इसको लेकर स्पष्ट है। वहीं नई सरकार में दो उपमुख्यमंत्री होंगे- एक कांग्रेस से व एक एनसीपी से। हालांकि  सोमवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोिनया गांधी से मुलाकात के बाद एनसीपी चीफ शरद पवार ने कहा था कि उन्होंने गांधी के साथ सरकार बनाने को लेकर कोई चर्चा नहीं की।

शिवसेना के 15, एनसीपी के 14 व कांग्रेस के 13 मंत्री

अंग्रेजी अखबार को सूत्रों के हवाले से प्राप्त जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र में निर्धािरत 44 मंत्री पदों के बंटवारे को लेकर भी सहमति बन गई है। इसके मुताबिक शिवसेना को 15, एनसीपी को 14 व कांग्रेस को 13 मंत्रिपद मिल सकते हैं। विधानसभा अध्यक्ष पद को लेकर कोई फैसला भी कांग्रेस व एनसपी ही लेंगी। इस पद के लिए महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री व  कांग्रेस नेता  पृथ्वीराज  चव्हाण का नाम सुिर्खयों में  है।

नतीजों के बाद अब तक ये हुआ महाराष्ट्र में

गौतरलब है  कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजों में भाजपा-िशवसेना गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिला था लेकिन सत्ता में िहस्सेदारी को लेकर दोनों में बात नहीं बन पाई। शिवसेना ने भाजपा से गठबंधन तोड़ िदया, एनडीए से अलग हाे गई। लेकिन कांग्रेस व एनसीपी के साथ कोई डील तय न होने  से वह भी पर्याप्त संख्या बल के साथ राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश नहीं कर सकी।

भाजपा पहले ही पीछे हट गई थी। इस िस्थति के मद्देनजर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगा दिया। हालांकि अब भी सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना की ओर से रोज नए नए दावे किए जा रहे हैं। 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भाजपा को 105, िशवेसना-56, एनसीपी-54, कांग्रेस-44 व अन्य को 29 सीटें मिली हैं।


JOIN OUR WHATS APP GROUP

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update