Madan Singh : पहले जानकारी एकत्रित करें फिर खुद को किसान नेता कहें चौधरी : मदन साहू - Navpradesh

Madan Singh : पहले जानकारी एकत्रित करें फिर खुद को किसान नेता कहें चौधरी : मदन साहू

Madan Singh,

राजनांदगांव, नवप्रदेश। पिछले दिनों भाजपा किसान नेता अशोक चौधरी के बयान पर पलटवार करते हुए डोंगरगांव विधानसभा के कांग्रेसी नेता एवं जिला किसान कांग्रेस के अध्यक्ष मदन साहू (Madan Singh) ने कहा है कि अशोक चौधरी पहले अपने आंकड़ों को दुरुस्त करें, उसके बाद किसान हितैषी होने का दावा करें।

झूठे आंकड़ों के आधार पर वो मिडिया के माध्यम से कांग्रेस सरकार पर जो गलत आरोप लगा रहे हैं वो टिक नहीं पायेगा। कांग्रेसी नेता मदन साहू ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि केंद्र सरकार का काम है, धान खरीदी करना और एजेंसी का काम राज्य सरकार करती है और प्रदेश की भूपेश सरकार ने जिम्मेदारी अपना काम (Madan Singh) किया,

धान खरीदा और पूरा पैसा भी राज्य सरकार ने लगाया। मदन ने कहा कि बारदाना की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की होती है, लेकिन उन्होंने अपना काम नहीं किया। धान को चावल बना कर गोदाम में रखने की जिम्मेदारी भी केंद्र की होती है, लेकिन उन्होंने वह भी नहीं किया।

मदन साहू ने अशोक चौधरी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि खुद को किसान नेता कहने से पहले वो अपने आंकड़ों को दुरुस्त करें। केंद्र सरकार ने जो 62000 करोड़ दिए हैं, उसमें से 52000 करोड़ का तो उन्होंने चावल का पैसा (Madan Singh) दिया है कोई एहसान नहीं किया।

मदन ने कहा कि भाजपा नेता पहले यह बताएं कि जब उनके कार्यकाल में 2100 रुपये धान का समर्थन मूल्य था और वो किसानों को नहीं दिया गया तो उस समय आपको किसानों की चिंता क्यों नहीं हुई। अन्य राज्यों में धान का समर्थन मूल्य 18 से 19 सौ रुपये के आसपास है, जबकि प्रदेश की भूपेश सरकार 2500 दे रही है, उसकी तारीफ करनी चाहिए भाजपा नेताओं को

मदन साहू ने कहा कि जो लोग केंद्र की गलतियों को छुपा के गलत बयान बाजी कर रहे हैं, वो किसान हितैषी हो ही नहीं सकते। हरेली त्यौहार के दिन से गौमूत्र खरीदने वाली भूपेश बघेल सरकार देश की पहले सरकार है, जिसकी सारे देश में प्रसंशा हो रही है और भाजपाई केवल खपरा गिनने में लगे हैं।


JOIN OUR WHATS APP GROUP

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update