Delhi MCD Polls : दिल्ली में मतदान शुरू... 1,349 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर

Delhi MCD Polls : दिल्ली में मतदान शुरू… 1,349 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर

Delhi MCD Polls: Voting begins in Delhi... Fate of 1,349 candidates at stake

Delhi MCD Polls

नई दिल्ली/नवप्रदेश। Delhi MCD Polls : दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के सभी 250 वार्ड के लिए रविवार को मतदान सुबह आठ बजे शुरू हो गया है। इस चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप), भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) तथा कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। एमसीडी चुनाव में 1.45 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं। चुनाव में कुल 1,349 उम्मीदवार मैदान में हैं।

कांग्रेस के प्रत्याशी सबसे बेहतर- बोले अजय माकन

MCD चुनाव में वोट डालने के बाद कांग्रेस नेता (Delhi MCD Polls) अजय माकन ने कहा, “ये चुनाव गलियों, कूड़े, नालियों और साफ-सफाई का चुनाव है, मुझे लगता है कि कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी सबसे बेहतरीन हैं। पिछली बार हमे 24% वोट मिले थे और हमने 31 सीटें जीती थी। 2019 में भी हमें 22-23 % वोट मिले थे।”

दिल्ली को साफ,स्वच्छ रखने के लिए दें वोट: मनीष सिसोदिया

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “1.5 करोड़ लोग निगम के लिए अपनी सरकार चुनेंगे। MCD का काम है दिल्ली का कूड़ा साफ करना, व्यापारियों को इमानदारी से लाइसेंस देना, गलियां बनवाना, पार्कों की सफाई करनवाना है। आप अपना वोट यह सोच कर दें कि आप वोट दिल्ली को साफ,स्वच्छ रखने के लिए दे रहे हैं।”

40,000 पुलिसकर्मी, 20,000 होमगार्ड, 108 कंपनी सशस्त्र बल ड्रोन रखेंगे नजर

दिल्ली नगर निगम चुनाव को लेकर चुनाव आयोग और दिल्ली पुलिस ने तैयारी पूरी कर ली है। पुलिस की ओर से संवेदनशील इलाकों में पहली बार ड्रोन से नजर रखी जाएगी। चुनाव में 40,000 पुलिसकर्मी, 20,000 होमगार्ड, अर्द्धसैनिक बल तथा राज्य सशस्त्र पुलिस बलों की 108 कंपनी को तैनात किया गया है।

MCD चुनाव में 66 लाख 10 हजार 879 महिला मतदाता हैं

मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ है। यह शाम साढ़े पांच बजे तक चलेगा और मतगणना सात दिसंबर को होगी। राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारियों की ओर से साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में मतदाताओं की कुल संख्या 1,45,05,358 है, जिसमें 78,93,418 पुरुष, 66,10,879 महिलाएं और 1,061 ट्रांसजेंडर हैं।

परिसीसन की कवायद और उत्तर, दक्षिण और पूर्वी दिल्ली नगर निगमों को मिलाकर एकीकृत नगर निगम बनाने के बाद यह पहला चुनाव है। एकीकृत नगर निगम 22 मई से अस्तित्व में आया है। रविवार को होने वाला मतदान गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण के मतदान से तीन दिन बाद और दूसरे चरण के मतदान से एक दिन पहले हो रहा है।

1958 में बने नगर निगम को 2012 में सीएम शीला दीक्षित ने तीन हिस्सों में बांटा था

नगर निगम को 1958 में स्थापित किया गया था। 2012 में तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के कार्यकाल के दौरान इसे तीन हिस्सों- उत्तर, दक्षिण और पूर्वी दिल्ली नगर निगमों में बांट दिया गया था। हालांकि, इस साल फिर से तीनों को एकीकृत कर दिया गया। राज्य चुनाव आयुक्त विजय देव द्वारा चार नवंबर को एमसीडी चुनाव की तारीख की घोषणा के साथ ही दिल्ली में आदर्श आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गई थी।

AAP और BJP बोलीं जीतेंगे, Congress खोया जनाधार बचाने में लगी

‘आप’ और भाजपा दोनों ने विश्वास जताया है कि वे चुनावों में विजयी होंगी, जबकि कांग्रेस खोया हुआ अपना जनाधार हासिल करने की कोशिश कर रही है। भाजपा नेता मनोज तिवारी ने कहा, पीएम मोदी जी के प्रभाव पर वोट मिलेंगे। मंगल ग्रह पर भी उनके पोस्टर लगे हैं। चुनाव से पहले दिल्ली में ‘आप’ और भाजपा के बड़े नेताओं ने प्रचार किया और गलियों में घूम कर अपनी पार्टी के उम्मीदवार के लिए वोट मांगे।

68 माडल मतदान केंद्र और 68 ही ‘पिंक’ मतदान केंद्र बनाए गए हैं

राज्य चुनाव आयोग के अधिकारियों ने (Delhi MCD Polls) कहा कि चुनाव अधिकारी और उसकी टीम रविवार को होने वाले इस मतदान के लिए पूरी तरह तैयार है और सुरक्षा बलों की तैनाती के लिए पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। चुनाव अधिकारियों ने बताया कि 68 मतदान केंद्रों को माडल मतदान केंद्र बनाया गया है, जबकि 68 को ‘पिंक’ मतदान केंद्र बनाया गया है। साल 2017 में हुए निकाय चुनाव में भाजपा ने कुल 270 वार्ड में से 181 में जीत हासिल की थी। प्रत्याशियों के निधन के कारण दो सीट पर मतदान नहीं हो सका था। ‘आप’ ने 48 और कांग्रेस ने 27 वार्ड में जीत दर्ज की थी। 2017 में 53 फीसदी मतदान हुआ था।


JOIN OUR WHATS APP GROUP

डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 LIVE Update