कांग्रेस गाय के नाम पर वोट नहीं मांगती बल्कि सेवा करती है : भूपेश - Navpradesh

कांग्रेस गाय के नाम पर वोट नहीं मांगती बल्कि सेवा करती है : भूपेश

Congress does not ask for votes in the name of cow, but serves: Bhupesh

Cow Politics

गुजरात मॉडल पर सीएम भूपेश का तंज

रायपुर/नवप्रदेश। Cow Politics : एक टीवी चैनल के चौपाल कार्यक्रम में भूपेश बघेल केंद्र सरकार और भाजपा पर जमकर बरसे। उन्होंने तीन साल के अपने कार्यकाल में किये गए कार्यों को सिलसिलेवार रखा,तो वहीं गुजरात मॉडल को आड़े हाथों लिया। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि सात साल बीत गए लेकिन गुजरात मॉडल का स्वाद किसी ने नहीं चखा। आज तक इसे कोई समझ ही नहीं पाया है। अब तो गुजरात मॉडल पर भाजपा भी कन्नी काटने लगी है। देश में कहीं निवेश नहीं दिख रहा पर गरीबी, कुपोषण, बेरोजगारी जरूर बढ़ी है।

कांग्रेस के सेक्युलर पार्टी होने के सवाल पर सीएम भूपेश ने कहा कि हम गाय (Cow Politics) की सेवा करते हैं पर गाय के नाम पर वोट नहीं मांगते हैं। राम वन गमन पथ और गाय की सेवा हमारे लिए आध्यात्मिक मुद्दा हैं। छत्तीसगढ़ में हमने 2 रुपये किलो गोबर खरीदी शुरू की है। अब दूसरे राज्य भी छत्तीसगढ़ मॉडल को अपना रहे हैं।

सीएम ने कहा कि छत्तीसगढ़ मॉडल (Cow Politics) में लोगों की आय में वृद्धि पर फोकस है। छत्तीसगढ़ में इसकी शुरुआत हमने किसानों के ऋण माफी से किया है। कर्ज में डूबे किसानों के मानसिक दबाव को कम किया गया। 2500 रुपये क्विंटल में धान खरीदी शुरू किया गया। इससे लोगों की आय में वृद्धि हुई, क्रयशक्ति बढ़ी। छत्तीसगढ़ में पिछले तीन सालों में हर सेक्टर में वृद्धि आई है। चाहे टेक्सटाइल हो, ऑटोमोबाइल, रियल स्टेट हो या सराफा हो। हमारे प्रदेश में मंदी का कोई असर नहीं हुआ है।

Congress does not ask for votes in the name of cow, but serves: Bhupesh

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि केवल हमने धान ही नहीं खरीदा है। किसानों को 7 हजार करोड़ का इनपुट सब्सिडी भी दिया है। किसानों की आय में लगातार वृद्धि हुई है। देश का 74 प्रतिशत लघुवनोपज छत्तीसगढ़ में खरीदे गए हैं। भारत सरकार से हमें 11 पुरस्कार भी दिए गए हैं। प्रदेश में 7 से बढ़ाकर अब 52 प्रकार के लघुवनोपज खरीदे जा रहे हैं। तेंदूपत्ता का समर्थन मूल्य 2500 से बढ़ाकर हमने 4000 प्रति मानक बोरा किया है। दूसरे वनोपज की भी कीमत हमने बढ़ाई है और इसमें हमने वैल्यू एडिशन भी किया है।

कार्यक्रम में उन्होंने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधते हुए बारदाने उपलब्ध नहीं कराए जाने पर सवाल उठाया। केंद्र सरकार इथेनॉल बनाने की अनुमति भी नहीं दे रही है। एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र की योजना हमने बंद नहीं की है बल्कि केंद्र सरकार हमारे सेंट्रल एक्साइज का पैसे नहीं दे रही है। ढाई-ढाई साल के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हाईकमान जब बोले उस दिन इस्तीफ़ा देने को तैयार हूं।

पिछले चुनावों में कांग्रेस को मिली हार पर कहा कि समर्थन तो कांग्रेस को मिला था, पर कोई और चुरा के ले जाये तो क्या करें। उत्तरप्रदेश के चुनाव के सवाल पर कहा कि प्रियंका गांधी के नेतृत्व में संगठन मजबूत हुआ है और चुनाव का रिजल्ट निश्चित ही चौकाने वाला होगा। मुख्यमंत्री बघेल ने राष्ट्रीय राजनीति में आने के सवाल पर कहा अगला पड़ाव पार्टी तय करेगी।


JOIN OUR WHATS APP GROUP

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update