मुख्यमंत्री ने आरएसएस की तुलना नक्सलियों से करने पर सांसद पांडेय का जवाब…

CM Pandey, reply on comparing RSS with Naxalites,

MP Santosh Pandey and cm bhupesh baghel

MP Santosh Pandey: – अपनी अकर्मण्यताओं को छुपाने के लिए ऐसा बयान दे रहे मुख्यमंत्री

-सांसद ने सीएम से पूछा कि- उनके पिता बिना सुरक्षा के मानपुर के जंगलों में क्यों व क्या करने जाते हैं?

कवर्धा। MP Santosh Pandey: राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की तुलना नक्सलियों से करने पर राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र के सांसद संतोष पांडेय ने मुख्यमंत्री पर जमकर हमला बोला। सांसद संतोष पांडेय ने मुख्यमंत्री के बयान को अत्यंत दुखद और होशो हवास से परे बताया है।

उन्होंने कहा कि उनके पिता प्रतिमाह मानपुर के जंगलों में बिना सुरक्षा के घुसते हैं और नक्सली के रूप में रासुका में तीन बार सजायाफ्ता और जेल यात्री तथाकथित आदिवासियों के नेता से क्या गुफ्तगू षड्यंत्र रचते हैं। क्या वे इसे स्पष्ट करेंगे।

बयान देने के पहले मुख्यमंत्री को थोड़ा इतिहास की भी जानकारी होनी चाहिए कि उनके पार्टी के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने युद्ध, बाढ़ और महामारी में संघ की सेवा भावना को देखते हुए गणतंत्र दिवस परेड में आमंत्रित कर सम्मानित किया था। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि संघ का संचालन तो देश से होता है किंतु राजीव गांधी फाउंडेशन का संचालन और फंडिंग तो वेटिकन सिटी और चीन से हो रही है।

मुख्यमंत्री बघेल बताएं कि राजीव गांधी फाउंडेशन ने राष्ट्रहित में क्या-क्या कार्य किए हैं। वे यह भी जान लें कि आरएसएस का सिद्धांत सिर्फ राष्ट्रप्रेम और राष्ट्र सर्वोपरि है। संघ की विचारधारा में धर्म, जाति, भेद का कोई स्थान नहीं। बयान देने के पहले उन्हें आरएसएस के सिद्धांतों का अध्ययन करना चाहिए। प्रदेश में कानून व्यवस्था छिन्न-भिन्न हो चुका है। अधिकारी अपनी मर्जी से बयान दे रहे हैं।

भोले भाले तीर्थयात्री और पर्यटकों को प्रताडि़त कर जेल भेजा जा रहा है। प्रदेश में आर्थिक स्थिति लचर है। इन्हीं अकर्मण्यताओं को छुपाने के लिए मुख्यमंत्री संघ को अपना ढाल बना रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

COVID-19 LIVE Update