राज्य गठन के बाद पहली बार खेलों के विकास में मिली बड़ी उपलब्धियां : CM Bhupesh

CM Bhupesh Baghel, Residential Hockey Academy, Development of sports, for the first time, in Chhattisgarh,

CM Bhupesh Baghel

-राज्य खेल प्रशिक्षण केन्द्र बिलासपुर को ‘स्टेट सेंटर ऑफ एक्सिलेंस’ का दर्जा

– भूपेश बघेल की पहल से मिली सफलता खेल सुविधाओं और खिलाडिय़ों के प्रशिक्षण का बड़ा कदम

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य के खिलाडिय़ों का सपना अब साकार होगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की परिकल्पना को खेल के मैदानों में उतारते हुए राज्य में खेलों के विकास का नया अध्याय जोड़ा है। छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद पहली बार रायपुर में ‘आवासीय हॉकी अकादमी’ प्रारंभ होने जा रही है।

इसके साथ ही साथ बहतराई बिलासपुर (bilaspur) में ‘एक्सिलेंस सेन्टर’ प्रारंभ होने जा रहा है। खेल एवं युवा कल्याण विभाग के द्वारा खेलो इंडिया योजना के तहत रायपुर में आवासीय हॉकी अकादमी (बॉय एंड गल्र्स) तथा बिलासपुर में एथलेटिक, कुश्ती एवं तैराकी के लिए ‘एक्सिलेंस सेन्टर’ का प्रस्ताव भारतीय खेल प्राधिकरण को प्रेषित किया गया था, जिसकी स्वीकृति प्राप्त हो गई है।

राज्य के युवाओं की खेल प्रतिभाओं को निखारने और उन्हें उपयुक्त प्रशिक्षण की व्यवस्था के लिए ‘गढ़बो नवा छत्तीसगढ़’ (CM Bhupesh Baghel) को खेल के क्षेत्र में साकार करने के प्रयास अब मूर्तरूप लेते जा रहे हैं। इसके पूर्व खेल एवं युवा कल्याण विभाग के द्वारा तीरंदाजी के लिए भारतीय खेल प्राधिकरण को प्रस्ताव भेजा गया था, जिसकी स्वीकृति भी प्राप्त हो गई है।

वर्तमान में रायपुर में तीरंदाजी का प्रशिक्षण खिलाडियों को दिया जा रहा है। “वन स्टेट वन गेम” (One state one game) के तहत रायपुर में तीरंदाजी खेल के विकास की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। रायपुर में आवासीय हॉकी अकादमी तथा बिलासपुर में एथलेटिक, कुश्ती एवं तैराकी के लिए “एक्सिलेंस सेन्टर’ की मान्यता मिलने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और खेल मंत्री उमेश पटेल ने युवा खिलाडियों, खेल प्रशिक्षकों और राज्य के खेल और युवा कल्याण विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *