CM Bhupesh ने मप्र, ओडिशा, झारखंड का हवाला देकर पीएम मोदी से की ये अपील

cm bhupesh baghel, pm narendra modi, chhattisgarh, garib kalyan yojana, request, navpradesh,

cm bhupesh baghel request pm narendra modi

रायपुर/नवप्रदेश। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (cm bhupesh baghel) ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (pm narendra modi) को एक और चिट्‌ठी लिखी है। इस चिट्‌ठी में मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) राज्य को ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ (garib kalyan yojana) में तत्काल शामिल करने का अनुरोध (request) किया है।

उन्होंने लिखा कि योजना में सम्मिलित मध्यप्रदेश, झारखण्ड एवं ओडिशा, छत्तीसगढ़ के पड़ोसी राज्य हैं, लेकिन छत्तीसगढ़ को छोड़ दिया गया है जबकि सम्मिलित इन राज्यों की भौगोलिक, आर्थिक एवं सामाजिक स्थितियों में काफी समानता है।

उन्होंने (cm bhupesh baghel) प्रधानमंत्री मोदी (pm narendra modi) को पत्र में लिखा है कि ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ (garib kalyan yojana) में छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) के सभी जिलों को शामिल करने से राज्य के सभी प्रवासी श्रमिकों के जीवकोपार्जन के लिए उनकी रुचि एवं कौशल के अनुरूप रोजगार व स्वरोजगार के अवसर प्राप्त हो सकेंगे।

बघेल ने पत्र में लिखा है कि भारत सरकार द्वारा प्रवासी कामगारों को आजीविका के अवसर प्रदान करने के लिए 20 जून को बिहार के खगडिय़ा जिला से देश के 6 राज्यों के 116 जिलों में ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ का शुभारंभ किया गया है, जिसमें बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान, झारखण्ड एवं ओडिशा राज्य को शामिल किया गया है।

गरीबों, कृषि मजदूरों, प्रवासी श्रमिकों में भारी निराशा

बघेल ने लिखा है कि राज्य के लगभग तीन-चैथाई क्षेत्र अत्यंत पिछड़े एवं वन क्षेत्र हंै, जहां पर राज्य के लगभग 80 प्रतिशत अनुसूचित जाति, जनजाति एवं पिछडे वर्ग के लोग निवासरत हैं। राज्य की लगभग 90 प्रतिशत जनसंख्या कृषि एवं सामान्य मजदूरी पर निर्भर है, जो सामान्यत: असंगठित क्षेत्र, कृषि मजदूर एवं सीमांत कृषक हैं। बस्तर, सरगुजा संभाग सहित अन्य संभागों में आदिवासी वर्ग की बहुलता है साथ ही छत्तीसगढ़ में दस आकांक्षी जिले भी हैं।

‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ में छत्तीसगढ़ को सम्मिलित नहीं किये जाने से यहां के गरीबों, कृषि मजदूरों, प्रवासी मजदूरों एवं सीमांत किसानों में अत्यंत निराशा का भाव है। उपरोक्त दृष्टि से राज्य वापस लौटे प्रवासी श्रमिकों के साथ-साथ राज्य में निवासरत मजदूरों को भी तत्कालिक रूप से रोजगार उपलब्ध कराना प्राथमिक आवश्यकता है।

त्वरित निर्णय की जताई उम्मीद

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने प्रधानमंत्री मोदी से अनुरोध (request) करते हुए लिखा है कि छत्तीसगढ़ राज्य के समस्त जिलों को ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ में तत्काल शामिल किया जाये ताकि राज्य के सभी प्रवासी श्रमिकों के जीवकोपार्जन के लिए उनकी रूचि एवं कौशल के अनुरूप रोजगार व स्वरोजगार के अवसर प्राप्त हो सकें। मुख्यमंत्री ने विश्वास प्रकट किया है कि इस संबंध में राज्य के प्रवासी मजदूरों के हितार्थ त्वरित निर्णय लिया जाएगा।


Loading...

BUY & SELL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *