छग से राज्यसभा जा रहे फूलोदेवी व केटीएस तुलसी का ऐसा है राजनीतिक सफर, रॉबर्ट वाड्रा…

chhattisgarh rajyasabha election 2020, cg mahila congress chief fulodevi netam, senior lawyer kts tulsi, navpradesh,

chhattisgarh rajyasabha election 2020

नई दिल्ली/रायपुर/नवप्रदेश। छत्तीसगढ़ (chhattisgarh rajyasabha election 2020) समेत छह राज्यों के राज्यसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने गुरवार को अपने प्रत्याशियों के नामों का ऐलान कर दिया है।

छत्तीसगढ़ (chhattisgarh rajyasabha election 2020) से प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम (cg mahila congress chief fulodevi netam) तथा सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील केटीएस तुलसी (senior lawyer kts tulsi) को उम्मीदवारी दी गई है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इनके नामों को अपनी मंजूरी प्रदान की है। उल्लेखनीय है कि अप्रैल माह में छत्तीसगढ़ कोटे की राज्यसभा की दो सीटें रिक्त होने जा रही है।

13 मार्च की खबर : कोरोना : छत्तीसगढ़ में 31 मार्च तक तकनीकी शिक्षा संस्थान भी बंद, स्कूल कॉलेज…

13 मार्च की खबर : शुक्रवार को और 3500 अंक गिरा सेंसेक्स, ट्रेडिंग करनी पड़ी बंद

corona effect: 10 रु. किलों में भी नहीं बिक रहा चिकन, जंगल में छोड़ दी 500 मुर्गियां

इन दो सीटों पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा तथा भाजपा के रणविजय सिंह जूदेव का कार्यकाल समाप्त होने जा रहा है। विधानसभा में कांग्रेस के संख्या बल को देखते हुए इस बार दोनों ही सीटें कांग्रेस के खाते में आना तय माना जा रहा है।

कांंग्रेस में वोरा के कद को देखते हुए प्रदेश के सियासी हल्कों में पहले चर्चा थी कि कांग्रेस वोरा को फिर से संसद के उच्च सदन भेज सकती है। लेकिन गुरुवार की शाम को एआईसीसी की ओर से जारी सूची ने इन अटकलों पर विराम लगा दिया।

जनपद पंचायत, जिपं अध्यक्ष तथा विधायक भी रह चुकीं फूलोदवी

फूलोदेवी नेताम (cg mahila congress chief fulodevi netam) कांग्रेस में बस्तर का चर्चित आदिवासी चेहरा है। वे जनपद पंचायत, जिला पंचायत अध्यक्ष रहने के साथ ही विधायक भी रह चुकी हैं। पिछले लोकसभा चुनाव मेंं कांकेर से चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गईं। फूलोदेवी की प्रदेश की महिलाओं मेंं अच्छी पकड़ मानी जाती है।

रॉबर्ट वाड्रा का भी केस लड़ चुके केटीएस तुलसी

केटीएस तुलसी (senior lawyer kts tulsi) देश की कई जानी-मानी हस्तियों के केस लड़ चुके हैं। वे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा का भी केस लड़ चु़के हैं। उन्होंने दिल्ली उपहार सिनेमा अग्रिकांड मामले के पीडि़तों की भी पैरवी की है।
केटीएस तुलसी राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं। वर्ष 2014 के फरवरी में केंद्र की तत्कालीन यूपीए सरकार की अनुशंसा पर तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उन्हें राज्यसभा के लिए नॉमिनेट किया था।

अन्य पांच राज्यों से इन्हें मिली उम्मीदवारी

कांग्रेस ने पहली सूची में झारखंड से शाहबाज अनवर, मध्य प्रदेश से दिग्विजय सिंह तथा फूल सिंह बरैया, महाराष्ट्र से राजीव सातव, मेघालय से केनेडी कोर्नेलियस ख्याम तथा राजस्थान से केसी वेणुगोपाल तथा नीरज डांगी को उम्मीदवारी दी है।

” width=”20″ height=”20″>

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *