Chhattisgarh Assembly Budget Session : अजय चंद्राकर ने संभाला मोर्चा- दो दर्जन से अधिक सरकार के महत्वकांक्षी योजनाओं पर जमकर बोले...

Chhattisgarh Assembly Budget Session : अजय चंद्राकर ने संभाला मोर्चा- दो दर्जन से अधिक सरकार के महत्वकांक्षी योजनाओं पर जमकर बोले…

रायपुर,  नवप्रदेश। विधानसभा के बजट सत्र के चौथे दिन राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान विपक्ष की ओर से भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने मोर्चा संभाला। उन्होंने सरकार की करीब दो दर्जन से अधिक योजनाओं पर हमलावर नजर (Chhattisgarh Assembly Budget Session) आए।

उन्होंने कहा कि राजीव मितान क्लब के नाम पर बड़ा खेला हो गया है। छत्तीसगढ़ ओलम्पिक में खेलते-खेलते तीन खिलाड़ियों की मौत हो गई, लेकिन आयोजन किसने कराया ये मालूम नहीं। खेलो इंडिया, छत्तीसगढ़ ओलंपिक में खेला होबे हुआ। छत्तीसगढ़ की भावना को सरकार ने मजाक बनाकर रख दिया है।

अजय चंद्राकर ने कहा कि सुराजी गांव योजना है लेकिन ये योजना क्या काम करती है, क्या मापदंड है, ये बताए कांग्रेस। नरवा, गरुवा, घुरुवा और बारी योजना के लिए बड़ी बातें हुई, पर इसमें क्या हुआ। मुख्यमंत्री की फ्लेगशिप योजना के लिए बजट तक नहीं है। यह योजना किस विभाग की योजना है? वहीं रोका-छेका अभियान पर सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि केवल दो-तीन डंडा कलेक्टर को पकड़ा देने से रोका-छेका अभियान नहीं हो (Chhattisgarh Assembly Budget Session)  जाता।

भाजपा विधायक चंद्राकर ने कहा कि सरकार ने आदिवासी नृत्य कराया। कांग्रेस के नेता की एजेंसी को नौ करोड़ रुपये का भुगतान किया गया। पेसा क़ानून लागू करने का श्रेय कौन ले रही है। पेसा का क्या हाल है? इस पर खुली चर्चा करा ली जाये।

आदिवासियों से षड़यंत्र का आरोप लगाते हुए कहा कि सुकमा, बीजापुर, दंतेवाड़ा में आदिवासी लड़कियों से शादी कर बाहरी लोगों के जमीन खरीद रहे हैं। इस पर सरकार जांच करा ले। इसके साथ पेसा के तहत ग्रामीणों को दिए गए अधिकार पर सरकार से सवाल (Chhattisgarh Assembly Budget Session)  किया।

अजय चंद्राकर ने कहा कि (कांग्रेस) अधिवेशन के समय 20 क्विंटल जो गुलाब बिछा था। वह व्यक्ति पूजन के लिए था। यह सरकार पूर्ण तरीक़े से दिवालिया हो गई है। इस पर आसंदी ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण की जगह आप अधिवेशन पर ही चर्चा कर लें।

चंद्राकर ने कहा कि सरकार कोदो, कुटकी, रागी के समर्थन मूल्य घोषित करने की बात करती है, लेकिन केंद्र सरकार पहले ही इसका समर्थन मूल्य घोषित कर चुकी है। सीएम भूपेश बघेल ने अजय चंद्राकर के भाषण की प्रशंसा करते हुए कहा कि आज बिना बहके सही दृष्टि से बात रख रहे हैं।

केंद्र सरकार केवल रागी को ही समर्थन मूल्य दे रही है, जबकि कोदो-कुटकी के समर्थन मूल्य की मांग हमने केंद्र सरकार से की है। असली बोनस का लाभ सरकार के लोगो को मिल रहा।

अजय चंद्राकर ने छत्तीसगढ़ में भाजपा कार्यकाल के साथ-साथ कांग्रेस के कार्यकाल में हुए वृक्षारोपण की सोशल ऑडिट कराने की मांग की। उन्होंने कहा कि जितने पौधे लगाए गये हैं, उतने से राज्य में 100% वन हो जाता।

JOIN OUR WHATS APP GROUP

डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed