पूर्व CM kamalnath पर BJP उपाध्यक्ष का बड़ा हमला, बताया चीन का…

BJP, Vice President Prabhat Jha, former Chief Minister Kamal Nath, Accused of speaking, big attack,

BJP Vice President Prabhat Jha former Chief Minister Kamal Nath

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी (BJP) उपाध्यक्ष प्रभात झा (Vice President Prabhat Jha) ने आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (former Chief Minister Kamal Nath) पर बड़ा हमला बोलते हुए आरोप लगाया (Accused of speaking big attack) कि उन्होंने केंद्र में वाणिज्य और उद्योग मंत्री रहते हुए चीन के हित में कार्य किया है।

श्री झा ने यहां मीडिया से चर्चा में कहा कि इस संबंध में खुलासा हुआ है और यह ‘ऑन रिकार्ड’ है। इससे जुड़े दस्तावेज भी सामने आए हैं। श्री झा ने कहा कि चीन के साथ भारत की तनातनी के बीच वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी चीन की भाषा क्यों बोल रहे हैं, अब यह बात भी समझ में आने लगी है।

श्री झा (Vice President Prabhat Jha) ने कहा ‘जो भी दस्तावेज सामने आए हैं, उनके आधार मैं अपनी भाषा में कहूं कि श्री कमलनाथ चीन का एजेंट बनकर वाणिज्य मंत्री के रूप में कार्य कर रहे थे, तो मुझे कोई दुख नहीं होगा। पूर्व राज्यसभा सांसद श्री झा ने कहा कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और भारत की पार्टी कांग्रेस के बीच बहुत सारी बातों का समझौता होता है।

इसी क्रम में एक समझौता हुआ कि भारत में जो सामान सहजता से उपलब्ध है, उसका आयात बढ़ाया जाए। ऐसी 250 वस्तुएं चिंहित की गयीं, जिनका आयात करने का तय हुआ। इसके अलावा आयात कर भी 100-200 प्रतिशत से घटाने का भी तय हुआ।

श्री झा (Vice President Prabhat Jha) ने आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसा करने से चीन को जो लाभ हुआ, उसके पैसे से कांग्रेस की मदद की गयी और पैसा राजीव गांधी फाउंडेशन में भी भेजा गया। यह एक नेशनल क्राइम है। और इसके जिम्मेदार उस समय के केंद्रीय वाणिज्य मंत्री हैं। श्री झा ने कहा कि अब इस बारे में श्री कमलनाथ को स्थिति स्पष्ट करना चाहिए।

वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि यदि ऐसा नहीं किया गया तो हम लोग गांव गांव में इस संबंध में बताएंगे और यह भी बताएंगे कि श्री गांधी चीन की भाषा क्यों बोल रहे हैं। फाउंडेशन में कितने पैसे और क्यों आते रहे। श्री कमलनाथ तत्कालीन मनमोहन सिंह सरकार में वर्ष 2004 से 2009 तक केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री थे।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *