BIRD FLU EFFECT : चिकन-अंडे को लेकर केंद्र की संस्था ने जारी किए ये दिशा-निर्देश

Bird Flu Effect, FSSAI guideline for eating chicken and egg, navpradesh,

bird flu effect

Bird Flu Effect : जिन इलाकों में बर्ड फ्लू फैला हुआ है वहां से पॉल्ट्री उत्पाद लाकर नहीं बेचा जाना चाहिए

नई दिल्ली/ए.। Bird Flu Effect : भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं संरक्षा प्राधिकरण (FSSAI) ने देश में बर्ड फ्लू के मद्देनजर आज दिशा-निर्देश जारी किये हैं। इनमेंं कहा गया है कि यदि कुछ सावधानियां बरती जायें तो पॉल्ट्री मीट और अंडे खाने में संक्रमण का खतरा नहीं है।

दिशा-निर्देश में कहा गया है कि जिन इलाकों में बर्ड फ्लू (Bird Flu Effect) फैला हुआ है वहां से पॉल्ट्री उत्पाद लाकर नहीं बेचा जाना चाहिए। साथ ही ग्राहकों को भी चाहिए कि ऐसे पॉल्ट्री उत्पाद न खरीदें।

इसके अलावा जिंदा पॉल्ट्री और कच्चे मांस को हैंडल करने वाले लोगों को भी हाथों में दस्ताने और चेहरे पर मास्क पहनने चाहिये तथा साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। उपभोक्ताओं को कहा गया है कि वे खरीदकर लाने के बाद मांस को धोते और पकाते समय सावधानी रखें। मांस को पानी का नल चलाकर उसके नीचे नहीं धोना चाहिए। इस दौरान हाथों में दस्ताने लगाने चाहिए।

अच्छे से उबालने पर मर जाता है बर्ड फ्लू का वायरस :

एफएसएसएआई ने बताया कि पकाने के दौरान पूरी तरह से उबालने पर बर्ड फ्लू का वायरस अपने-आप मर जाता है, इसलिए पके हुये मांस से संक्रमण का खतरा नहीं रहता। पकाने के बाद मांस या अंडे को उसी बर्तन में न रखें जिसमें उन्हें पकाने से पहले रखा गया था।

Loading...

BUY & SELL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *