अपहृत विराट को खोजने पुलिस की स्पेशल टीम बनी - Navpradesh

अपहृत विराट को खोजने पुलिस की स्पेशल टीम बनी

झारखंड, उत्तरप्रदेश भेजी गई टीम, डीजीपी की बनाई टीम शहर पहुंची

नवप्रदेश संवाददाता
बिलासपुर। बर्तन व्यापारी के बेटे के अपहरणकर्ता दो दिन बीत जाने के बाद भी गिरफ्त से बाहर हैं। पुलिस महानिदेशक दुर्गेश माधव अवस्थी घटना को अति गंभीर मानते हुए जांच के लिए विशेष टीम बनाई है। यह टीम शाम को बिलासपुर पहुंच गई। वहीं अपहर्ताओं की तलाश में झारखंड और उत्तरप्रदेश में भी पुलिस की टीम भेजी गई है। आरोपियों तक पहुंचने पुलिस के समक्ष कड़ी चुनौती बनी है।
करबला रोड भाजपा कार्यालय के सामने अपने घर से कुछ ही दूरी पर खेल रहे बर्तन व्यापारी का पुत्र विराट का अपहरण हो जाने की घटना से शहर के नागरिक स्तब्ध हैं, क्योंकि अपहरणकर्ताओं ने भीड़ में घटना को अंजाम दिया है, जो काफी चौकाने वाला है। अपहरण के बाद पुलिस निरंतर अपराधियों तक पहुंचने पूरी ताकत लगा दी है, किंतु ऐसा कोई क्लू हाथ नहीं लगा है, जिससे पुलिस को तलाशने में आसानी हो। सीसीटीवी फुटेज है भी तो आरोपियों की पहचान नहीं हो पा रही है। अपहण की घटना को सुलझाना चुनौती बन गई है। जिस पर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक श्री अवस्थी ने अलग से पुलिस की टीम गठित कर दी है जो आज शाम बिलासपुर पहुंच गई। वहीं झारखंड, उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश भी पुलिस बल रवाना किया गया है। टीम के इन राज्यों में जाने की वजह अधिकारी बताने से साफ मनाकर रहे हैं किन्तु अनुमान लगाया जा रहा है आरोपियों की मुखबिरों से सूचना मिली है।
नवप्रदेश से चर्चा करते हुए पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने कहा कि अपराधियों को पकडऩे निरन्तर प्रयास जारी है। टीम विराट को तलाशने कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। जल्द ही अपहरणकर्ता हिरासत में होंगे। अपहरणकर्ता द्वारा परिजनों को फोन कर विराट की सिसकने की आवाज वाली बात को नकारते हुए कहा बर्तन व्यापारी विवेक सराफ भी लगातार वाट्सएप फेसबुक अन्य साइड पर बच्चे की अपहरण की जानकारी मोबाइल नंबर अपडेट कर रखे हंै जिस नम्बर से अपहरणकर्ताओं के फोन करने की बात कही गई, उसे ट्रेस कर जांच किया जो गतल था। फोन उठाने वाले युवक को गतलफहमी हुई थी।
अपहरण की वजह स्पष्ट नहीं
तीसरे दिन भी विराट का पता नहीं चल पाया है न ही अपहरणकर्ताओं की ओर द्वारा फोन कर रकम की डिमांड की गई। आखिर विराट के अपहरण की वजह समझ से परे है। आखिर अपराधियों की मंशा क्या है या फिर पुलिस के हत्थे चढऩे के भय से खामोश है। आखिर किस हाल में होगा विराट यह चिंता परिजनों को सत्ता रही है, जिसके सकुशल लौटने की प्रार्थना करते हुए मन्नत मांग रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

COVID-19 LIVE Update