चौकी प्रभारी का कार्यभार संभालते ही राइसमील संचालक को धमकाया,कहा- रकम..

Bastar District Police, Out of charge, post Rismail, threatened the operator, said amount,

Bastar District Police

-कई मामलों में विवादित चौकी प्रभारी ने सरेआम राइसमिलर को धमकाया

जगदलपुर। बस्तर जिला पुलिस (Bastar District Police) को उनके कर्तव्यपरायणता के लिए जाने,जाने के कारण कई बार छतीसगढ़ डीजीपी के निर्देष पर जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला पुलिस को सम्मानित किया गया। जिले के समस्त थानों के अलावा चौकी प्रभारी भी अपने पुलिस अधीक्षक द्वारा दिये गए दिशा निर्देश का पालन कर “परित्राणाय साधुनाम” को चरितार्थ करने में जुटे है।

लेकिन 20 दिन पहले आए बकावंड पुलिस चौकी में नवनियुक्त प्रभारी की हरकत से इस पुलिस चौकी के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत के व्यवसायी, सरकारी कर्मचारी के अलावा आम आदमी काफी परेशान है। 

मिली जानकारी के अनुसार सरगीपाल विकासखंड बकावंड के राइस मिल संचालक इरफान अघाड़ी के राइस मिल स्थित आवास पर बकावंड चौकी प्रभारी द्वारा दल बल समेत पिछले 11 अक्टूबर को दबिश देकर पूछा गया कि यहां पीडीएस की चावल उतरती है। वह कहां से और कितनी मात्रा में आता है। उसकी जानकारी मुझको चाहिए।

लेकिन राइस मिल संचालक द्वारा जब उसे अपने राइस मिल के विगत 2 वर्ष से बंद होने की बात बताई गई तब चौकी प्रभारी द्वारा लगभग उसे धमकाने के अंदाज में गालियां बकते हुए उससे सब जानकारी बताने की बात पूछी गई।

 लेकिन राइस मिल संचालक के इस मामले पर अपनी अनभिज्ञता जाहिर करने पर उक्त चौकी प्रभारी ने सीधे-सीधे कहा कि शायद तुम मुझे जानते नहीं हो मेरा नाम टिल्लू सिंह है। अब केवल मेरी नौकरी के 3 महीने ही बचे हैं। इस कारण तुम मुझे हर महीने एक निश्चित रकम भिजवा दिया करो ।

वर्ना मैं तुम्हारी वह हालत करूंगा कि तुम्हारे सात पुस्ते भी याद रखेगी। बकावंड चौकी प्रभारी (Bastar District Police) के इस प्रकार के तुगलकी फरमान से अचंभित राइस मिल संचालक द्वारा बार-बार समझाने का प्रयास किया गया। उन्होंने चौकी प्रभारी को यह भी बताया कि पिछले 2 वर्ष से पंचायत वासियों की शिकायत पर कि राइस मिल से निकलने वाले धुँए एवं उसके प्रदूषण से परेशानी हो रही है।

इस कारण प्रशासकीय आदेश पर हमने राइस मिल का संचालन बंद रखा है। साथ ही साथ उसने चौकी प्रभारी (Bastar District Police) को मिल बंद रखने के कागजात समेत अन्य कई कागजात भी दिखाए। लेकिन अपनी बात से पीछे न हटने पर तैयार उक्त थाना चौकी प्रभारी द्वारा राइस मिल संचालक को यह धमका कर उसे समझाने का प्रयास किया गया।कि तुम्हें मैं आज आखिरी बार समझा रहा हूं। इसके बाद तुम अपने अगले होने वाले हश्र पर खुद जिम्मेदार होंगे।


बकावंड चौकी प्रभारी की सरेआम अपने परिवार के समक्ष धमकी से घबराए राइस मिल संचालक द्वारा एक पत्र अपने द्वारा जिला पुलिस अधीक्षक के संबोधन से ,थाना भानपुरी, चेंबर ऑफ कॉमर्स जगदलपुर के साथ ही विधायक व बस्तर कलेक्टर को सौपकर अपने परिवार एवं स्वयं की सुरक्षा की मांग की गई है।

बस्तर जिला पुलिस (Bastar District Police) के कुछ अधिकारी जो अब इस जिले से ताल्लुक नहीं रखते हैं। उनका कहना है कि इस पुलिस चौकी के सिपाही एवं प्रभारी को कई बार मामले में अच्छी पहल कर सुलझाने के लिए अवार्ड दिया जा चुका है। इस चौकी के प्रभारी एवं अन्य कर्मचारियों को क्षेत्र की जनता सम्मान के साथ सहयोग भी करती है। 

ऐसे में इस प्रकार के एक पूर्व में कई बार कई मामले में निलंबित के साथ-साथ बदनाम पुलिस निरीक्षक की नियुक्ति इस प्रतिष्ठित चौकी में किस आधार पर जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा की गई। यह तो मामले की जांच के बाद सामने आएगा।

किंतु इस चौकी प्रभारी द्वारा अपने लाइन अटैच की समाप्ति के साथ बकावंड चौकी प्रभारी की कमान संभालते ही 2 दिन के पश्चात ही सरेआम एक व्यापारी के मिल में घुसकर धमकी देकर और मामले में फंसा देने की धमकी देकर वसूली करने की घटना क्षेत्र में कई शंकाओं को जन्म दे रहा है।

Loading...

BUY & SELL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *