Ayodhya: मुस्लिम पक्ष के वकील ने फाड़ दिया हिंदू पक्ष का नक्शा - Navpradesh

Ayodhya: मुस्लिम पक्ष के वकील ने फाड़ दिया हिंदू पक्ष का नक्शा

ayodhay vivad, hearing, muslim party, rajiv dhavan, map, tear, navpradesh,

supreme court and advocate rajiv dhavan

  •  सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के आखिरी दिन सामने आई वरिष्ठ वकील धवन की बौखलाहट
  • जजों के सामने ही कर दिए उस नक्शे के टुकड़े, जिसमें सीता रसोई व राम जन्म स्थान का जिक्र
  • शीर्ष अदालत के इतिहास में बताई जा रही इस प्रकार की पहली घटना

नई दिल्ली/नवप्रदेश। अयोध्या विवाद (ayodhay vivad) पर सुनवाई (hearing) के दौरान बुधवार को मुस्लिम पक्ष (muslim party) के वकील का ड्रामा सामने आया है। मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन (rajiv dhavan) ने नक्शा (map) फाड़ (tear) दिया।

यह नक्शा हिंदू महासभा (hindu mahasbha) की ओर से रखा गया था। हिंदू महासभा के वकील की ओर से यह  नक्शा (map) पहले पांच जजों की बेंच को दिया गया। और बाद में धवन को दिया गया।

धवन (rajiv dhavan) के हाथ में पर्चा आते ही उन्होंने इसे कहते हुए फाड़ दिया कि हम इस मानते ही नहीं, ऐसा कोई रिकॉर्ड ही नहीं है। नक्शे (map) में सीता रसोई व भगवान राम का जन्मस्थान दिखाया गया है। कानून के जानकारों के अनुसार आजाद भारत में यह अपने प्रकार की पहली घटना है।

धवन (rajiv dhavan) के इस रवैये के पीछे माना जा रहा है कि वे मामले की सुनवाई को और लंबा खींचना चाहते हैं। जानकार बताते हैं कि वे अयोध्या विवाद मामले (ayodhya viviad)  में अधिकतर समय बैकफुट पर दिखाई दिए हैं। इसलिए उनकी बौखलाहट सामने आ रही है।

सीजेआई बोले- बस अब बहुत हुआ, शाम 5 बजे तक पूरी होगी सुनवाई

गौरतलब है कि अयोध्या मामले की सुनवाई का आज अंतिम दिन है। सुनवाई शुरू होने से पहले सीजेआई रंजन गोगोई ने भी कहा था कि बस अब बहुत हुआ। आज शाम पांच बजे तक रोजाना सुनवाई का क्रम खत्म हो जाएगा। हिंदू महासभा की ओर से हस्तक्षेप के लिए दायर याचिका को खारिज करते हुए यह बात कही थी। हिंदू महासभा की ओर से जिरह के लिए अधिक समय की मांग करते हुए यह अर्जी लगाई गई थी। मंगलवार को सीजेआई ने यह भी कहा था कि बुधवार इस मामले की सुनवाई का आखिरी दिन होगा।


JOIN OUR WHATS APP GROUP

डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

1 thought on “Ayodhya: मुस्लिम पक्ष के वकील ने फाड़ दिया हिंदू पक्ष का नक्शा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *