Arun Sao Troll : डॉ. रमन सिंह को 'राष्ट्रीय अध्यक्ष' लिखने पर ट्रोल का शिकार हुए प्रदेश अध्यक्ष...देखें कमेंट

Arun Sao Troll : डॉ. रमन सिंह को ‘राष्ट्रीय अध्यक्ष’ लिखने पर ट्रोल का शिकार हुए प्रदेश अध्यक्ष…देखें कमेंट

Arun Sao Troll: State President was trolled for writing Dr. Raman Singh as 'National President'...view comment

Arun Sao Troll

रायपुर/नवप्रदेश। Arun Sao Troll : छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी इन दिनों बदलाव के मूड में है। इसकी शुरुआत प्रदेश अध्यक्ष बदलने के साथ हुई है। उसके बाद कल नए नेता प्रतिपक्ष के आने के बाद बदलाव की यह प्रक्रिया जारी रहने की उम्मीद है, अलबत्ता सूत्र तो ऐसा ही कह रहे हैं।

खैर, इधर BJP के नए नवेले प्रदेश अध्यक्ष अरूण साव अपनी पहली ही बैठक में एक ट्वीट की वजह से जबरदस्त ट्रोल हो गये। दरअसल कल भाजपा ने कई अहम बैठक की थी। विधायक दल समेत संगठन की अलग-अलग बैठकों को अरुण साव ने अपने ट्विटर हैंडल में साझा किया था। फिर क्या था, बस वहीं से उनके पोस्ट को लेकर ट्रोलिंग शुरू हो गई।

दरअसल अरूण साव ने जो पोस्ट शेयर किया है उसमें रमन सिंह को (Arun Sao Troll) राष्ट्रीय अध्यक्ष बताते हुए उनके बैठक में मौजूद रहने की बात लिख दी। अरूण साव का ये ट्वीट देखते ही देखते वायरल हो गया। लोग अरूण साव के ट्वीट का स्क्रीन शाट पोस्ट कर ट्रोल करने लगे। कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह समेत पुनेश्वर लहरे ने ट्वीट का स्क्रीन शॉट पोस्ट करते हुए अरूण साव पर तंज कसा है।

आरपी सिंह ने लिखा है- लगता है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनते ही अरूण साव शॉर्ट टर्म मेमोरी लॉस के शिकार हो गए हैं ! अब उन्हें जेपी नड्डा जी की जगह डॉ रमनसिंह⁩ राष्ट्रीय अध्यक्ष नज़र आने लगे हैं । ⁦

ट्रोल के बाद ट्वीट को सुधारा

अरूण साव के उस पोस्ट लगातार वायरल किया (Arun Sao Troll) जाने लगा और ट्रोलर्स लगातार उनके बारे में लिखने लगे। हालांकि बाद में उन्होंने रमन सिंह के राष्ट्रीय अध्यक्ष लिखने में सुधार करते हुए रमन सिंह का पदनाम राष्ट्रीय उपाध्यक्ष लिखकर सुधारा, लेकिन तब तक ये पोस्ट पूरे प्रदेश में वायरल हो चुका था। अब इस इस पोस्ट का स्क्रीन शाट सोशल मीडिया में लगातार शेयर किया जा रहा है।

JOIN OUR WHATS APP GROUP

डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed