2020 for PM Modi and Rahul Gandhi : ऐसा होगा दिग्गजों के लिए नया साल

2020 for pm modi and rahul gandhi, navpradesh,

2020 for pm modi and rahul gandhi

  • वर्ष 2020 में पीएम मोदी की बचैनी में इजाफा पर मजबूत रहेगा हौसला, राहुल गांधी चढ़ेंगे सफलता की सीढ़ी
  • हैरान रह जाएंगे महाराष्ट्र सीएम उद्धव ठाकरे को कमजोर समझने वाले, पवार के विरोधी रहेंगे परेशान

रायपुर/नवप्रदेश। वर्ष 2020 (2020 for pm modi and rahul gandhi) पीएम मोदी व राहुल गांधी समेत अन्य दिग्ग्ज नेताओं के लिए कैसा होगा, यह जानने की उत्सुकता सबमें बनी है ।

rahul gandhi’s statement on savarkar से संकट में महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार

2019 में भी राजनीतिक हल्को में उथल पुथल देखने को मिली। प्रधानमंत्री मोदी (pm modi) के नेतृत्व में भाजपा की पूर्ण बहुमत के साथ केंद्र में पुन: सत्ता स्थापित हुई तो वहीं राहुल गांधी (rahul gandhi) की कांग्रेस की पार्टी को साल के अंतिम महीनों में कुछ सफलता मिलते दिखी। महाराष्ट्र में सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद भाजपा को सत्ता सुख नहीं मिल सका। ये सभी घटनाएं सुर्खियों में बनी रहीं।

Fire in PM House: पीएम आवास में लगी आग, इस वजह से निकली थी चिंगारी

वहीं साल के आखिरी में भाजपा के हाथ से झारखंड की सत्ता भी चली गई। महाराष्ट्र की राजनीतिक उठापटक तो देश से लेकर विदेशी मीडिया तक चर्चा में रही। अब नया साल 2020 (2020 for pm modi and rahul gandhi) पीएम मोदी, कांग्रेस सांसद राहुल गांधी समेत 2019 में अपने राजनीतिक चाल से चौंकाने वाले नेताओं के लिए कैसा रहेगा। इसके बारे में बता रहे हैं सद्गुरु स्वामी आनंदजी …

Rahul Gandhi और प्रियंका गांधी को मेरठ पुलिस ने रोका

पीएम नरेंद्र मोदी: बेचैनी, उदासी पर हौसले में कमी नहीं

पीएम मोदी जनवरी, 2011 से भाग्येश चंद्रमा की महादशा भोग रहे हैं, जो उनके जीवन काल की श्रेष्ठ दशाओं में से एक है। इस शुक्र की अंतर्दशा में शनि का प्रत्यंतर भोग रहे हैं जो बेचैनी, तनाव और उदासी का सबब बनेगा। पर उनके हौसले में कमी के संकेत नहीं मिल रहे हैं। 22 मार्च 2020 तक का कालखंड मोदी की पेशानी पर कुछ सिलवटें ला सकता है। इसके बाद जब बुध का प्रत्यंतर शुरू होगा, थोड़ी राहत मिलेगी।

राहुल गांधी: कामयाबी की शुरुआत, बड़े पद के लाभ के आसार भी

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को 24 जनवरी 2020 के शनि के गृह परिवर्तन से शनि की साढ़ेसाती से मुक्ति का उन्हें अवश्य लाभ मिलेगा। वे 2020 में देश की राजनीति में अपनी उपस्थिति पुन: दर्ज कराने में कामयाब हो जाएंगे। 29 अप्रैल 2023 के बाद वे आंधी की तरह छा जाएंगे। उन्हें जीवन में एक बार बड़े पद का लाभ मिलने के भी आसार हैं।

महाराष्ट्र सीएम उद्धव ठाकरे : हैरान रह जाएंगे कमजोर समझने वाले

शिवसेना अध्यक्ष व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री तथा दशकों तक मराठी अस्मिता के झंडाबरदार रहे बालासाहेब ठाकरे के पुत्र उद्धव ठाकरे को नए साल में उत्तम फल प्राप्ति के आसार हैं। 10 फरवरी 2020 के बाद से इनके तनाव में कुछ वृद्धि के संकेत हैं। 25 मार्च के बाद उद्धव ठाकरे और मजबूत होते दिखाई देंगे। उद्धव को दो दलों की बैसाखी पर कमजोर समझने वाले हतप्रभ रह जाएंगे और मुंह की खाएंगे। आने वाला साल उद्धव ठाकरे को नए तनाव, नए रंग, नया कलेवर व कार्य की अधिकता के आनंद से नवाज रहा है।

शरद पवार: विरोधियों के लिए बन सकते हैं बेचैनी का सबब

महाराष्ट्र के सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री का रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके एनसीपी प्रमुख शरद पवार के लिए 2022 से 2025 का काल राजनीतिक लिहाज से उनके सबसे उत्तम कालखंडों में से एक होगा। 2020 में 25 मार्च से 2 अक्टूबर तक समय इनके लिए चैन और इनके विरोधियों के लिए बेचैनी का सबब बनेगा।

देवेंद्र फडणवीस: संघर्ष और परीक्षा अभी और बाकी

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम के लिए अगला साल पेशानी पर चिंता भरा रह सकता है। यह वर्ष उनके जीवन में चिंता की लकीर उकेरकर उनका मन उदास करेगा। उनके राजनीतिक जीवन में संघर्ष के निशां और भी हैं। उनके राजनीतिक जीवन में परीक्षाएं अभी और बाकी हैं। लेकिन वे उन्हें हारकर थका मानना भूल होगी।

नीतीश कुमार: रसूख के साथ ही बढ़ सकता है तनाव

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के रसूख के साथ ही तनाव में वृद्धि होगी। उन्हें साढ़ेसाती से मुक्ति का आनंद 2020 में महसूस होगा। वह इस समय भाग्य में बैठे राहु की महादशा में बुध का अंतर भोग रहे हैं।

यह योग कौशल और चतुराई में वृद्धि करता है। 6 मार्च तक ये बुध में बुध के प्रत्यंतर में रहेंगे, जो सामान्य फल देगा। 30 अप्रैल 2020 तक यह केतु के प्रत्यंतर में होंगे, जो मामूली तनाव का सबब बनेगा। 2 अक्टूबर 2020 तक शुक्र का प्रत्यंतर चलेगा, जो शुभ फल प्रदायक है। 19 नवंबर 2020 तक सूर्य का प्रत्यंतर होगा, जो रसूख के साथ तनाव में भी वृद्धि करेगा। उसके पश्चात वर्ष के अंत तक चंद्रमा का प्रत्यंतर होगा, जो हानिकारक है (ए.)

 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *