बहनों के आशीष से आने वाला कल सुखमय होगा: डॉ. रमन

Sharing it

दुर्ग,(नवप्रदेश)। दुर्ग जिले के पंडित रविशंकर स्टेडियम में आज लगभग 15 हजार महिलाओं ने एक साथ पारम्परिक सुआ नृत्य कर विश्व कीर्तिमान स्थापित किया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मौजदूगी में हुए इस कार्यक्रम को Óगोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्डÓ में शामिल किया गया और कार्यक्रम की संयोजक पूर्व सांसद सुश्री सरोज पाण्डेय को विश्व कीर्तिमान का प्रमाण पत्र भी सौंपा गया। स्टेडियम में छत्तीसगढ़ के लोक नृत्य सुआ को लगभग 15 हजार महिलाओं ने 11 मिनट तक लगातार किया। इसके बाद गोल्ड बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड के एशिया प्रमुख डॉ. मनीष बिशनोई ने इसके विश्व कीर्तिमान बनने की घोषणा की। प्राप्त प्रमाण पत्र को कार्यक्रम की संयोजक सुश्री सरोज पाण्डेय ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को सौंपा।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस कीर्तिमान पर दुर्ग सहित पूरे छत्तीसगढ़ वासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर डॉ. सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ के पारम्परिक सुआ नृत्य को इस आयोजन से विश्व स्तर पर नई पहचान मिली है और दुर्ग जिले से इसकी शुरूआत के लिए सभी बधाई के पात्र है। उन्होंने कहा कि सुआ नॉच के बाद उपस्थित 15 हजार बहनों का आशीष उन्हें मिला है और बहनों का भाई को दिया आशीष कभी खाली नहीं जाता। डॉ. सिंह ने कहा कि बहनों के इस आशीष से आने वाला कल और बेहतर होगा, दुर्ग ही नहीं पूरा छत्तीसगढ़ विकास की नई बुलंदियां छुएगा। कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री श्री विष्णुदेव साय, जिले के प्रभारी मंत्री श्री राजेश मूणत, महिला एंव बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, स्वास्थ्य मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, खाद्य मंत्री श्री पुन्नू लाल मोहले, उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री श्री दयालदास बघेल, वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, राज्यसभा सदस्य श्री रामविचार नेताम, पद्मश्री श्रीमती तीजन बाई, महिला आयोग के अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पाण्डेय, महापौर दुर्ग श्रीमती चंद्रिका चन्द्राकर, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती माया बेलचंदन, विधायक अहिवारा श्री सांवला राम डाहरे, विधायक वैशाली नगर श्री विद्यारतन भसीन, पूर्व मंत्री श्री हेमचंद यादव, सहित श्री अवधेश चंदेल, श्रीमती उषा टावरी, श्रीमती रजनी रजक, श्रीमती विभाराव, लोककलाकार श्री तरूण निषाद और बड़ी संख्या में लोक कलाकार भी शामिल हुए।

Sharing it

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *