खास है गणेश पूजा

Sharing it

जांजगीर-चांपा (नवप्रदेश)। दस दिवसीय गणेश उत्सव शुरू हो गया है वैसे भी गणपति का दिन कहा जाता है जो इस समय और भी विशेष हो जाता है अत उनकी पूजा कर आशीष लेना ना भूलें।
श्री गणेश की विधिवत पूजा करने के बाद गुड़ और घी का भोग लगाएं। थोड़ी देर के बाद ये भोग गाय को खिला दें। इसे व्यक्ति को विशेष फल की प्राप्ति होगी। इस दिन यदि घर में श्रीगणेश की सफेद रंग की प्रतिमा स्थापना करें तो इसे अत्यंत शुभ माना जाता है। सफेद मोदक का प्रसाद चढ़ाना और ग्रहण करना भी ना भूलें। इससे घर में और मन में शांति बनी रहेगी। कहते हैं दिन गणेश जी को शमी के पत्ते अर्पित करने से तीक्ष्ण बुद्धि होती है। इसके साथ ही ग्रह कलह का भी नाश होता है। इसके अलावा लंम्?बोदर पर लाल सिंदूर और बूंदी के लड्डू भी अर्पित करें। जिला मुख्यालय में इन दिनों गणेशोत्सव की धूम मची है। चतुर्थी में विराजे गणपति की पूजा अर्चना शुरु हो गई है। भारी बारिश के बीच विधि विधान के साथ गणेश जी पंडालों में विराजित किये गये । इसके अलावा नहर पुल सहित जांजगीर नैला में विभिन्न समितियों द्वारा गणपति प्रतिमांए स्थापित की गई है। इस दिन कुछ सरल उपाय करने से व्यक्ति की बाधाए संकटए रोगए और दरिद्रता दूर हो जाती है। अत गणेश उत्सव के दस दिनों में पडऩे वाले इस बुधवार का लाभ उठायें और विधि विधान से पूजा कर विनायक को प्रसन्न करें। इस दिन सुबह उठकर स्नानादि कार्यों से निवृत होकर अगर आपने घर पर गणपति की स्थापना की है तो घर पर ही नहीं तो गणेश जी के मंदिर में जाकर दूर्वा की 11 या 21 गांठें अर्पित करें। इसके अलावा बार.बार असफलता हाथ लगती हैए तो बुधवार से श्रीगणेश के मंत्र का जाप शुरु कर दें।

Sharing it

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *