nav Pradesh logo

जड़ से खत्म कर देगी गठिया रोग को यह चाय, यूं बनाकर पीएं

Date : 11-Jul-18

News image
News image
<

आजकल लोग कई तरह की हैल्थ प्रॉब्लम से परेशान हैं। उन्ही में से एक है गठिए की समस्या। इस प्रॉब्लम के कारण इंसान को लंबे समय तक जोड़ों के दर्द से परेशान रहना पड़ता है। जब शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाती है तो गठिया की समस्या होने लगती है। यूरिक एसिड कई प्रकार के आहारों को लेने से होता है। गठिया रोग होने पर जोड़ों में सूजन दिखाई देने लगती है। इसके साथ ही चलने-फिरने या हिलने-डुलने में भी परेशानी होने लगती हैं। इस समस्या से राहत पाने के लिए लोग कई तरह की दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं। मगर फिर भी कोई फायदा नहीं होता। एेसे में आज हम आपको एक खास नुस्खा जो हमेशा के लिए इस रोग से छुटकारा दिलाने का काम करेगा। वह नुस्खा है पपीते की चाय।   पपीते की चाय गठिया रोग में बहुत ही हैल्पफूल है। इसे नियमित पीने से गठिया के दर्द से भी राहत मिलती है और हड्डियां भी मजबूत होती हैं। आज हम आपको पपीते की चाय बनाने का तरीका बताएंगे। तो आइए जानते हैं कैसे पपीते की चाय बनाकर पी सकते हैं। 

 चाय बनाने के लिए सामग्री

750 मिलीग्राम पानी
180 ग्राम कच्चा पपीते के टुकड़ें
2 ग्रीन टी बैग

पपीते चाय बनाने की विधिPunjabKesari

पपीते की चाय बनाने के सबसे पहले हरा पपीते को छोट-छोटे टुकड़ों में काट लें। फिर इन टुकड़ो को धीमी आंच पर पकने के लिए रख दें। जब पानी में उबाले आने लगें तो इसको बंद कर दें। तकरीबन 10 मिनट के लिए इस पानी को ठंडा होने दें। पानी ठंडा हो जाए तो पपीते के टुकड़ों को अलग कर लें। अब इस पानी में ग्रीन टी बैग डालकर 3 मिनट के लिए एेसे ही रहने दें। जब चाय पीने का मन करे तो इस पपीते वाली चाय का सेवन करें। कुछ दिनों तक एेसा करने से गठिया की समस्या से राहत मिलेगी। 

पपीते की चाय पीने के फायदे

गठिया के दर्द से राहत मिलने के साथ ही इस चाय को पीने से शरीर के बाकि हिस्सों की सूजन भी कम होती है। ये चाय पाचन तंत्र को मजबूत रखने काम भी करती है। इसके अलावा यह चाय बॉडी को डिटॉक्स करने में भी सहायक