nav Pradesh logo

धर्म नगरी राजिम में फलफूल रहा गांजा कारोबार

Date : 10-Jul-18

News image
<

राजिम (नवप्रदेश) । राजिम धर्म नगरी के मुख्य चौक चौराहो में बिक रही अवैध गांजा युवाओं की जिंदगी तबाह कर रही है।  राजिम प्रयाग नगरी को अगर गांजा नगरी कहे तो ये कोई अतिशोयक्ति नहीं होगी। पेट्रोल पम्प के सामने बिक रहा है अवैध गांजा।  प्राथमिक शिक्षा लेने वाले राजिम नगर के बच्चे भी गांजे के कस लगाते देखे जा सकते है। गरीब तबके के बस्तियों में रहने वाले नैनिहाल भी गांजा के कस लगाते खुलेआम देखे जा रहे है उन पर प्रतिबंध तो लग पाना संभव नही है जिस बस्तु की बिक्री पर शासन ने रोंक लगा रखी है उसकी बिक्री भी प्रतिबंधित नही हो पा रही है। बताना लाजिमी होगा की  गांजे के पुडि़ए की बिक्री जो की धर्म नगरी राजिम में खुलेआम बेंची जा रही है ।सामाजिक मर्यादाओं के बंधन में बंधे होने के कारण ज्यादातर युवा गांजा का नशा करना शुरू कर दिये है। उससे बचने वाले युवा दवाईयों का सेवन करने लगे है.।  राजिम में बीते साल भर में  एक भी  गांजा बेचने वाले  पर प्रशासनिक चाबुक नही चलाई गई है । बता दें कि नगर में कई वर्षों से गांजा का अवैध कारोबार खुलेआम हो रहा है. गांव-गांव तक फैला यह व्यापार तेजी से लोगों के बीच नशा बांट रहा है. इस अवैध व्यापार को रोकने के लिए नारकोटिक्स एक्ट बनाया गया है लेकिन पुलिस व आबकारी विभाग गांजे की बिक्री पर अंकुश नहीं लगा पा रहा है. शहर से ग्रामीण अंचल तक फल-फूल रहे इस कारोबार से कई जिंदगिया नशे की जद में आ चुकी है। युवाओं में बढ़ती लत के चलते यह कारोबार खुलेआम चल रहा है. लेकिन इस पर अंकुश लगा पाने में पुलिस महकमा नाकाम साबित हो रही है। लेकिन इसके बाद भी बेखौफ करोबारी नशे के नाम पर मौत के सामान को खुले तौर से बांट रहे हैं। जब राजिम  जिला गरियाबन्द में पुलिसिया कार्रवाई की यह स्थिति है तो गांवों में क्या होगा इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। शहर हो या गांव अवैध गांजा हर जगह व्यापक पैमाने पर बिक्री हो रही है।. करोडों का कारोबार सुनने में ज्यादा भले लगे लेकिन यह हकीकत है कि नगर  में इस समय प्रति माह लगभग करोड़ों के गांजा का कारोबार हो रहा है।. नशा कारोबारियों की मानें तो प्रतिदिन लगभग लाखों का गांजा राजिम  धर्म नगरी में  बिक रहा है। इतनी बिक्री का एकमात्र कारण यह है कि यह कारोबार या तो पुलिस के संरक्षण में फल-फूल रहा है, या फिर पुलिस को इसकी जानकारी नहीं है। जहां मौका मिला चढ़ा लेते हैं अक्सर देखा जाता है कि नशे के आदि व्यक्ति राजिम। 

उड़ीसा से होती है तस्करी

गांजा कारोबारियों का माल चोरी-छिपे उड़ीसा से आती है. इसका कारण यह है कि गांजा का नशा करने वाले लोग सीलावटी गांजा की मांग ज्यादा करते है. गांजा की यह किस्म उड़ीसा  से आती है। लिहाजा कारोबारी इस गांजे की खेप छोटे वाहनों में तस्करी कर लाते हैं।

नशे की गिरफ्त में युवा

धर्म नगरी में कहीं भी चौक चौराहो में चिलम सुलगाने लगते है। चाहे वह सार्वजनिक स्थान हो या फि र खुला मैदान। इतना ही नहीं इस तरह का नशा करने वाले लोग सड़क के किनारे भी बैठकर चिलम चढ़ाने लगते हैं। जानकारी के अनुसार इस नशे को अधिकतर युवा एवं छोटे तबके के लोग कर रहे हैं। (Flie photo)

इस सम्बन्ध में  नवप्रदेश संवाददाता ने राजिम नगर के प्रभारी नगर निरीक्षक  रवि साहू से बात की तो उन्होने कहा की राजिम में अभी कोई भी अवैध काम नही हो रहा है।

रवि साहू, प्रभारी नगर निरीक्षक