nav Pradesh logo

 पत्नी को आत्मदाह के लिए उकसाने वाले पति को पांच साल की सजा

Last Modified Aat : 09-Jul-18

News image
News image
News image
<

  • शराब पीने के बाद करता था पत्नी को प्रताडि़त

रायपुर(नवप्रदेश)।  मंदिरहसौद थाना क्षेत्र के एक व्यक्ति  को न्यायालय ने पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने का दोषी ठहराते हुए पांच साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। पत्नी को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला सेरीखेड़ी गांव का है। महिला अपने पति के प्रताडऩा से तंग आकर खुद के उपर केरोसिन छिड़क कर आ लगा ली थी। अदालत से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी ललित यादव अपनी पत्नी कुमारी यादव और बच्चों सहित मंदिरहसौद थाने के ग्राम सेरीखेड़ी में रहता था। ललित शराब पीकर रोज अपनी पत्नी के साथ लड़ाई झगड़ा करता था और उसके  चरित्र पर शंका कर मारपीट करता था। पति की प्रताडऩा से परेशान होकर कुमारी ने 10 जून 2016 को 8 बजे घर के एक कमरे में अपने आपको बंद कर अपने ऊपर मिट्टी तेल छिड़ककर आग लगाकर आत्महत्या कर ली। आग से गंभीर रूप से झुलसी कुमारी को  तुरंत इलाज के लिए एक निजी  नर्सिंग होम लाया गया।  जहां से उसे आंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया। पांच दिन बाद महिला ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। कार्यपालिक दंडाधिकारी ने मृत्युपूर्व बयान दर्ज किया था, जिसके मुताबिक मंदिरहसौद पुलिस ने धारा 306 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तार किया। यह मामला सप्तम अपर सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार की अदालत में चला। अभियोजन की ओर अपर लोक अभियोजक गजेन्द्र सोनकर ने पैरवी करते हुए आरोपी को दोषी साबित करने में सफल रहे। इस केस में अदालत ने धारा 306 के तहत दोषी करार देते हुए आरोपी ललित यादव को पांच साल कारावास और एक हजार रुपए अर्थदंड से दंडित किया है।