nav Pradesh logo

गरीबी रेखा श्रेणी के परिवारों को 30 यूनिट घरेलू बिजली मुफ्त

Date : 09-Jul-18

News image
<

कोरबा (नवप्रदेश)।   छत्तीसगढ़ में एक ओर जहां प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत सभी गांवों का शत प्रतिशत विद्युतीकरण का काम तेजी से किया जा रहा है, वहीं गरीबी रेखा श्रेणी के परिवारों को घरेलू उपयोग के लिए 30 यूनिट बिजली प्रतिमाह बिना बिल के दी जा रही है।

 ग्राम स्वराज अभियान के तहत आज भारत सरकार के डिप्टी और अण्डर सेके्रटरी स्तर के अधिकारियों ने कटघोरा विकासखंड के आठ गांवों का दौरा किया और ग्रामीणों को शासकीय योजनाओं की जानकारी दी। भारत सरकार के डिप्टी सेके्रटरी श्री जैरोम मिंज ने धनरास, जेंजरा, धंवईपुर और मोहनपुर गांवों तथा अण्डर सेके्रटरी श्री ए.क.े मंडल ने झाबर, बतारी, देवगांव पहुंचकर ग्रामीणों से चर्चा की तथा शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की जमीनी हकीकत जानी। इस दौरान अधिकारियों ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 15 हितग्राहियों को नि:शुल्क गैस कनेक्शनों का वितरण किया। अधिकारियों ने सौभाग्य योजना के तहत गांवों की शत प्रतिशत विद्युतीकृत होने पर जेंजरा, धंवईपुर, झाबर, बतारी और देवगांव के सरपंचों को मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह की ओर से प्रशस्ति पत्र एवं शुभकामनाएं भी दीं। इस दौरान आठ गांवों में लगभग 530 एलईडी बल्बों का रियायती दरों पर वितरण भी किया गया।  अधिकारियों के पिछले दो दिनों के प्रवास से अलग आज ग्रामीणों ने विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित होने और प्राप्त सामग्रियों का लगातार पूरा उपयोग करने की बात पूरे उत्साह से बताई। अधिकारियों के प्रवास के दौरान झाबर गांव की प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से लाभान्वित हितग्राही श्रीमती सोनमति ने रसोई गैस के उपयोग को सरल, समय बचाने वाली और पूरे परिवार को खुशी देने वाली योजना बताया। श्रीमती सोनमति ने अधिकारियों को बताया कि अभी 20-25 दिन पहले ही उन्हें प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन मिला है। अब न धुंए की झंझट है, न ही लकड़ी की चिन्ता। श्रीमती सोनमति ने बताया अब मेंहमान भी घर पर आने पर तत्काल उन्हें चाय-नाश्ता और खाना बनाकर खिला देते हैं, जिससे उनके घर से मेंहमान खुश होकर विदा लेते हैं।

इस दौरान ग्राम स्वराज अभियान के नोडल अधिकारी सतीश प्रकाश सिंह, जिला खाद्य अधिकारी एच. मसीह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉं. पी.एस. सिसोदिया, कार्यपालन अभियंता विद्युत वितरण कंपनी रंजीत कुमार, लीड बैंक मैनेजर सुरेन्द्र साहा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत  कटघोरा सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।  झाबर गांव में ही श्रीमती निर्मला देवी साहू ने प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत अपना बीमा कराने की बात अधिकारियों को बताई। श्रीमती निर्मला ने इन योजनाओं का फायदा बताते हुए उपस्थित अन्य लोगों से भी इन दोनों बीमा योजनाओं के तहत अपना-अपना बीमा कराने की अपील की।  कटघोरा की जनपद अध्यक्ष श्रीमती लता कंवर ने उजाला योजना के तहत रियायती दर 60 रूपये में तीन साल की वारंटी वाले एलईडी बल्ब की खासियत लोगों को बताई। बतारी में उपस्थित जनपद अध्यक्ष ने लोगों को बताया कि एलईडी बल्ब की सफेद रोशनी आंखों के लिए नुकसान दायक नहीं है। कम बिजली खर्च में और लो वोल्टेज में भी एलईडी बल्ब भरपूर रोशनी देता है। उन्होंने उपस्थित सभी ग्रामीणों से अपने-अपने घरों में एलईडी बल्ब लगाने को कहा। बतारी की श्रीमती धनकुंवर बाई ने प्रधानमंत्री जनधन योजना और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत अपना बीमा कराने की जानकारी लोगों को दी और बताया कि बैंक में केवल फार्म भरकर ही संतुष्ट न हो जायें। उन्होंने बताया अपने खाते से जब तक 12 रूपये और 330 रूपये बीमा के लिए न कट जाये तब तक बीमा नहीं होता है। श्रीमती धनकुंवर ने बीमा कराने वाले सभी लोगों से अपने बैंक पासबुक में इंट्री कराकर प्रीमियम की राशि कटना सुनिश्चित करने की सलाह भी लोगों को दी।  अधिकारियों ने अपने प्रवास के दौरान दोनों अधिकारियों ने ग्रामीणों से मुलाकात कर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की प्राथमिकता वाली प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, सौभाग्य- प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना, उजाला योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना एवं मिशन इन्द्रधनुष के क्रियान्वयन पर संतुष्टि जताई। अधिकारियों ने प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत अधिक से अधिक लोगों का बीमा कराने के भी निर्देश उपस्थित अधिकारियों को दिए।

दो लाख रूपये का दुर्घटना बीमा 12 रूपये के प्रीमियम पर

    कोरबा जिला के विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारियों ने इस दौरान विभागीय योजनाओं की विस्तृत जानकारी उपस्थित ग्रामीणों को दी। अधिकारियों ने ग्रामीणों से प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत बीमा कराने की भी अपील की। दोनों अधिकारियों ने ग्रामीणों को बताया कि 12 रूपये सालाना पटाकर दो लाख रूपये का दुर्घटना बीमा करने वाली यह योजना पूरे विश्व में सबसे सस्ती बीमा योजना है। इस योजना के तहत बीमित व्यक्ति की दुर्घटनावश मृत्यु हो जाने पर उसके आश्रितों को दो लाख रूपये की क्षतिपूर्ति प्राप्त होती है। दुर्घटना में अंग-भंग हो जाने पर भी एक लाख रूपये की क्षतिपूर्ति मिलती है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना में 330 रूपये के सालाना प्रीमियम पर दो लाख रूपये का सामान्य एवं दुर्घटना बीमा होता है। जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत बीमित व्यक्ति की सामान्य मृत्यु या दुर्घटनावश मृत्यु होने पर दो लाख रूपये क्षतिपूर्ति का प्रावधान है। अधिकारियों ने कोरबा जिले में वाहन दुर्घटनाओं, वन्य प्राणियों के हमले आदि से भी मृत्यु होने पर इन दोनों बीमा योजनाओं का लाभ मृतकों के आश्रितों को मिलने की जानकारी ग्रामीणों को दी। क्रमांक 360/नागेश/फोटो क्र. 1 से 5 तक।