nav Pradesh logo

संपादकीय : क्या फिर पाला बदलेंगे नीतीश कुमार

Date : 05-Jul-18

News image
News image
News image
News image
<

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के सुप्रीमो नीतीश कुमार क्या फिर पाला बदलने जा रहे है? यह सवाल राष्ट्रीय राजनीति के गलियारे में बहस का मुद्दा बन गया है। गौरतलब है कि नीतीश कुमार हवा का रूख देखकर पाला बदलने में विश्वास करते है। पहले वे एनडीए के साथ थे लेकिन फिर राजद के साथ समझौता कर यूपीए में आ गए थे। किंतु शीघ्र ही उन्होंने राजद से नाता तोड़ लिया और भाजपा से हाथ मिलाकर एनडीए में शामिल हो गए थे। इस बीच जनता दल यूनाइटेड भी टूट गया और जदयू नेता शरद यादव अपने कुछ समर्थकों के साथ अलग हो गये। यही शरद यादव अब नीतीश कुमार प्रस्तावित महागठबंधन में शामिल होने का प्रखर विरोध कर रहे है। वहीं लालू के लाल तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव भी नीतीश कुमार की राह में रोड़ा बन रहे है। तेजस्वी यादव ने तो दो टूक शब्दों में कह दिया है कि महागठबंधन में नीतीश कुमार को शामिल नहीं होने दिया जाएगा। किंतु कांगे्रस के कुछ विधायक नीतीश कुमार की प्रशंसा के पूल बांध रहे है और उनके महागठबंधन में वापसी का समर्थन कर रहे है। उल्लेखनीय है कि नीतीश कुमार आगामी लोकसभा चुनाव में न सिर्फ बिहार में ज्यादा लोकसभा सीटें चाहते है बल्कि तीन अन्य राज्यों में भी वे लोकसभा की सीटों पर अपना दावा करने की रणनीति पर काम कर रहे है। इसी बात को लेकर भाजपा के साथ उनके मतभेद गहराने लगे है। इसके अलावा वे महागठबंधन से खुद को प्रधानमंत्री का चेहरा बनने की महत्वकांक्षा भी पाले हुए है। बहरहाल अभी चुनाव में समय है। यह देखना दिलचस्प होगा कि नीतीश कुमार की रणनीति आगे किस रूप में सामने आती है?