nav Pradesh logo

कुत्ते के काटने से एक कि मौत, परिवार से लेकर अंतिम संस्कार में शामिल लोगों को भी लग रहा रैबिज का इंजेक्शन

Date : 04-Jul-18

News image
News image
News image
<

कोरबा।  कोरबा शहर के मुड़पार में सुलभ शौचालय में केयर टेकर के रूप में काम करने वाले एक व्यक्ति को कुत्ते ने काट दिया। उसने रैबिज का इंजेक्शन नहीं लगवाया। लगभग 10 दिन बाद असर दिखना शुरू हुआ। वह व्यक्ति भी कुत्ते की माफिक हरकत करने लगा। तमाम उपायों के बावजूद उसे नहीं बचाया जा सका। इस दौरान जो भी व्यक्ति उसके संपर्क में आए, उन सभी को रैबिज का इंजेक्शन लगाया जा रहा है।घटना कोरबा के मुड़पार का है। रॉकी मिश्रा नामक व्यक्ति यहां के सुलभ शौचालय में केयर टेकर का काम करता था। उसे जब कुत्ते ने काटा, तो उसने गंभीरता से नहीं लिया। इंजेक्शन लगवाने की बजाय अपने काम में लगा रहा। 10 दिन बाद कुत्ते काटने का असर दिखने लगा। रॉकी भी कुत्ते की तरह हरकत करने लगा। उसे कोरबा के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से सिम्स बिलासपुर रिफर कर दिया गया। सिम्स में भी रॉकी को नहीं बचाया जा सका। उसने वहां दम तोड़ दिया। इधर, इस दौरान रॉकी के परिवार के अलावा जो भी उसके संपर्क में आया, उन सभी को रैबिज का इंजेक्शन लगाया जा रहा है। परिवार के सभी सदस्यों के अलावा जो लोग अंतिम संस्कार में गए थे, उन्हें भी इंजेक्शन लगाया गया है। यहां तक जिस एंबुलेंस में रॉकी को बिलासपुर रिफर किया गया, उस एंबुलेंस के कर्मचारियों को भी रैबिज का इंजेक्शन लगाया गया है।