nav Pradesh logo

किसानों के लिए सरकार का बड़ा फैसला, खरीफ फसलों का MSP बढ़ा

Date : 04-Jul-18

News image
News image
<
 नई दिल्ली।  2019 लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने किसानों को बड़ा तोहफा दे दिया है। खरीफ मार्केटिंग सीजन 2018-19 के लिए खरीफ फसलों के समर्थन मूल्य (एमएसपी) की घोषणा कर दी गई है जिसके तहत धान का समर्थन मूल्य 200 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ा दिया गया है। बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया है।


PunjabKesari

2018-19 में खरीफ की फसलों का MSP
इस बढ़ोतरी के बाद अब सामान्य धान का समर्थन मूल्य 1550 रुपए से बढ़कर 1750 रुपए और ए ग्रेड धान का समर्थन मूल्य 1590 रुपए से बढ़कर 1790 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है। इनके अलावा रागी के समर्थन मूल्य में 997 रुपए, उड़द के समर्थन मूल्य में 200 रुपए और सोयाबीन के समर्थन मूल्य में 349 रुपए, ज्वार की एमएसपी में 42 फीसदी, बाजरा में 36.8 फीसदी और मूंग में 25.1 फीसदी प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है। इस बढ़ोतरी के बाद अब रागी का समर्थन मूल्य बढ़कर 2897 रुपए, उड़द का समर्थन मूल्य 5600 रुपए और सोयाबीन का समर्थन मूल्य बढ़कर 3399 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है।

PunjabKesari

बजट में किया था ऐलान
बजट में सरकार ने कहा था कि एमएसपी उत्पादन लागत का कम से कम 1.5 गुना तय किया जाएगा। विशेषज्ञों का कहना है कि ज्यादा एमएसपी से धान का उत्पादन और बढ़ सकता है। वर्ष 2017-18 में यह 11.1 करोड़ टन के साथ सबसे उच्च स्तर पर पहुंच गया। एमएसपी की घोषणा सीजन शुरू होने से पहले होती है। पिछले साल 7 जून को इसका फैसला हुआ था। किसी फसल का उत्पादन ज्यादा होने पर उसका बिक्री मूल्य कम हो जाता है। 

PunjabKesari

ज्यादा गिरावट को रोकने के लिए सरकार मुख्य फसलों का एक न्यूनतम बिक्री मूल्य निर्धारित करती है जो उस सत्र वित्त वर्ष लिए लागू होता है। बाजार में अगर किसानों को फसलों का उचित भाव नहीं मिल पाता है तो तो सरकारी एजेंसियां घोषित किए गए एमएसपी पर उसे खरीद लेती हैं।

2017-18 में खरीफ की फसलों का एमएसपी

फसल एमएसपी(रुपए/क्विंटल)
धान 1,550
ज्वार 1,700
बाजरा/मक्का            1,425
तूअर 5,450
मूंग 5,575
उड़द 5,400
मूंगफली 4,450
सोयाबीन 3,050