nav Pradesh logo

आदिवासियों के बीच बाइक से पहुचे कलेक्टर लगाई पेड के नीचे चौपाल

Date : 04-Jul-18

News image
News image
News image
News image
<
  • अपने बीच कलेक्टर को देख गदगद हुऐ ग्रामीण

गरियाबंद।  सरकार के योजना को प्रत्येक व्यक्ति तक पहुँचे इस उद्देश्य के साथ कलेक्टर ने काम करना शुरू कर दिया है। इन्ही पहल के चलते घने जंगल और पहाड़ के बीच बीहड़ रास्ते  में मोटरसाइकिल से पहली बार कोई कलेक्टर गाहन्दर गांव पहुँचे थे। कलेक्टर श्याम धावड़े के साहस से आज हर कोई हतप्रभ रहे,बिहड़ के इस गांव में जिला प्रशासन के आला अफसरों के साथ कलेक्टर ने  कोऊहा पेंड के नीचे चौपाल लगाकर कमार एवं गोंड़ जाति के लोगो से उनके रहन-सहन के अलावा शासन के योजनाओं को लेकर चर्चा किया। घने जंगल और पहाड़ो में जंगली जानवरों के बीच जीवन यापन कर रहे इन आदिवासियों के जीवन मे नई उज्याला लाने जिले के कलेक्टर श्याम धावड़े ने आज जबरदस्त पहल करते हुए ग्रामीणों की मांग पर गांव को रोशन करने 15 दिनों में सौर ऊर्जा सोलर सेट से बिजली पहुचाने मौजूद क्रेडा विभाग के अफसर को निर्देश दिए। वहीँ गाँव की गालियों में सीसी रोड निर्माण की स्वीकृति  देते हुए सीईओ को कलेक्टर ने निर्देश दिया। गाहन्दर से चिंगारमार तक बिहड़ रास्ते मे सड़क बनाने खुद कलेक्टर ने मोटर सायकिल से 7 किमी तक दौरा किया। इस दौरान गाहन्दर तक पहुँचने सड़क बनाने सम्बंधित अधिकारी को सर्वे करने निर्देशित किया। ग्रामीणों ने वन अधिकार पट्टा नही मिलने की बात कहीं। जिस पर कलेक्टर ने गाहन्दर के लोगों को शासन के योजना का त्वरित लाभ देने अधिकारी को निर्देश दिया। इस दौरान कलेक्टर ने प्रधान मंत्री आवास योजना का भी गांव में घूमकर जायजा लिया। वहीँ ग्रामीणों से चर्चा करते हुए कलेक्टर ने छोटे बच्चों को शिक्षा से जोड़ने आश्रम छात्रावास में भेजने के लिए भी प्रेरित किया। जिस पर ग्रामीणों ने कहाकि गांव के कुछ बच्चें तोरेंगा और बारुका के आश्रम में अध्ययनरत है।