nav Pradesh logo

स्कूल तालाबंदी की खबर के बाद बीईओ के साथ पहुंची थी जनपद अध्यक्ष, निरीक्षण के दौरान जनपद अध्यक्ष और सरपंच में जमकर हुआ विवाद

Date : 04-Jul-18

News image
News image
News image
<

 

देवभोग। घुमरगुड़ा के मिडिल स्कूल में तालेबंदी की सूचना मिलने पर बीईओ प्रदीप शर्मा के साथ ही जनपद पंचायत अध्यक्ष नेहा ंिसंघल पहुंची थी.इसी दौरान मिडिल स्कूल में बीईओ द्वारा समझाईंश देने के बाद धरना समाप्त कर दिया गया.इसी दौरान बीईओ और जनपद अध्यक्ष प्राथमिक शाला के निरीक्षण में पहुंचे.इसी दौरान बीईओ शिक्षकों से बच्चों के अनुपस्थित रहने का कारण पूछ रहे थे,इसी दौरान जनपद अध्यक्ष नेहा सिंघल ने भी बच्चों के अनुपस्थित रहने का कारण पूछा,वहीं शिक्षकों को लिखित में देने को कहा,इस दौरान सामने बैठे सरपंच देवेन्द्र सिंह ठाकुर ने शिक्षकों के साथ ठीक से व्यवहार करने को कहा.वहीं देवेन्द्र सिंह ठाकुर का कहना था कि जनपद अध्यक्ष शिक्षकों को बीईओ के सामने दवाब डालकर लिखवाना चाह रही थी,जिसका विरोध करने पर वह भड़क उठीं.मामले में जनपद अध्यक्ष नेहा सिंघल का कहना था कि निरीक्षण के दौरान शिक्षकों के द्वारा बताया गया था कि सरपंच के द्वारा बच्चों को स्कूल से चले जाने को कहा गया था.वहीं सरपंच के पहुंचने के बाद शिक्षकों ने अपनी बात को बदलते हुए कह दिया कि बच्चे पालक और सरपंच के साथ चले गए.मामले में श्रीमती सिंघल का कहना है कि सरपंच ने उनके साथ दुव्यर्वहार किया है.उन्होंने सिर्फ जानकारी मांगी थी.

दोनों ने एक-दूसरे पर लगाए आरोप-प्रत्यारोप-: मामले में विवाद होने के बाद दोनों जनप्रतिनिधियों ने अपनी सफाई पेश की है.एक तरफ जहां जनपद अध्यक्ष का कहना है कि सरपंच के द्वारा कहा गया कि मेरे शिक्षक है,आप किस तरह इनसे बात कर रहे हो और लिखित में क्यों देंगे,वहीं सरपंच के साईन से इनका वेतन निकलता है,इस तरह की बात की गई और विवाद को बढ़ाया गया.वहीं सरपंच देवेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व में हमने नियमानुसार बीईओ कार्यालय को अवगत करवा दिया था कि पालकों और बालक द्वारा निर्णय लिया गया था कि धरना प्रदर्शन पर बैठेंगे.वहीं दोनों स्कूल के बच्चे धरने पर बैठे थे,वहीं बीईओ के आने के बाद उन्होंने लिखित रूप में दिया कि मांग दस दिन में पूरा हो जाएगा.इसके बाद पालक और स्कूली छात्र-छात्राओं ने धरना समाप्त कर दिया.वहीं जनपद अध्यक्ष द्वारा प्रधान-पाठक की कुर्सी में बैठकर तीनों शिक्षकों को खड़ा कर मामले में शिक्षकों के उपर दवाब बीईओ की मौजूदगी में बनाया जा रहा था.तब मैंने कहा कि जो भी कार्रवाई होगी विभागीय सक्षम अधिकारी के द्वारा की जाएगी.आपको अधिकार नहीं है कि आप शिक्षकों से बदसलूकी करो,श्री ठाकुर ने आरोप लगाया कि जनपद अध्यक्ष सिर्फ राजनीति करनी आई थी.

वर्जन-: मामले में तीनों शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है.वहीं नोटिस का जवाब तीन दिन के अंदर मांगा गया है.नोटिस का जवाब आने के बाद मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी.

प्रदीप शर्मा,बीईओ,देवभोग।