nav Pradesh logo

प्रधानमंत्री ने एक साक्षात्कार में कांग्रेस को बताया क्षेत्रीय दल

Last Modified Aat : 03-Jul-18

News image
News image
News image
News image
<

नयी दिल्ली (वार्ता) । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को एक क्षेत्रीय दल बताते हुए कहा है कि देश पर अकेले राज करने की बात करने वाली पार्टी आज सहयोगी दलों को जुटाने के लिये दर दर भटक रही है। श्री मोदी ने 'स्वराज्य पत्रिका को दिये साक्षात्कार में कांग्रेस पर तीखे प्रहार करते हुये कहा कि वह आज एक क्षेत्रीय दल बन कर रह गयी है तथा अपना अस्तित्व बचाने के लिये संघर्ष कर रही है। कांग्रेस सिर्फ पंजाब, मिजोरम और पुदुचेरी में सत्ता में है। दिल्ली, आंध्र प्रदेश और सिक्किम विधानसभा में उसका एक भी सदस्य नहीं है। उत्तर प्रदेश और बिहार में उसकी हालत क्या है सबको पता है। उसकी यह हालत देश की जनता ने की है जिसने उसकी मनमानी को अस्वीकार कर दिया है। विपक्ष को एकजुट करने के कांग्रेस के प्रयासों के संबंध में उन्होंने कहा कि देश की जनता भलीभांति जानती है कि गठबंधन राजनीति के बारे में कांग्रेस क्या सोचती है। उन्होंने 1998 में पंचमढ़ी में हुये कांग्रेस शिविर की याद दिलाते हुये कहा कि उस समय की उसकी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा था कि गठबंधन का दौर गुजरने वाला है और पार्टी ने देश में एक पार्टी के शासन की बात कही थी। वही कांग्रेस आज सहयोगियों को जुटाने के लिये दर दर भटक रही है। श्री मोदी ने कहा कि किसी गठबंधन को जोड़ कर रखने के लिये एक मजबूत दल की जरुरत होती है। वह दल कौन है। कांग्रेस तो आज एक क्षेत्रीय दल की तरह है। लोग यह अच्छी तरह जानते हैं कि कांग्रेस अपने सहयोगियों के साथ कैसे व्यवहार करती है। वह दूसरों के साथ विश्वासघात करती रही है चाहे वह चौधरी चरण सिंह रहे हों या एच डी देवेगौडा, चंद्रशेखर हों या वी पी सिंह। अपने निहित स्वार्थ के लिए कांग्रेस किसी की भी कुर्बानी कर सकती है।