nav Pradesh logo

पूर्व गृहमंत्री और भाजपा नेता ननकीराम कंवर ने लगाया आरोप, बोले कोरबा में चल रहा है....

Last Modified Aat : 03-Jul-18

News image
News image
News image
<

कोरबा (नवप्रदेश)। पूर्व गृहमंत्री और भाजपा नेता ननकीराम कंवर पेंशन के लिए लंबे समय से भटक रहीं वृद्ध महिलाओं को लेकर कलेक्टोरेट पहुंचे श्री कंवर ने कहा कि यहां अफसर राज चल रहा है। मुख्यमंत्री की भी नहीं सुन रहे। सरकार ने साफ  कहा है कि जहां बैंकिंग समस्या है, वहां के हितग्राहियों को प्रशासन रुपये विड्राल कर आवंटित करें। इसके बाद भी जिले के ज्यादातर ग्राम पंचायतों में पेंशनधारी भुगतान के लिए दफ्तरों का चक्कर काट रहे। ह्यभाजपा नेता श्री कंवर ने कहा है कि जिले के अधिकारी शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर गंभीर नहीं है। उन्होंने कहा है कि ऐसा लग रहा कि जिले के कलेक्टर व जिला पंचायत के सीईओ मुख्यमंत्री के निर्देशों को नहीं मानते। हितग्राहियों की समस्याएं कम होने का नाम नहीं ले रही। सरकारी दफ्तरों का चक्कर काटकर थक चुके हैं। श्री कंवर डोंगदरहा गांव की कुछ  वृद्धाओं को लेकर वे कलेक्टोरेट पहुंचे थे। इस गांव के 22 वृद्धाओं  को पिछले नौ माह से पेंशन नहीं मिली है। इसकी प्रमुख वजह हितग्राहियों का बैंक में खाता नहीं खुल पाना बताया जा रहा। श्री कंवर का कहना है कि कई ऐसे हितग्राही हैं जिनके मनरेगा, जनधन व पेंशन के लिए अलग-अलग बैंक के तीन खाते हैं। प्रशासन को भी नहीं मालूम कि किस खाते को लिंक किया गया है। अधिकारियों की लापरवाही व मनमानी की वजह से अव्यवस्था का आलम है। राज्य सरकार कल्याणकारी कई योजना चला रही है, पर अफसरों के इस रवैये से लोग परेशान हैं। पेंशनधारी वृद्ध हितग्राहियों के ज्यादातर बैंक खाते सीज हो जा रहे। न्यूनतम 500 रुपये बैलेंस का कायदा हितग्राहियों पर भारी पड़ रहा। आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं कि बैलेंस खाते में रखा जा सके और उधर बैंक प्रबंधन कम बैलेंस की वजह से खाता सीज कर देती है और इसके साथ ही योजना का लाभ मिलना बंद हो जाता है। श्री कंवर का कहना है कि प्रशासन बैंक प्रबंधन को इस संबंध में हिदायत दे, ताकि ऐसी नौबत न आए।