nav Pradesh logo

पार्षद और पटवारी के मनमानी के चलते सैकड़ों परिवार मुख्यमंत्री आवसीय पट्टा से वंचित

Last Modified Aat : 02-Jul-18

News image
News image
News image
<

गरियाबन्द (नवप्रदेश)। नगर पालिका परिषद गरियाबंद द्वारा विगत दिनों मुख्यमंत्री आवासीय पट्टा वितरण किया गया जिसमें वार्ड नंबर 4 के कुछ वार्ड वासियों को ही पट्टा वितरण किया गया जबकि 50 वर्षों से काबिज परिवार को  मुख्यमंत्री आवासीय पट्टा से वार्ड पार्षद एवं पटवारी की मनमानी के चलते  लगभग सौ परिवारों को पट्टा से वंचित हो गए है ऐसा आरोप वार्ड क्रमांक 4  गणेश चौक के मोहल्लेवासी लगा रहे है। आज वार्ड क्रमांक 4  गणेश चौक के मोहल्लेवासी बैठक कर जिला कलेक्टर को सोमवार रैली के रुप में कलेक्ट्रेट पहुंच कर ज्ञापन देने एवं वार्ड वासियों को मुख्यमंत्री आवासीय पट्टा का लाभ नहीं मिलने पर उग्र आंदोलन करने का निर्णय लिया गया। वहीं पट्टा वितरण के बाद लोगो के लोगोंमें आक्रोश की स्थिति देखी जा रही है एक ओर जहां नगर पालिका के कई पार्षद इस कार्यक्रम को लेकर नाराज दिखलाई पड़ रहे है वही दूसरी ओर नगर की जनता असन्तुष्ट दिखलाई पड़ रहे है ।ज्ञात हो कि नगर में पट्टा वितरण की जानकारी लोगो तक पहुचते ही लोगो मे अपने निवास का पट्टा पाने को लेकर काफी लालायित नजर आ रहे थे और लोगो को पट्टा वितरण कार्यक्रम का इंतजार नही हो रहा था और इस कार्यक्रम के होते ही लोगो के बीच असंतोष दुखलाई पडऩे लगा । ज्ञात हो कि नगर में हुए विकास यात्र में राज्य के मुखिया के द्वारा पट्टा वितरण किये जाने की घोषणा किया गया जिसमें नगर में निवासरत लोगो का सर्वे कार्य भी किया गया ,परन्तु इसमे यह भी शर्त रखा गया कि जो लोग तालाब कोनार कब्जा किये हुए है उन्हें पट्टा नही दिया जाना है ,परन्तु पट्टा वितरण कार्यक्रम में आये नागरिको के द्वारा बताया गया कि इस पट्टा वितरण में कई ऐसे लोग है जो तालाब किनारे कब्जा किये हुए है उन्हें पट्टा प्रदान किया गया है ,जबकि कई ऐसे लोग है जिनका जमीन निर्विवाद है उसके बाद भी उनका नाम सर्वे सूची में नही है और उनके द्वारा इस पट्टा वितरण कार्यक्रम में चर्चा के दौरान बताया गया कि उनका मकान वार्ड नंबर 4 में स्थापित है जिसका खसरा नंबर 864 / 1 है परन्तु उन्हें बंदोबस्त क्रमांक 384 में जोड़ दिया गया और उसी के चलते उनके मकर का सर्वे भी नही किया गया है ,ये शिकायत करते हुए वार्ड क्रमांक 4 के लोगो द्वारा आये प्रतिनिधियों को आवेदन दिया गया ।जानकारी के अनुसार नगरपालिका के पांच जनप्रतिनिधियो के द्वारा पट्टा दिए जाने वाले 751 लोगो को चिन्हांकित किया गया था इस बात से जनता नाताज तो थे ही वही पालिका के ही एक पार्षद द्वारा वाट्सअप और फेसबुक के माध्यम से दो दिनों पूर्व 1836 लोगो को पट्टा वितरण किये जाने का खबर फैलाया गया था जो शायद भीड़ बढ़ाने या वोट बैंक के लिए किया हो ,परन्तु मात्र 751 लोगो को पट्टा दिए जाने से नगर में भाजपा के खिलाफ लोगो का आक्रोश देखा जा रहा है ।इन सब बातों से आने वाले चुनाव में शायद बीजेपी के लिए नगर पालिका अध्यक्ष और पार्षदो के जीत की स्थिति बिगड़ भी सकती है ।

 वार्ड 4 के हेमंत तिरपुडे , विनोद नेताम , बबला तिवारी , हसन खान , उर्मिला जगत , कला बाई , हीरा बाई , मानकी बाई , सावित्री बाई ने बताया हमारे वार्ड पार्षद अपने कुछ करीबी लोगों को जो की कुछ वर्ष पहले तालाब के मेड पर अवैध कब्जा धारी को  मुख्यमंत्री आवासीय पट्टा दिलवाया गया है और जबकी 50 वर्षों से मोहल्ले में काबीज तालाब से लगभग सौ मीटर दूर परिवारों को पार्षद एवं पटवारी के मनमानी के चलते भुगतना पड रहा है।