nav Pradesh logo

फर्जी नक्सली बन कर संसदीय सचिव से की दो लाख की मांग

Date : 01-Jul-18

News image
News image
News image
News image
News image
News image
<

अख्तर मेनन

अमलीपदर (नवप्रदेश)। छत्तीसगढ़ शासन के संसदीय सचिव गोवर्धन मांझी को नक्सलियों के नाम पर आए पत्र में 2 लाख एवं एक मोबाइल स्क्रीन टच की मांग की गई थी जिस पर संसदीय सचिव ने उक्त घटना की जानकारी प्रदेश और पाटीँ के मुखिया  को देते हुए इसकी सूचना जिलाधीश एवं पुलिस अधीक्षक गरियाबंद ने एम आर आहिरे को दिया था जिसके आधार पर तत्काल कार्यवाही करते हुए संदेहियों की खोज खबर ली गई पत्र में राशि के मांग करते हुए कहा गया था कि आपको इससे पहले भी तीन बार पत्र दिया गया है आपने इस पत्र पर गंभीरता से नहीं लिए अगर आपने इस पत्र को गंभीर नहीं लिया तो इसका परिणाम भुगतना पड़ सकता है। धनौरा गांव के एक व्यक्ति विशेष के हाथों से उक्त पत्र को संसदीय सचिव गोवर्धन मांझी को भेज  गया उक्त व्यक्ति ने पत्र देने के बाद बतलाया कि उसके परिजनों को यह पत्र छोड़कर कोई चला गया है और इसे आप तक पहुंचाने के लिए कहा गया है साथ ही उस व्यक्ति को भी यह धमकी दिया गया था कि अगर वह पत्र को नहीं पहुंचाएगा तो उसके भी नुकसान उठाना पड़ सकता है पुलिस ने पत्र के मजनून को लाल सही को देखते हुए नक्सली लिडर ललिता जानी बताये जाने से इसकी गंभीरता का एहसास उन्होंने किया और तत्काल जांच प्रक्रिया तेज कर दिया गया उच्च स्तरीय घटना होने के कारण इस पर अधिक गंभीरता से इस पर ध्यान दिया गया जिस पर पुलिस अधीक्षक एम आर आहिरे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती नेहा पांडे के साथ एसडीओपी राहुल देव शर्मा ने स्वयं इस पूरे प्रकरण पर गंभीरता से लेते हुए राइटिंग मिलाने का प्रयास किया गया साथ ही संसदीय सचिव से भी उनके द्वारा यह पता लगाया गया कि कुछ लोगों पर क्या उन्हें शंका है जो इस तरह के वारदात कर सकते हैं जिस पर संसदीय सचिव ने भी अपनी ओर से कुछ शंकाएं जाहिर की थी और यह प्रक्रिया चलती रही इसी बीच में जिस महिला के समूह की मितानिन को  राशि देने की बात कही गई थी उस महिला से भी जब सघन पूछताछ पुलिस ने किया तो उसने बताया कि गांव की पीपल खूंटा के दुर्गा उर्फ तुलाराम महंती 30 वर्ष साकिन पीपल खूंटा दिरजो राम पिता श्री वर्णों राम मरकाम उम्र 27 वर्ष साकिन पीपल खूंटा थाना अमलीपदर ने लगातार उससे आकर पूछताछ करते रहे हैं कि कोई तुम्हें पैसा लाकर दिया है क्या इस जानकारी के साथ ही अमलीपदर पुलिस ने इन दोनों को धर दबोचा सघन पूछताछ करने पर इन दोनों ने अपना अपराध कबूल कर लिया विभिन्न जानकारी लेने पर यह भी बात सामने आई है इस प्रकरण में एक भूतपूर्व सरपंच का भी नाम सामने आया है जिस के संबंध में उसकी मिलीभगत की जांच की जा रही है अमलीपदर पुलिस ने इस लाल साही से लिखे पत्र राइटिंग मिलान कर रही है ।दोनों आरोपियों को पकड़ लिया है और  अपराध क्रमांक 39 / 18 धारा 386 -34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपियों को न्यायिक रिमांड पर भेजा जा रहा है।